Indian footballer is helping the poor affected by Kovid-19 epidemic | कोविड-19 महामारी से प्रभावित गरीबों की मदद में जुटे हैं भारतीय फुटबॉलर, जानें कौन क्या कर रहा
कोविड-19 महामारी से प्रभावित गरीबों की मदद में जुटे हैं भारतीय फुटबॉलर, जानें कौन क्या कर रहा

Highlightsभारतीय फुटबॉलर अपने अपने इलाकों में इन जरूरतमंदों को मदद मुहैया कराने में जुटे हैं।खिलाड़ियों ने वित्तीय मदद के अलावा शिविर लगाने और खाना जुटाने में अहम भूमिका निभायी है।

नई दिल्ली। कोविड-19 महामारी के कारण हुए लॉकडाउन से गरीबों को सबसे ज्यादा मुसीबतें उठानी पड़ रही हैं और भारतीय फुटबॉल टीम के खिलाड़ी अपने अपने इलाकों में इन जरूरतमंदों को मदद मुहैया कराने में जुटे हैं। इन खिलाड़ियों ने अपने इलाकों में वित्तीय मदद के अलावा शिविर लगाने और खाना जुटाने में अहम भूमिका निभायी है। वे इस महामारी से बचने के लिये सामाजिक दूरी के बारे में भी जागरूकता फैला रहे हैं।

भारतीय कप्तान सुनील छेत्री विश्व संस्था फीफा और एशियाई फुटबॉल परिसंघ के कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिये बने ‘ब्रेक द चेन’ जागरूकता अभियान से जुड़े हैं। डिफेंडर प्रीतम कोटल, मिडफील्डर प्रणय हलदर और डिफेंडर प्रबीर दास ने पश्चिम बंगाल में जरूरतमंदों की मदद के लिये करीब चार लाख रूपये इकट्ठे किये हैं।

प्रणय ने कहा, ‘‘बैरकपुर मंगल पांडे फुटबॉल कोचिंग शिविर में काफी सारे बच्चे हैं जो रोज कमाकर खाते हैं। अब हालात थोड़े मुश्किल हो गये हैं और मैं इस समय उनकी मदद करने की कोशिश में जुटा हूं। ’’ वहीं यह मिडफील्डर अपने इलाके में कुछ अनाथों की देखभाल भी कर रहा है, उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपने दोस्तों के साथ मिलकर स्टेशन पर रहने वालों और बाहर रहने वाले अन्य लोगों को बुनियादी चीजें बांट रहा हूं। ’’

इस महामारी से अब तक दुनिया भर में 34,000 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि सात लाख से ज्यादा लोग इसकी चपेट में हैं। कोटल ने कहा, ‘‘इस महामारी के बीच हम सभी को एकजुट होकर इससे लड़ने की जरूरत है। हमें मुख्यमंत्री द्वारा शुरू किये गये कोष में थोड़ा योगदान करने की कोशिश की है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमें घर पर रहने की जरूरत है और भगवान से प्रार्थना करनी चाहिए। उम्मीद है कि यह जल्द ही खत्म हो जायेगा।’’ प्रबीर दास राष्ट्रीय फुटबॉल टीम के लिये भी खेल चुके हैं। उन्होंने कहा, ‘‘कोविड-19 काफी फैल चुका है और हम अब इसे हल्के में नहीं ले सकते। इन हालात में इससे लड़ने के लिये सामाजिक दूरी बनानी होगी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘भारतीय होने के नाते, मेरी जिम्मेदारी है कि मैं सरकार का हाथ बटाऊं और मैंने ऐसा ही करने की कोशिश की।’’

स्वास्थ्य संबंधित संकट के दौरान गरीबों की मदद के लिये ‘प्लेयर्स फॉर ह्यूमैनिटी’ नाम का ग्रुप भी बनाया हुआ है जिसे मौजूदा और पूर्व खिलाड़ियों ने मिलकर गया है जिसमें मेहताब हुसैन, सैयद रहीम नबी, डेनसन देवदास, संदीप नंदी और देबब्रत रॉय मौजूद हैं। इसमें मौजूदा खिलाड़ियों में कोटल, हलदर, अरिंधम भट्टाचार्य, प्रबीर दास, सौविक चक्रवर्ती और देबजीत मजूमदार शामिल हैं। इन फुटबॉलरों ने पश्चिम बंगाल मुख्यमंत्री राहत कोष भी कुछ राशि का योगदान किया है।

Web Title: Indian footballer is helping the poor affected by Kovid-19 epidemic
फुटबॉल से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे