निलंबित फरार IPS मणिलाल पाटीदार पर एक लाख का इनाम घोषित, आठ माह से फरार, जानें क्या है मामला

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: June 4, 2021 08:47 PM2021-06-04T20:47:47+5:302021-06-04T20:50:12+5:30

क्रशर व्यवसायी इन्द्रकांत त्रिपाठी की आत्महत्या मामले में पिछले आठ माह से फरार चल रहे महोबा के निलंबित एसपी मणिलाल पाटीदार के ऊपर घोषित इनाम 50 हजार रुपये से बढ़ाकर अब शुक्रवार को एक लाख रुपये कर दिया है।

uttar pradesh mahoba suspended IPS Manilal Patidar one lakh reward announced eight months | निलंबित फरार IPS मणिलाल पाटीदार पर एक लाख का इनाम घोषित, आठ माह से फरार, जानें क्या है मामला

निलंबित पुलिस अधीक्षक पाटीदार मुकदमा दर्ज होने के बाद से ही फरार चल रहे हैं। 

Next
Highlightsक्रशर व्यवसायी इन्द्रकांत त्रिपाठी संदिग्ध परिस्थिति में गोली लगने से अपनी कार में घायल पाए गए थे।कानपुर के एक अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी थी।पाटीदार के खिलाफ पहले हत्या की कोशिश का मुकदमा दर्ज हुआ था।

महोबाः महोबा जिले में एक क्रशर व्यवसायी की संदिग्ध परिस्थिति में गोली लगने से मौत के मामले में फरार चल रहे भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के निलंबित पुलिस अधीक्षक (एसपी) मणिलाल पाटीदार पर घोषित इनाम 50 हजार रुपये से बढ़ाकर शुक्रवार को एक लाख रुपये कर दिया गया है।

महोबा जिले के अपर पुलिस अधीक्षक (एएसपी) राजेन्द्र कुमार गौतम ने बताया कि प्रयागराज रेंज के अपर पुलिस महानिदेशक (एडीजी) प्रेम प्रकाश ने महोबा के कबरई कस्बे के क्रशर व्यवसायी इन्द्रकांत त्रिपाठी की आत्महत्या मामले में पिछले आठ माह से फरार चल रहे महोबा के निलंबित पुलिस अधीक्षक (एसपी) मणिलाल पाटीदार के ऊपर घोषित इनाम 50 हजार रुपये से बढ़ाकर अब शुक्रवार को एक लाख रुपये कर दिया है।

उल्लेखनीय है कि सितंबर 2020 में महोबा में तत्कालीन पुलिस अधीक्षक मणिलाल पाटीदार के खिलाफ छह लाख रुपये की रिश्वत मांगे जाने संबंधी एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के कुछ घंटे बाद कबरई कस्बे के क्रशर व्यवसायी इन्द्रकांत त्रिपाठी संदिग्ध परिस्थिति में गोली लगने से अपनी कार में घायल पाए गए थे और बाद में कानपुर के एक अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी थी।

इस सिलसिले में पाटीदार के खिलाफ पहले हत्या की कोशिश का मुकदमा दर्ज हुआ था, लेकिन व्यवसायी की मौत के बाद यह हत्या की धारा-302 में बदल गया था। बाद में एसआईटी की जांच रिपोर्ट के आधार पर आत्महत्या के लिए बाध्य करने की धारा-306 आईपीसी भी जोड़ी गई थी। निलंबित पुलिस अधीक्षक पाटीदार मुकदमा दर्ज होने के बाद से ही फरार चल रहे हैं। 

Web Title: uttar pradesh mahoba suspended IPS Manilal Patidar one lakh reward announced eight months

क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे