UP Legislative Council chairman Ramesh Yadav son Abhijeet Yadav murder case, mother arrested | यूपी: विधान परिषद चेयरमैन के बेटे की संदिग्ध मौत, आरोपी मां की गिरफ्तारी के बाद हुए कई चौंकाने वाले खुलासे
यूपी: विधान परिषद चेयरमैन के बेटे की संदिग्ध मौत, आरोपी मां की गिरफ्तारी के बाद हुए कई चौंकाने वाले खुलासे

उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सभापति रमेश यादव के छोटे बेटे अभिजीत यादव के मौत के मामले में मां मीरा यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी मीरा यादव के साथ-साथ अभिजीत यादव के भाई अभिषेक यादव को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।घटना 21 अक्टूबर की है। अभिजीत यादव की मौत गला घोंटने की वजह से हुई है। अभिषेक के परिवार वाले इस स्वाभाविक मौत मानकर अंतिम संस्कार की तैयारी के लिए जा रहे थे। लेकिन पुलिस को पूरे मामले में शक हुआ और उन्होंने शव के पोस्टमार्टम कराया। 

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में चौंकाने वाले खुलासे 

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ कि अभिजीत यादव की मौत गला घोंटने की वजह से हुई है। जिसके बाद पुलिस पूरे मामले की जांच में अलग तरीके से जुट गई है। अभिजीत 22 साल का था। उसे घरवाले और दोस्त विवेक नाम से भी बुलाते थे। 


मौत के वक्त मां और भाई साथ में

अभिजीत यादव  का शव दारुल शफा के डी ब्लॉक स्थित कमरा नंबर 28 में पाया गया। जिस वक्त ये घटना हुई कमरे में मां और भाई दोनों मौजूद थे। परिवाल वालों के मुताबिक, रात में सोते वक्त अभिजीत के सीने में तेज दर्द हुआ था। इसके बाद वह चुपचाप सो गया था। सुबह जब घरवालों ने देखा तो वह जिंदा नहीं था। 



 

मां ने लगाया पति पर हत्या का आरोप 

गिरफ्तारी के बाद पूछताछ में आरोपी मां मीरा यादव ने हत्या का आरोप पति रमेश यादव पर लगाया है। उसका कहना है कि वह इस मामले में निर्दोष है। टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक पूछताछ में मीरा यादव ने बताया है कि अभिजीत पहले नशे की हालात में घर में आया था। उसके बाद मारपीट और हंगामा किया था। मीरा यादव के मुताबिक अभिजीत हमेशा ऐसा किया करता था। 

मौत वाले दिन मां के साथ मारपीट 

मीरा यादव के मुताबिक मौत वाले दिन नशे की हालत में अभिजीत ने उसको भी धक्का दिया था। जिसके बाद उसके सिर में गंभीर चोटें आई थी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना पर दुख जाहिर करते हुए मृतक की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की है। 


पहले मां ने दिए थे कुछ और ही बयान 

गिरफ्तारी के बाद और गिरफ्तारी के पहले मीरा यादव के बयान अलग-अलग थे। गिरफ्तारी के पहले मीरा यादव ने बताया था कि रात में सोते वक्त अभिजीत के सीने में तेज दर्द हुआ था। इसके बाद वह चुपचाप सो गया था। सुबह जब वह 7.30 मिनट पर उसके कमरे में गई तो वह मृत था।

एफआआईआर और पोस्टमार्टम  रिपोर्ट से मां कर रही थी इंकार 

पुलिस के मुताबिक आरोपी मां मीरा यादव इस मामले में केस दर्ज नहीं करवाना चाहती थी और ना ही ये चाहती थी कि पोस्टमार्टम हो। पुलिस ने आईपीसी की धारा 302(मर्डर) और 201 (सबूतों से छेड़छाड़) के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है। 


एसपी ईस्ट सर्वेश कुमार मिश्रा ने टाइम्स ऑफ इंडिया को को बताया, "परिवार ने हमें मौत के बारे में सूचित नहीं किया था। हमें 11:00 बजे एक मध्यस्थ द्वारा सूचित किया गया था। अभिजीत की गर्दन और सिर पर मामूली चोट के निशान थे। हमने सीसीटीवी के फूटेज निकाले हैं और जांच कर रहे हैं।" 

विधान परिषद के सभापति रमेश यादव ने की है दो शादियां

विधान परिषद के सभापति रमेश यादव ने दो शादियां की हैं पहली पत्नी प्रेमा देवी है जो फिलहाल यूपी के एटा जिले में रहती हैं। उनका बेटा आशीष यादव पूर्व में एटा सदर से विधायक भी रह चुका है। मीरा यादव दूसरी पत्नी हैं। जो लखनऊ के दारुल शफा स्थित बी ब्लाक के कमरा नंबर 137 में अपने दो बेटों अभिषेक यादव और छोटे बेटे अभिजीत यादव के साथ रहती हैं। जहां अभिजीत यादव को संदिग्ध अवस्था में मृत पाया गया है।  


Web Title: UP Legislative Council chairman Ramesh Yadav son Abhijeet Yadav murder case, mother arrested
क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे