Highlightsस्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय में पढ़ने वाली एलएलएम की छात्रा ने 24 अगस्त 2019 को एक वीडियो वायरल कर स्वामी चिन्मयानंद पर शारीरिक शोषण और कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद करने का आरोप लगाया।एसआईटी की 23 सितंबर 2019 को इलाहाबाद हाई कोर्ट के सामने पेशी है।

शाहजहांपुर यौन शोषण के आरोपों का सामना कर रहे गिरफ्तार पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद ने आखिरकार अपनी गलती स्वीकार कर ली है। उन्होंने जांच कर रही स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) के सामने कहा है कि वो अपने किये पर काफी शर्मिंदा हैं। यौन उत्पीड़न मामले में पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद को विशेष जांच दल की एक टीम ने शुक्रवार की सुबह उनके आवास से गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। 24 अगस्त को एक वीडियो के जरिए पीड़ित छात्रा ने स्वामी चिन्मयानंद पर रेप के आरोप लगाए थे। एसआईटी की 23 सितंबर 2019 को इलाहाबाद हाई कोर्ट के सामने पेशी है। उसे कोर्ट के सामने अब तक हुई जांच और कार्रवाई की रिपोर्ट पेश करनी है। जिसके बाद से यह मामला लाइम लाइट में है। तो आइन नजर डालते हैं रेप के आरोप से लेकर गिरफ्तारी तक के टाइमलाइन पर...। 

24 अगस्त 2019- जिस दिन पीड़िता ने वीडियो जारी कर रेप के आरोप लगाये

स्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय में पढ़ने वाली एलएलएम की छात्रा ने 24 अगस्त 2019 को एक वीडियो वायरल कर स्वामी चिन्मयानंद पर शारीरिक शोषण और कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद करने का आरोप लगाया। वीडियो वायरल होने के बाद छात्रा लापता हो गई थी।

25 अगस्त 2019- पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ दर्ज हुआ केस 

25 अगस्त को पीड़िता के पिता ने कोतवाली शाहजहांपुर में किडनैपिंग और जान से मारने की धाराओं में स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया था। जिसके बाद  स्वामी चिन्मयानंद के वकील ने पांच करोड़ रुपए रंगदारी मांगने का भी मुकदमा दर्ज करा दिया था।

30 अगस्त  2019- पीड़िता राजस्थान में बरामद हुई

मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने स्वत संज्ञान लिया। जिसके बाद लापता पीड़िता 30 अगस्त को अपने दोस्त के राजस्थान में मिली। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर पीड़िता को कोर्ट के समक्ष पेश किया गया। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर एसआईटी ने मामले की जांच शुरू की।

सितंबर के शुरुआती हफ्ते में वायरल हुआ स्वामी चिन्मयानंद का मालिश वीडियो 

सितंबर के शुरुआती हफ्ते में स्वामी चिन्मयानंद का एक मालिश वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। वीडियो में एक मोटा आदमी नग्न अवस्था में लड़की से मसाज करवा रहा था। वीडियो की सत्यता की पुष्टी अभी जांच टीम द्वारा नहीं की गई है। 

11 सितम्बर 2019- एसआईटी ने आरोप लगाने वाली छात्रा का कराया चिकित्सीय परीक्षण

11 सितम्बर को एसआईटी ने पीड़िता का चिकित्सीय परीक्षण कराया। विशेष जांच दल चिन्मयानंद पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली एलएलएम की छात्रा को कड़ी सुरक्षा के बीच मेडिकल कॉलेज लेकर पहुंचा था। मेडिकल कॉलेज की मुख्य चिकित्सा अधीक्षक अनीता धस्माना ने बताया कि डॉक्टरों के पैनल ने छात्रा का चिकित्सीय परीक्षण किया।

12 सितंबर 2019- एसआईटी ने चिन्मयानंद से की पूछताछ

12 सितंबर को एसआईटी ने चिन्मयानंद से पूछताछ की है। करीब सात घंटे तक कड़ी पूछताछ की गई थी और उनके शयन कक्ष को सील कर दिया।

15 सितंबर  2019- छात्रा के तीन दोस्तों और कॉलेज के कुछ कर्मचारियों से पूछताछ

15 सितंबर को उच्चतम न्यायालय के निर्देश पर गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) ने शाहजहांपुर में पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली विधि छात्रा के तीन दोस्तों और उसके कॉलेज के कुछ कर्मचारियों से पूछताछ की। सूत्रों के मुताबिक एसआईटी ने छात्रा के जिन मित्रों से पूछताछ की उनमें वह लड़का भी शामिल है जो राजस्थान में उसकी बरामदगी के वक्त उसके साथ था, इसके अलावा पिछले 24 अगस्त को छात्रा ने चिन्मयानंद पर परोक्ष आरोप वाला वीडियो शूट किया था।

16 सितंबर 2019- कथित पीड़िता का न्यायालय में दर्ज हुआ बया

16 सितंबर को विधि छात्रा का न्यायालय में बयान दर्ज किया गया और इसके बाद चिन्मयानंद की तबीयत देर शाम खासी बिगड़ गई। सूत्रों के अनुसार कथित पीड़िता को कड़ी सुरक्षा के बीच न्यायिक दंडाधिकारी (प्रथम) गीतिका सिंह के न्यायालय ले जाकर उसका बयान दर्ज कराया गया। छात्रा से मजिस्ट्रेट ने करीब 12 पेज में उसका बयान दर्ज किया है। उसने दिल्ली में जीरो क्रमांक पर दर्ज रिपोर्ट, उसके हॉस्पिटल के कमरे से चिप और चिन्मयानंद के मालिश वाले वीडियो शूट करने में इस्तेमाल चश्मे के चोरी होने तथा अन्य साक्ष्यों का जिक्र भी अपने बयान में किया है। उसी दिन चिन्मयानंद के वकील एवं प्रवक्ता ओम सिंह ने बताया कि पूर्व गृह राज्य मंत्री को कल रात से ही हल्का बुखार था और सोमवार शाम करीब 8:30 बजे उनकी तबीयत अचानक बिगड़ गई। उन्हें सीने में तेज दर्द हुआ और शुगर लेवल बहुत नीचे गिर गया। 

पीड़िता ने दी आत्महत्या की धमकी 

मजिस्ट्रेट के सामने अपना बयान दर्ज कराने के बाद स्वामी चिन्मयानंद पर रेप और यौन शोषण का आरोप लगाने पीड़िता ने जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग की थी। उसने कहा था कि अगर गिरफ्तारी नहीं हुई तो वह आत्महत्या कर लेगी। 

19 सितंबर 2019- चिन्मयानंद केजीएमयू से लखनऊ रेफर, लेकिन आयुर्वेद से इलाज कराने का हवाला देकर आश्रम लौटे

19 सितंबर को चिन्मयानंद को डॉक्टरों ने लखनऊ के केजीएमयू रेफर किया लेकिन वह अपना इलाज आयुर्वेद से कराने की बात कहकर मेडिकल कॉलेज से आश्रम लौट गए। चिन्मयानंद को स्वास्थ्य खराब होने के कारण शाहजहांपुर के मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। 

20 सितंबर 2019-  स्वामी चिन्मयानंद हुये गिरफ्तार 

यौन उत्पीड़न मामले में पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद को विशेष जांच दल की एक टीम ने शुक्रवार की सुबह उनके आवास से गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।


Web Title: swami chinmayanand arrested in shahjahanpur rape case, here is need to know about case
क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे