Police and farmers clash, case registered on 200, know what is the reason | पुलिस और किसानों में झड़प, 200 पर मामला दर्ज, जानिए क्या है कारण
किसान नेता सुखबीर खलीफा का कहना है कि किसान इस धरना प्रदर्शन को शांतिपूर्वक करना चाहते हैं।

Highlightsमौजूद पुलिसकर्मियों ने जब किसानों को रोकना चाहा तो दोनों पक्षों में धक्का-मुक्की हो गई। धरना में शामिल कुछ महिलाओं एवं किसानों ने प्राधिकरण के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पुलिस द्वारा लगाए गए बैरीकेड तोड़ दिए।

सेक्टर छह स्थित नोएडा प्राधिकरण कार्यालय पर किसानों के धरने के दौरान पुलिस एवं किसानों के बीच हुई झड़प के मामले में थाना सेक्टर 20 में 200 किसानों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

इस झड़प में आधा दर्जन पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। वहीं किसानों की तरफ से कुछ महिलाओं समेत कई किसानों को भी चोट आई। गौरतलब है कि अपनी विभिन्न मांगों को लेकर नोएडा के किसान 19 दिन से नोएडा प्राधिकरण के सेक्टर छह स्थित कार्यालय पर धरना दे रहे हैं। बृहस्पतिवार शाम को शांतिपूर्वक धरना प्रदर्शन चल रहा था।

इसी बीच धरना में शामिल कुछ महिलाओं एवं किसानों ने प्राधिकरण के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पुलिस द्वारा लगाए गए बैरीकेड तोड़ दिए तथा प्राधिकरण कार्यालय की तरफ बढ़ने लगे। वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने जब किसानों को रोकना चाहा तो दोनों पक्षों में धक्का-मुक्की हो गई।

इस धक्का-मुक्की में प्रदर्शन में शामिल कई महिलाओं को चोटें आई जबकि कई पुलिसकर्मी भी चोटिल हो गए। किसानों के उग्र प्रदर्शन में महिला थाने की प्रभारी निरीक्षक रश्मि चौधरी, कॉन्स्टेबल सुनीता, कॉन्स्टेबल संघमित्रा तथा थाना सेक्टर 20 में तैनात दरोगा अनूप दीक्षित सहित आधा दर्जन पुलिसकर्मियों को चोट आई। उन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।

पुलिस उपायुक्त संकल्प शर्मा ने बताया कि इस मामले में थाना सेक्टर 20 के प्रभारी निरीक्षक राजवीर सिंह ने थाना सेक्टर 20 में सुखबीर खलीफा, उदल यादव, राजू यादव, सुबोध यादव, सतबीर, राजेंद्र यादव, पिंटू, सोनू, संतराम, महेंद्र वकील, सुधीर कुमार, सुरेंद्र प्रधान, प्रेम सिंह चौहान, हरि सिंह सहित 200 किसानों के खिलाफ मारपीट करने और सरकारी कार्य में बाधा डालने तथा लोक शांति भंग करने की धारा के तहत मुकदमा दर्ज कराया है। किसान नेता सुखबीर खलीफा का कहना है कि किसान इस धरना प्रदर्शन को शांतिपूर्वक करना चाहते हैं।

नोएडा प्राधिकरण के अधिकारी किसानों की समस्याओं को हल नहीं कर रहे हैं जिसकी वजह से किसान भूखे- प्यासे धरने पर बैठे हैं। उनका कहना है कि किसानों का पुलिस से कोई विवाद नहीं है। पुलिस शांति व्यवस्था के लिए वहां पर तैनात है। उन्होंने किसानों से भी अपील की है कि वे पुलिस के अधिकारियों के साथ कोई दुर्व्यवहार ना करें, तथा शांति पूर्वक अपना धरना प्रदर्शन करें। खलीफा ने बताया कि शुक्रवार को इस मामले में वार्ता होनी तय हुई है। अगर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारी किसानों की बातों को मान लेते हैं तो धरना समाप्त कर दिया जाएगा।

Web Title: Police and farmers clash, case registered on 200, know what is the reason
क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे