जेवर दुकान से लूटे 14 करोड़ रुपए के आभूषण, प्रशासन से लगाई सुरक्षा की गुहार, कहा- हथियार लाइसेंस दो...

By एस पी सिन्हा | Published: January 22, 2022 07:28 PM2022-01-22T19:28:19+5:302022-01-22T19:29:07+5:30

व्यापारियों का कहना है कि पुलिस की सुरक्षा दमदार नहीं है. इसलिए सरकार हमें हथियार रखने का लाइसेंस जारी करे. पटना डीएम और एसएसपी से व्यवसाइ सुरक्षा की गारंटी मांग रहे हैं.

Patna Jewelry worth Rs 14 crore loot shop requested security give arms license bihar police cm nitish kumar | जेवर दुकान से लूटे 14 करोड़ रुपए के आभूषण, प्रशासन से लगाई सुरक्षा की गुहार, कहा- हथियार लाइसेंस दो...

लूट की खौफनाक वारदात से गुस्साए आभूषण व्यापारियों ने बाकरगंज में अपनी दुकानें बंद रखकर सरकार के खिलाफ आक्रोश प्रकट किया.

Next
Highlightsआभूषण दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद रखकर लूटकांड का विरोध जताया.व्यापारियों का कहना है कि वारदात के करीब 45 मिनट बाद पुलिस आई. वरीय पुलिस अधिकारीयों ने फोन तक नहीं उठाया.

पटनाः बिहार में सुशासन के दावों की धज्जियां उड़ाते हुए राजधानी पटना में बडे़ आभूषण बाजार बाकरगंज में हुई 14 करोड़ रुपए के आभूषणों की लूट के बाद से पटना खौफजदा है. इसके बाद व्यापारियों को अपने जान-माल की सुरक्षा की चिंता सताने लगी है.

 

 

ऐसे में आज व्यवसायी बड़ी तादाद में सड़क पर उतरे और विरोध में मार्च किया. दिनदहाड़े अंजाम दी जाने वाली इन लूट की वारदात को लेकर पटना के व्यवसाइयों में आक्रोश है. व्यापारियों का कहना है कि पुलिस की सुरक्षा दमदार नहीं है. इसलिए सरकार हमें हथियार रखने का लाइसेंस जारी करे. पटना डीएम और एसएसपी से व्यवसाइ सुरक्षा की गारंटी मांग रहे हैं.

आभूषण दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद रखकर लूटकांड का विरोध जताया. व्यापारियों का कहना है कि वारदात के करीब 45 मिनट बाद पुलिस आई. वहीं वरीय पुलिस अधिकारीयों ने फोन तक नहीं उठाया. व्यवसायियों ने पटना में पुलिस के इकबाल पर सवाल उठ गया है. लूट की खौफनाक वारदात से गुस्साए आभूषण व्यापारियों ने बाकरगंज में अपनी दुकानें बंद रखकर सरकार के खिलाफ आक्रोश प्रकट किया.

पाटलिपुत्र सर्राफा संघ के अध्यक्ष विनोद ने कहा कि बिहार का सबसे बड़ा आभूषण बाजार अपराधियों के निशाने पर है. आभूषण विक्रेताओं की ओर से सरकार को सबसे ज्यादा टैक्स भुगतान होता है. बावजूद इसके सरकार की ओर से आभूषण व्यापारियों को पुख्ता सुरक्षा नहीं मिल रही है. हिंदी भवन में जुटे व्यवसायी पटना जिला प्रशासन के सामने नाराजगी जता रहे हैं. 

व्यवसाइयों ने इस दौरान थाना प्रभारियों को निशाने पर लिया. उनका कहना है कि अगर स्थिति ऐसी ही रही तो वो सत्ता और शासन को चाभी सौंप देंगे और कारोबार बंद करेंगे. वहीं यह शिकायत की गई कि थाना लापरवाह रहता है और शिकायत के बाद भी ध्यान नहीं दिया जाता है. उन्होंने कहा कि असंख्य आभूषण की दुकानें हैं, जिससे सरकार को हर साल करोड़ों रुपए का राजस्व आता है, लेकिन इस बाजार में सरकारी स्तर पर लगाए गये सारे सीसीटीवी कैमरे बंद पडे़ हैं. न तो पुलिस की समयबद्ध गश्ती होती है और ना ही व्यापारियों की सुरक्षा के लिए कोई पुख्ता इंतजाम है.

उन्होंने कानून व्यवस्था की स्थिति पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि सरकार को चाहिए कि व्यापारियों को शस्त्र लाइसेंस जारी किया जाए ताकि आभूषण दुकानदार अपने स्तर से अपनी सुरक्षा सुनिश्चित करें. उन्होंने कहा कि आज तक पटना में ऐसे लूट की घटना नहीं हुई थी. बता दें कि पिछले तीन दिनों के अंदर दो बडी घटनाओं ने पटना में अपराधियों के बेखौफ होने का प्रमाण दिया है.

बुधवार को राजीव नगर इलाके में सरेआम बाजार में घुसकर अपराधियों ने व्यवसाई को गोली मारी. मामला रंगदारी से जुडा था. वहीं शुक्रवार को बाकरगंज में दिनदहाड़े स्वर्ण कारोबारी को लूटा गया. करोड़ों का माल लूटकर लूटेरे फरार हो गये. जबकि एक दबोचा गया. वहीं पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगा है.

Web Title: Patna Jewelry worth Rs 14 crore loot shop requested security give arms license bihar police cm nitish kumar

क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे