शराब पीने के बाद विवाद, उप मुखिया की हत्या के आरोपी को पीट-पीटकर मार डाला, भागने की कोशिश में ग्रामीणों ने दबोचा और...

By एस पी सिन्हा | Published: October 3, 2022 08:53 PM2022-10-03T20:53:19+5:302022-10-03T20:54:16+5:30

बिहारः अधिकारी ने बताया कि विवाद के दौरान गौरव कुमार उर्फ भटकुन ने पंकज कुमार सहनी (उपमुखिया) पर गोली चला जिससे उपमुखिया की मौके पर ही मौत हो गई।

Muzaffarpur wine deputy mukhiya accused kill beaten death attempt escape villagers caught and murder bihar police case | शराब पीने के बाद विवाद, उप मुखिया की हत्या के आरोपी को पीट-पीटकर मार डाला, भागने की कोशिश में ग्रामीणों ने दबोचा और...

सरैया अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी कुमार चंदन ने सोमवार को बताया कि पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

Next
Highlightsउपमुखिया की मौके पर ही मौत हो गई।ग्रामीणों ने उसे दबोच लिया और उसे पीट-पीटकर मार डाला। पुलिस को दोनों पक्षों में से किसी भी पक्ष से कोई शिकायत नहीं मिली है।

मुजफ्फरपुरः बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के पारू इलाके में रविवार रात एक उप मुखिया की हत्या के एक आरोपी व्यक्ति को कथित तौर पर पीट-पीटकर मार डाला गया। यह जानकारी पुलिस ने सोमवार को दी। यह घटना रविवार रात पारू इलाके में हुई। मृतकों की पहचान पंकज कुमार सहनी (उपमुखिया) और गौरव कुमार उर्फ भटकुन के रूप में हुई है।

 

इस बारे में एक स्थानीय पुलिस अधिकारी ने नाम गुप्त रखने की शर्त पर बताया कि यह घटना उस समय हुई जब सहनी और गौरव ने कथित तौर पर एकसाथ शराब पी। अधिकारी ने बताया कि कुछ देर बाद दोनों के बीच हुए विवाद के दौरान गौरव ने सहनी पर गोली चला जिससे उपमुखिया की मौके पर ही मौत हो गई।

उन्होंने बताया कि बाद में जब गौरव ने मौके से भागने की कोशिश की तो ग्रामीणों ने उसे दबोच लिया और उसे पीट-पीटकर मार डाला। सरैया अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी कुमार चंदन ने सोमवार को बताया कि पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। उन्होंने कहा, ‘‘हम घटना से जुड़े सभी पहलुओं की जांच कर रहे हैं। अभी तक कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है क्योंकि पुलिस को दोनों पक्षों में से किसी भी पक्ष से कोई शिकायत नहीं मिली है।

जमशेदपुर में गैंगस्टर की गोली मारकर हत्या

झारखंड के औद्योगिक नगर जमशेदपुर में दुर्गा पूजा पंडाल के पास बाइक सवार नकाबपोश बंदूकधारियों ने एक गैंगस्टर की गोली मारकर सोमवार को कथित तौर पर हत्या कर दी। पुलिस अधीक्षक (नगर) के विजय शंकर ने बताया कि 42 वर्षीय रंजीत सिंह करीब 15 दिन पहले ही जेल से बाहर आया था।

उन्होंने बताया कि सिंह टेल्को इलाके में स्थित पंडाल में था जबकि उसकी 12 वर्षीय बेटी पास ही खड़ी कार में बैठी थी। दो बाइकों पर आए नकाबपोश व्यक्तियों ने बच्ची से पहले उसके पिता के बारे में पूछा और उसे गाड़ी से बाहर निकालने की कोशिश की। जब बच्ची चिल्लाई तो सिंह कार के पास पहुंचा।

तभी व्यक्तियों ने उसपर गोलीबारी कर दी। इसके बाद उसे टाटा मेन अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उसे तीन गोलियां मारी गई थीं। उसकी बेटी सुरक्षित है। शंकर ने कहा, “ पूजा पंडाल में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था, लेकिन पुलिस के मौके पर पहुंचने से पहले ही बंदूकधारी अपनी बाइकों पर बैठकर भाग गए।

हम इलाके ‍में लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच कर रहे हैं।” उन्होंने कहा कि अपराधियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। रंजीत सिंह के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। वह अमरनाथ सिंह गिरोह का सदस्य था।

Web Title: Muzaffarpur wine deputy mukhiya accused kill beaten death attempt escape villagers caught and murder bihar police case

क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे