इंस्टेंट लोन ऐप को ट्राइ करने से पहले इसे जरूर पढ़ लें, लुटने से बच सकती है गाढ़ी कमाई

By आशीष कुमार पाण्डेय | Published: May 23, 2022 02:40 PM2022-05-23T14:40:21+5:302022-05-23T14:47:21+5:30

बेरोजगार, मजबूर और परेशान लोगों को ठगने के लिए, अपने जाल में फांसने के लिए और उनसे पैसे लूटने के लिए कई जालसाजों ने मोबाइल के जरिये इंस्टेंट लोन ऐप का ऐसा गोरखधंधा अपनाया है उनके जाल में फंसकर अब तक लाखों लोग लुट चुके हैं।

Must read this before trying instant loan app, hard earned money can be robbed | इंस्टेंट लोन ऐप को ट्राइ करने से पहले इसे जरूर पढ़ लें, लुटने से बच सकती है गाढ़ी कमाई

इंस्टेंट लोन ऐप को ट्राइ करने से पहले इसे जरूर पढ़ लें, लुटने से बच सकती है गाढ़ी कमाई

Next
Highlightsमजबूर लोगों से पैसे लूटने के लिए कई जालसाज मोबाइल इंस्टेंट लोन ऐप का गोरखधंधा चला रहे हैंमोबाइल एप के जरिए ठगी करने वाले ऐसे कई ऐप बाकायदा गूगल प्ले स्टोर पर भी मौजूद हैंऐप्स के जरिये लोन देकर वसूली एजेंट कुछ दिनों के बाद कस्टमर्स को धमकाना शुरू कर देते हैं

मुंबई: जिंदगी की तंगहाली से परेशान होकर लोग कर्ज लेने का फैसला करते हैं और कर्ज का यह मर्ज कोरोनाकाल में तो कुछ ज्यादा ही बढ़ गया था क्योंकि लंबे समय तक लगे लॉकडाउन के कारण लोगों के रोजमर्रा के रोजी-रोटी और रोजगार के साधन खत्म हो गये थे।

ऐसे ही मजबूर और परेशान लोगों को ठगने के लिए, अपने जाल में फांसने के लिए और उनसे पैसे लूटने के लिए कई जालसाजों ने मोबाइल के जरिये इंस्टेंट लोन ऐप का ऐसा गोरखधंधा अपनाया कि लोगों की जेब से कोरोड़ों रुपये लूट लिये और सरकार से लेकर आईबीआई तक हाथ पर हाथ धरे बैठी रही।

समाचार वेबसाइट मिड डे के मुताबिक मोबाइल एप के जरिए ठगी करने वाले ऐसे ऐप बाकायदा गूगल प्ले स्टोर पर भी मौजूद हैं, जिनके बारे में पूरी जानकारी न होने के कारण मासूम लोग इसके चक्कर में फंसकर लोन मिलने से ज्यादा पैसा इन्हें दे देते हैं।

एक बार इन ऐप्स के जरिये जिसने भी लोन ले लिया, उसके कुछ दिनों के बाद ऐप के वसूली एजेंट कस्टमर्स को धमकाना शुरू कर देते हैं। जी हां, गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद अलेक्जेंड्रिया, पापा मनी, वालेबी और लेमनकैश जैसे कुछ ऐसे ही ऐप हैं, जिनके बारे में इस तरह की शिकायतें सामने आ रही हैं।

ये ऐप्स इंस्टेंट लोन देने के लिए कस्टमर्स का आधार और पैन जैसे महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपने प्लेटफॉर्म पर अपलोड कराते हैं। इसके अलावा ये ऐप्स कस्टमर्स से उनके मोबाइल के कैमरा, लोकेशन और स्टोरेज, फोनबुक, गैलरी सहित तमाम अन्य फीचर्स का ऐक्सस मांगते हैं।

अगर कस्टमर्स उन्हें मोबाइल फोन में मौजूद इन तमाम फीचर्स की परमिशन देने से मना करते हैं तो वो उन्हें लोन देने से इनकार कर देते हैं। यही नहीं लोन लेने वालों को ऐप पर बाकायदा अपना पूरा बैंक डिटेल्स, एजुकेशन डेटा के साथ रोजगार की जानकारी और परिवार में मौजूद सदस्यों की मासिक आय जैसे विवरण को भी भरना होता है।

अब उससे भी खौफनाक बात जानिए कि ये ऐप्स लोन लेने वाले से यह भी जानकारी लेती हैं कि वो किराए के घर में रहता है या उसका अपना खुद का घर है और जब वो सारी डिटेल्स को भर देता है तो उसके ही मोबाइल से उसकी फोटो ली जाती है।

उसके बाद उसके हजारों के लोन का ऑफर देकर चंद रुपये उसके खाते में ट्रांसफर कर दिया जाता है। लोन देने के बाद ये ऐप्स असली खेल हफ्ते-दिन के बाद शुरू करती हैं। इनके एजेंट कस्टमर्स को फोन करके लोन का इंटरेस्ट मांगना शुरू कर देते हैं और साथ में धमकी भी देने लगते हैं

रिकवरी एजेंट लोन लेने वाले को धमकी देते हैं कि अगर उसने इंटरेस्ट के साथ पैसा समय पर नहीं चुकाया तो उसके दोस्तों और परिवार के सदस्यों के बीच उसकी मॉर्फ्ड अश्लील फोटो और वीडियो बनाकर सर्कुटेल करेंगे और उन्हें बदनाम कर देंगे।

रिकवरी एजेंट के ज्यादातर फोन कॉल वीओआईपी और व्हाट्सएप कॉल के जरिए होती हैं। जिससे की उसे लोन लेने वाला कस्टमर्स रिकॉर्ड भी नहीं कर सकता है। रिकवरी एजेंट अमूमन लोन देने के पांचवें दिन से लोन लेने वालों को परेशान करने लगते हैं।

ये ऐप्स कस्टमर्स को फांसने के लिए उसे मिलने वाली लोन क्रेडिट को बढ़ा-चढ़ा कर दिखाते हैं ताकि लोन लेने वाला उनकी जाल में फंस जाए। गूगल प्ले स्टोर से कभी भी इंस्टेंट लोन ऐप को डाउनलोड करने से पहले पूरी सावधानी बरते।

वैसे कोशिश करें कि इन ऐप्स के चक्कर में ही न फंसे और अगर ऐसा हो जाए तो फौरन अपने नजदीकी साइबर सेल में जाकर अपनी शिकायत दर्ज कराएं। 

Web Title: Must read this before trying instant loan app, hard earned money can be robbed

क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे