Mumbai migrant journalist arrested for misleading news case got bail | Mumbai migrant crisis: गुमराह करने वाली खबर के मामले में गिरफ्तार किए गए पत्रकार को जमानत मिली, 10 लोग हिरासत में
अदालत ने कुलकर्णी की न्यायिक हिरासत की पुलिस की मांग को खारिज कर दिया। (file photo)

Highlightsमराठी समाचार चैनल में पत्रकार राहुल कुलकर्णी को मुंबई पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार किया था। वकील सुबोध ने उनकी जमानत की अर्जी डाली और अदालत ने 15 हजार रुपये के मुचलके पर उन्हें जमानत दे दी। 

मुंबईः मुंबई की एक अदालत ने खबर में गलत जानकारी देने के आरोप में गिरफ्तार किये गए एक टीवी पत्रकार को बृहस्पतिवार को जमानत दे दी। वहीं इस मामले में गिरफ्तार 10 अन्य लोगों को 19 अप्रैल तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।

पत्रकार पर आरोप है कि उन्होंने अपनी खबर में कहा था कि सरकार प्रवासी कामगारों के लिये जन साधारण ट्रेन सेवा शुरू करने पर विचार कर रही है। आरोप है कि उनकी इस खबर के बाद बांद्रा में भीड़ जमा हो गई थी। मराठी समाचार चैनल के पत्रकार राहुल कुलकर्णी को मुंबई पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार किया था। प्रवासी कामगारों के मंगलवार को बड़ी संख्या में यहां बांद्रा में जमा होने की घटना के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया। कुलकर्णी को बृहस्पतिवार को बांद्रा में मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया, जहां पुलिस ने उन्हें हिरासत में सौंपने की मांग की।

बहरहाल, अदालत ने कुलकर्णी की न्यायिक हिरासत की पुलिस की मांग को खारिज कर दिया। इसके बाद उनके वकील सुबोध ने तत्काल उनकी जमानत की अर्जी पेश की और संक्षिप्त सुनवाई के बाद अदालत ने 15 हजार रुपये के मुचलके पर उन्हें जमानत दे दी। वहीं इस मामले में गिरफ्तार 10 अन्य लोगों को 19 अप्रैल तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। पुलिस ने कुलकर्णी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 269 और 505 तथा महामारी अधिनियम के प्रावधानों तहत मामला दर्ज किया है।

पुलिस के अनुसार कुलकर्णी ने कथित रूप से फर्जी खबर चलाई, जिसमें कहा गया कि रेलवे प्रवासी कामगारों को महाराष्ट्र से उनके गृह नगरों तक भेजने के लिये विशेष ट्रेनें चलाने जा रहा है। पुलिस ने कहा कि खबर देखने के बाद सैंकड़ों प्रवासी कामगार मंगलवार को बांद्रा स्टेशन पर जमा हो गए, जिन्हें बाद में वहां से हटा दिया गया। इस बीच, शिवसेना नेता संजय राउन ने कुलकर्णी को जमानत देने के अदालत के फैसले का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि बांद्रा में कामगारों के जमा होने के मामले में पत्रकार को गिरफ्तार किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है।

राउत ने एक समाचार चैनल से बात करते हुए कहा कि सरकार और मीडिया दोनों लोकतंत्र के महत्वपूर्ण स्तंभ हैं। राज्यसभा सदस्य राउत ने कहा, ''दोनों पक्षों को इस बात को लेकर सतर्क रहना चाहिये कि ऐसी घटना दोबारा न हो। पत्रकार राहुल कुलकर्णी को जमानत मिलने पर मुझे खुशी हुई।

पुलिस को उन आरोपों की सच्चाई का पता लगाना चाहिये जिनके तहत उन्हें गिरफ्तार किया गया।'' राउत शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' के कार्यकारी संपादक भी हैं। उन्होंने कहा कि मैं यह बातें एक नेता के तौर पर नहीं बल्कि पत्रकार की हैसियत से कह रहा हूं। उन्होंने कहा कि इस समस्या के लिये रेलवे भी जिम्मेदार है।

Web Title: Mumbai migrant journalist arrested for misleading news case got bail
क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे