I'm burnt, now people will not raped me: Hapur rape victim | जिंदगी और मौत से जूझ रही हापुड़ रेप पीड़िता बोली- मैं जल चुकी हूं, अब लोग मेरा रेप तो नहीं करेंगे!
जिंदगी और मौत से जूझ रही हापुड़ रेप पीड़िता बोली- मैं जल चुकी हूं, अब लोग मेरा रेप तो नहीं करेंगे!

Highlights75 से 80 प्रतिशत तक जल चुकी यूपी के हापुड़ की युवती दिल्ली के अस्पताल में भर्ती हैआरोप है कि उसके पिता ने उसको 10,000 रुपए के लिए बेच दिया था

करीब डेढ़ दर्जन लोगों की हवस का शिकार बनने के बाद एक दोस्त के घर पर खुद को खत्म करने की कोशिश में 75 से 80 प्रतिशत तक जल चुकी यूपी के हापुड़ की युवती दिल्ली के अस्पताल में भर्ती है और वह दर्द से कराह रही है. पूरा शरीर जल चुका है. चेहरे को छोड़ उसके के पूरे शरीर पर पट्टियां बंधी हुई हैं. वह कहती है, ''काश कि मैं मर जाती. कोई भी इस तरह के जख्मों को नहीं झेलना चाहता. लेकिन, अब जबकि मैं जल चुकी हूं, तो लोग कम से कम मेरा रेप तो नहीं करेंगे.

हापुड़ में दो अस्पताल में सही इलाज नहीं मिलने पर अब पीडि़ता को दिल्ली लाया गया है. उसकी हालत स्थिर, लेकिन चिंताजनक है. युवती की कहानी दिल दहला देने वाली है- आरोप है कि उसके पिता ने उसको 10,000 रुपए के लिए बेच दिया था, उसके बाद कई लोगों ने उनका रेप किया और यूपी पुलिस ने उसकी शिकायतों को लगातार नजरअंदाज किया. शिकायत के मुताबिक, मुरादाबाद में अपने दोस्त के किराए घर में पीडि़ता ने खुद को आग लगा ली थी. हापुड़ में दो अस्पताल बदलने के बाद, उसे आखिरकार दिल्ली लाया गया है.

14 साल की उम्र में हुई थी शादी, 20 लोगों ने किया रेप

वह बताती है, वर्ष 2009 में उसके पिता ने सिर्फ 14 साल की उम्र में उसकी शादी कर दी थी. उम्र में उससे कहीं बड़े पति ने कुछ ही महीनों बाद उसे छोड़ दिया था. इसके कुछ ही हफ्तों बाद, पिता ने उसे बेच दिया. दूसरा पति व्यवहार में राक्षस की तरह था. उसने बार-बार अपने दोस्तों से उसका रेप करवाया. 20 से ज्यादा पुरुषों ने उसके साथ जबरदस्ती संबंध बनाए. मधु सिरोही नामक एक महिला ने भी उसके साथ रेप करने में एक व्यक्ति की मदद की थी. इस दौरान विरोध करने पर एसिड फेंकने की धमकी भी दी गई थी.

पुलिस और पिता से कभी नहीं मिला न्याय

युवती ने पीड़ा के बावजूद बताया कि उसने न्याय पाने की बहुत कोशिश की, लेकिन कभी न्याय नहीं मिला. न तो उनके पिता और न ही पुलिस ने कोई मदद की. शिकायत दर्ज कराने पर उसके कहा गया कि जांच की जा रही है. अक्तूबर 2008 से अप्रैल, 2019 के बीच कोई एफआईआर दर्ज नहीं हुई. वह निराश हो गई और फिर उसने अपनी जिंदगी खत्म करने का फैसला कर लिया.

मुश्किल वक्त में दोस्त ने दिया साथ

अपने एक दोस्त की ओर इशारा करते हुए, युवती ने बताया कि मुश्किल के इस पूरे दौर में बस वही एक सहारा रहा. युवती के दोस्त का आरोप है कि इस सबके लिए उसका पिता ही जिम्मेदार है. युवती का मित्र उसके इस दर्द से उबरने का इंतजार कर रहा है और कानूनी तौर पर तलाक के बाद वह उससे शादी कर लेगा. हालांकि, एफआईआर में कहा गया है कि इन दोनों की पहले ही शादी हो चुकी है और 22 अप्रैल, 2019 को शादी रजिस्टर्ड भी हो चुकी है.


Web Title: I'm burnt, now people will not raped me: Hapur rape victim
क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे