Highlightsविकास दुबे का हाथ होने की खबर से नाराज उसकी मां ने कहा कि वह मर भी जाए तो उन्हें कोई गम नहीं है। विकास की मां सरला दुबे ने समाचार चैनलों से कहा, ''मार डालो उनको, जहां रहे मार डालो ।''

लखनऊ : कानपुर के गांव में मुठभेड़ के दौरान आठ पुलिसकर्मियों के मारे जाने की घटना में बेटे विकास दुबे का हाथ होने की खबर से नाराज उसकी मां ने कहा कि वह मर भी जाए तो उन्हें कोई गम नहीं है। विकास की मां सरला दुबे ने समाचार चैनलों से कहा, ''मार डालो उनको, जहां रहे मार डालो ।''

सरला दुबे ने बताया कि उसे कई बार समझाया, लेकिन उसने बात नहीं सुनी। अब वह :विकास: मर भी जाए तो उसका गम नहीं । इस बीच विकास के पिता राम कुमार दुबे ने शनिवार को संवाददाताओं से कहा, ''जिस समय अपराध हुआ, मुझे उसकी सूचना नहीं थी । मैंने दवाई खायी थी और अचेतन अवस्था में था । जब मैं अपने बारे में नहीं बोल सकता था तो दूसरे के बारे में कैसे बोलता ।''

विकास दुबे के पिता बोले- बेटा अपराधी होता तो अब तक एनकाउंटर कर देते


यह पूछने पर कि क्या उन्होंने अपने बेटे को अपराध करने से रोका था, दुबे ने कहा कि वह छात्र जीवन में ही इस जगह को छोड़कर चला गया था और मेरे साले के साथ रह रहा था । जब पूछा गया कि विकास के खिलाफ क्या कार्रवाई होनी चाहिए, दुबे ने कहा कि सरकार नियमों के तहत कार्रवाई करेगी । ''मैं क्या कर सकता हूं ? सरकार जो उचित समझेगी, कदम उठाएगी ।''  विकास दुबे के पिता कहते हैं कि उन्हें कोई जानकारी नहीं है। विकास दुबे के पिता ने कहा, 'हम जानते ही नहीं कि हमारे बेटे ने ऐसा अपराध किया। दुबे (बेटा) अपराधी होता तो अब तक एनकाउंटर कर दिया गया होता।'

विकास दुबे की सारी प्रॉपर्टी होगी सीज!

विकास दुबे के पिता
विकास दुबे के पिता

कुख्यात अपराधी विकास को पकड़ने के लिये पुलिस की 25 से अधिक टीम उत्तर प्रदेश और अन्य प्रदेशों में लगातार छापेमारी कर रही हैं लेकिन घटना के करीब 36 घंटे बाद भी वह पुलिस की पकड़ से बाहर है। वहीं दूसरी तरफ उसकी पूरी जायदाद जब्त करने की तैयारी भी जारी है। बताया जा रहा है कि विकास दुबे की सारी प्रॉपर्टी को अटैच करने की तैयारी चल रही है। शनिवार को कानपुर प्रशासन ने विकास दुबे के बिठुर स्थित आवास को गिराने का फैसला लिया, जिसके बाद उसी की जेसीबी मशीन से पूरा घर जमींदोज कर दिया गया।

जानें क्या है कानपुर शूटआउट का पूरा मामला?

गौरतलब है कि बृहस्पतिवार देर रात कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के गांव बिकरू निवासी कुख्यात अपराधी विकास दुबे को उसके गांव पकड़ने पहुंची पुलिस टीम पर हमला कर दिया गया था जिसमें एक क्षेत्राधिकारी, एक थानाध्यक्ष समेत आठ पुलिस कर्मी मारे गए थे। मुठभेड़ में पांच पुलिसकर्मी, एक होमगार्ड और एक आम नागरिक घायल है। पहली मुठभेड़ में अपराधी पुलिसकर्मियों के हथियार भी छीन ले गये, जिनमें एके-47 रायफल, एक इंसास रायफल, एक ग्लाक पिस्टल तथा दो नाइन एमएम पिस्टल शामिल हैं। इस मुठभेड़ के कुछ घंटे बाद हुई दूसरी पुलिस मुठभेड़ में पुलिस ने दो अपराधियों को मार गिराया था और उनके पास से लूटी गयी एक पिस्टल भी बरामद की थी।

 

Web Title: History sheeter Vikash dubey mother father reaction If he is criminal, he would encounter
क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे