Former Karnataka minister G Parameshwara's confidante commits suicide in Bengaluru | कर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री परमेश्वर के विश्वासपात्र ने मौत को लगाया गले, सुसाइड नोट में लिखा- आयकर के छापों से हूं परेशान
File Photo

Highlightsकर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर के विश्वासपात्र ने शनिवार को यहां कथित रूप से आत्महत्या कर ली। पुलिस ने यह जानकारी दी। आयकर विभाग के अधिकारियों ने कुछ दिन पहले पूर्व उपमुख्यमंत्री के आवास, कार्यालय और शिक्षा संस्थानों पर छापे मारे थे।

कर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर के विश्वासपात्र ने शनिवार को यहां कथित रूप से आत्महत्या कर ली। पुलिस ने यह जानकारी दी। आयकर विभाग के अधिकारियों ने कुछ दिन पहले पूर्व उपमुख्यमंत्री के आवास, कार्यालय और शिक्षा संस्थानों पर छापे मारे थे। पुलिस ने बताया कि सुबह भारतीय खेल प्राधिकरण के मैदान के निकट एक पेड़ से रमेश का शव लटकता हुआ पाया गया।

उन्होंने बताया कि रमेश रामनगर में मेल्लईहल्ली के रहने वाले थे। कांग्रेस सूत्रों के अनुसार रमेश ने एक टाइपिस्ट के रूप में कांग्रेस के साथ अपना कार्यकाल शुरू किया था और वह परमेश्वर के करीबी बन गये थे। सूत्रों ने दावा किया कि विभाग के अधिकारियों ने दो दिन पहले परमेश्वर के आवास, कार्यालय और सिद्धार्थ ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट्स में छापे मारे थे और रमेश से भी पूछताछ की थी।

इस बीच आयकर विभाग के अधिकारियों ने परमेश्वर को मंगलवार को उनके समक्ष पेश होने के लिए कहा है। रमेश का शव जहां लटका मिला है वहां से एक कथित सुसाइड नोट बरामद हुआ है जिसमें लिखा है, ‘‘मैं अपने घर में आयकर के छापों से परेशान हूं और अपने सम्मान की रक्षा के लिए मैंने आत्महत्या करने का फैसला किया है।’’

पुलिस ने बताया कि सुसाइड नोट में आईटी अधिकारियों से उसकी पत्नी और बच्चों को परेशान नहीं किये जाने की अपील की गई है। परमेश्वर ने कहा कि उन्होंने रमेश को साहसी बनने और स्थिति का निडरतापूर्वक सामना करने के लिए कहा था।

उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘‘पता नहीं उन्होंने क्यों आत्महत्या कर ली। आज सुबह भी मैंने उनसे बात की और उनसे निडर बने रहने को कहा था।’’ कांग्रेस की राज्य इकाई ने रमेश की आत्महत्या को पार्टी से उनके पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को दूर रखने के ‘‘लक्षित उत्पीड़न’’ का परिणाम बताया। कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश गुंडू राव ने कहा कि वह जानना चाहते है कि केवल कांग्रेस के नेताओं के खिलाफ ही छापे की कार्रवाई क्यों की जा रही है।

उन्होंने कहा, ‘‘क्या मकसद है? उनका एकमात्र एजेंडा उन लोगों को निशाना बनाना और परेशान करना है जो उनके (भाजपा) खिलाफ लिखते और बोलते हैं।’’ पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने आरोप लगाया कि पूछताछ के दौरान दो-तीन दिनों तक रमेश को प्रताड़ित किया गया। इस बीच आयकर विभाग के अधिकारियों ने परमेश्वर को उनके समक्ष पेश होने के लिए मंगलवार को बुलाया है।

परमेश्वर ने बताया कि आईटी अधिकारियों ने उन्हें मंगलवार को बुलाया है। उन्होंने यहां कहा, ‘‘इसलिए मैं मंगलवार को वहां जाऊंगा।’’ कांग्रेस नेता ने कहा कि आयकर विभाग के अधिकारियों ने उनसे कहा है कि कुछ छात्रों की शिकायतों के बाद छापे की कार्रवाई की गई थी।

उन्होंने कहा कि वह आयकर अधिकारियों के निष्कर्षों का जवाब तैयार कर रहे है। आयकर विभाग ने शुक्रवार को एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा था कि उसने कर्नाटक में नौ अक्टूबर को एक प्रमुख व्यवसाय समूह के परिसरों पर छापे मारे थे और यह समूह कई शैक्षणिक संस्थानों का संचालन करता है।


Web Title: Former Karnataka minister G Parameshwara's confidante commits suicide in Bengaluru
क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे