बीमा पॉलिसी बंद, लाभ दिलाने के बहाने 500 से ज्यादा लोगों से ठगी, कुल 9.15 लाख रुपये, 23 मोबाइल, नौ सिम कार्ड, 10 डेबिट कार्ड बरामद, 5 अरेस्ट

By भाषा | Published: September 26, 2022 09:50 PM2022-09-26T21:50:47+5:302022-09-26T21:53:05+5:30

आरोपियों की पहचान बिहार के मधुबनी जिला निवासी आकाश (25), तिलक नगर के रहने वाले अमित कुमार (32), नरेला निवासी राहुल कुमार (32), गुलाबी बाग के रहने वाले समीर (30) और वज़ीरपुर निवासी अखिलेश (25) के तौर पर हुई है।

Delhi Insurance policy closed cheated 500 people pretext getting benefits total Rs 9-15 lakh, 23 mobiles, nine SIM cards, 10 debit cards recovered 5 arrested | बीमा पॉलिसी बंद, लाभ दिलाने के बहाने 500 से ज्यादा लोगों से ठगी, कुल 9.15 लाख रुपये, 23 मोबाइल, नौ सिम कार्ड, 10 डेबिट कार्ड बरामद, 5 अरेस्ट

शिकायतकर्ता को 1,84,049 रुपये जमा करने होंगे अन्यथा जमा किए गए सभी पैसे जब्त कर लिए जाएंगे।

Next
Highlights शिकायतकर्ता ने कहा कि उनके पास 50 लाख रुपये की एक बीमा पॉलिसी है, जिसकी कुछ किस्तें बकाया हैं।कॉल आया और कॉलर ने बताया कि वह बीमा कंपनी से राहुल शर्मा बोल रहा है। शिकायतकर्ता को 1,84,049 रुपये जमा करने होंगे अन्यथा जमा किए गए सभी पैसे जब्त कर लिए जाएंगे।

नई दिल्लीः दिल्ली पुलिस ने बंद हो चुकी बीमा पॉलिसी के लाभ दिलाने के बहाने से 500 से ज्यादा लोगों से ठगी करने के आरोप में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने सोमवार को बताया कि आरोपियों की पहचान बिहार के मधुबनी जिला निवासी आकाश (25), तिलक नगर के रहने वाले अमित कुमार (32), नरेला निवासी राहुल कुमार (32), गुलाबी बाग के रहने वाले समीर (30) और वज़ीरपुर निवासी अखिलेश (25) के तौर पर हुई है।

उन्होंने कहा कि सरकारी अस्पताल में काम करने वाले एक शिकायतकर्ता ने कहा कि उनके पास 50 लाख रुपये की एक बीमा पॉलिसी है, जिसकी कुछ किस्तें बकाया हैं। पुलिस की एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि 2021 के अंत में, उन्हें एक कॉल आया, और कॉलर ने बताया कि वह बीमा कंपनी से राहुल शर्मा बोल रहा है।

उन्होंने कहा कि उनकी जीवन बीमा पॉलिसी की किस्तें बकाया हैं और शिकायतकर्ता को 1,84,049 रुपये जमा करने होंगे अन्यथा जमा किए गए सभी पैसे जब्त कर लिए जाएंगे। अधिकारी के मुताबिक, पीड़ित ने पैसे जमा करा दिए। बाद में आरोपियों ने उनसे एक लाख रुपये और मांगे।

इस पर शक होने पर शिकायतकर्ता ने बीमा कंपनी से पूछताछ की और पता चला कि राहुल शर्मा उनके यहां काम नहीं करता है और उन्होंने जो पैसे जमा कराए थे , वह तो कंपनी को मिले ही नहीं हैं। मध्य दिल्ली की पुलिस उपायुक्त श्वेता चौहान ने कहा कि जांच के दौरान ख्याला में छापेमारी की गई और अमित और राहुल को पकड़ लिया गया तथा उनके खुलासे पर अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया। उन्होंने कहा कि पूछताछ में पता चला कि आकाश पूरे गिरोह का मास्टरमाइंड है और वह विजय चौहान के साथ राजेंद्र प्लेस में फर्जी कॉल सेंटर चला रहा था।

डीसीपी के मुताबिक, वे सोशल मीडिया के जरिए बंद हो चुकी बीमा पॉलिसी के आंकड़े जुटाते थे तथा बीमा क्षेत्र से जुड़े कुछ लोग भी उनके साथ मिले थे। उन्होंने लोगों को ठगने के लिए फर्जी ई-मेल आईडी भी बनाई है। उसने अन्य आरोपियों की मदद से जाली दस्तावेजों के आधार पर अलग-अलग बैंक खाते खुलवाए।

पुलिस ने बताया कि आरोपी करीब तीन साल से कॉल सेंटर चला रहे हैं और एक ही तरीके से 500 से ज्यादा लोगों से ठगी कर चुके हैं। उन्होंने बताया कि उनके पास से कुल 9.15 लाख रुपये, 23 मोबाइल फोन, नौ सिम कार्ड, 10 डेबिट कार्ड बरामद हुए हैं।

Web Title: Delhi Insurance policy closed cheated 500 people pretext getting benefits total Rs 9-15 lakh, 23 mobiles, nine SIM cards, 10 debit cards recovered 5 arrested

क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे