चित्रदुर्गः ‘भेदभाव’ से खफा 17 वर्षीय लड़की ने जहर देकर पिता, मां, दादी और बहन को मारा, 19 साल का भाई बीमार पड़ा, जानें मामला

By सतीश कुमार सिंह | Published: October 19, 2021 04:09 PM2021-10-19T16:09:50+5:302021-10-19T16:10:55+5:30

कर्नाटक के चित्रदुर्ग जिले में ‘भेदभाव’ से खफा 17 वर्षीय एक लड़की ने परिवार के चार सदस्यों को कथित तौर पर जहर देकर मार डाला। पुलिस ने यह जानकारी दी।

Chitradurga 17-year old girl 'discrimination' poisoned father, mother, grandmother and sister death 19-year old brother fell ill Karnataka | चित्रदुर्गः ‘भेदभाव’ से खफा 17 वर्षीय लड़की ने जहर देकर पिता, मां, दादी और बहन को मारा, 19 साल का भाई बीमार पड़ा, जानें मामला

‘उसके साथ अच्छा व्यवहार नहीं हो रहा और उसके भाई-बहन को ज्यादा स्नेह दिया जा रहा है।’

Next
Highlightsइसामुद्रा गांव में लंबानिहट्टी में यह घटना जुलाई में हुई और अब मामला प्रकाश में आया है। सभी को उल्टियां आने लगी और उनमें से चार की मौत हो गई। किशोरी ने रात के भोजन में बहन द्वारा तैयार चावल और रसम खाया था।

चित्रदुर्गः कर्नाटक के चित्रदुर्ग जिले में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। पुलिस ने कहा कि 17 वर्षीय लड़की ने अपने और अपने भाई-बहनों के बीच दिखाए गए स्नेह में "भेदभाव" से परेशान होकर अपने परिवार के चार सदस्यों को कथित तौर पर जहर देकर मार डाला।

 

 

जिले के इसामुद्रा गांव में लंबानिहट्टी में यह घटना जुलाई में हुई और अब मामला प्रकाश में आया है। मृतकों में लड़की के पिता, मां, दादी और बहन है जबकि उसका 19 साल का भाई जहर से बीमार पड़ गया। पुलिस सूत्रों के अनुसार, 12 जुलाई को उन्होंने (परिवार) रात के भोजन में किशोरी द्वारा बनाए गए ‘रागी मुद्दे’ (रागी के गोले) खाये।

पुलिस के अनुसार इनमें कीटनाशक मिला हुआ था जिससे सभी को उल्टियां आने लगी और उनमें से चार की मौत हो गई। पुलिस सूत्रों ने बताया कि किशोरी ने रात के भोजन में बहन द्वारा तैयार चावल और रसम खाया था। खाद्य सामग्रियों और बर्तनों को जांच के लिए फोरेंसिक प्रयोगशाला भेजा गया था और जांच के बाद रागी के गोले में कीटनाशक मिले होने की पुष्टि हुई थी।

पुलिस ने बताया कि जांच के दौरान उन्हें पता चला कि आरोपी अपने ननिहाल में पली-बढ़ी थी और तीन साल पहले ही अपने माता-पिता के घर आई थी। उसकी शिकायत थी कि माता-पिता उसके और भाई-बहनों के बीच ‘भेदभाव’ करते हैं। वह इस बात को लेकर परेशान थी कि ‘उसके साथ अच्छा व्यवहार नहीं हो रहा और उसके भाई-बहन को ज्यादा स्नेह दिया जा रहा है।’

अधिकारियों ने बताया कि इस वजह से उसने जहर देने का फैसला किया। परिवार के सदस्यों को जहर देने की कोशिश वह पहले भी कर चुकी थी लेकिन उसमें वह सफल नहीं हो पाई। नाबालिग होने की वजह से आरोपी को लड़कियों के रिमांड होम भेज दिया गया। 

Web Title: Chitradurga 17-year old girl 'discrimination' poisoned father, mother, grandmother and sister death 19-year old brother fell ill Karnataka

क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे