Bulandshahr: UP Police issued warrants against Army personnel in case of death of Inspector Subodh Singh | बुलंदशहर: इंस्पेक्टर सुबोध सिंह को फौजी ने मारी थी गोली? जवान के खिलाफ अरेस्ट वॉरंट लेकर जम्मू पहुंची यूपी पुलिस
बुलंदशहर: इंस्पेक्टर सुबोध सिंह को फौजी ने मारी थी गोली? जवान के खिलाफ अरेस्ट वॉरंट लेकर जम्मू पहुंची यूपी पुलिस

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में हुई हिंसा के मामले में अब एक नया एंगल सामने आए है। यूपी पुलिस शुक्रवार को इंस्पेक्टर सुबोध सिंह के मौत के मामले में गिरफ्तारी वॉरंट जारी किया है। पुलिस ने उस फौजी पर आरोप लगाया गया है कि वह घटना के दौरान उस हिंसा में शामिल था। 

टाइम्स ऑफ़ इंडिया में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक मुतबिक जितेंद्र सिंह उर्फ जीतू जम्मू में पोस्टेड हैं। लेकिन यह भी बताया जा रहा है कि वह इंस्पेक्टर सुबोध की मौत से बाद ही फरार हैं।  वहीं, उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया 'हमने जीतू के खिलाफ वॉरंट जारी किया है और उसे यहां लाने के लिए एक टीम भेजी जा चुकी है।' खबरों कि मानें तो फौजी परिवारवालों ने भी इस बात की पुष्टि की है कि हिंसा वाले दिन जीतू बुलंदशहर में ही थी। वहीं, पुलिस और जीतू के परिवार दोनों ने बताया है कि जीतू हिंसा की शाम ही जम्मू और कश्मीर के लिए रवाना हो गया। 

पुलिस महानिरीक्षक (अपराध) एस के भगत ने बताया कि बुलंदशहर के स्याना में गत तीन दिसंबर को स्याना कोतवाली के इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या के मामले में चंद्र, रोहित, सोनू, नितिन और जितेंद्र नामक अभियुक्तों को शुक्रवार को  गिरफ्तार कर लिया गया। इस मामले में अब तक कुल 9 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

उन्होंने बताया कि आज गिरफ्तार किए गए अभियुक्तों में कोई भी नामजद मुलजिम नहीं था। इन सबकी पहचान घटना के वीडियो फुटेज और चश्मदीदों की गवाही के आधार पर की गई है। इन सभी से पूछताछ की जा रही है। भगत ने बताया कि मामले के अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें लगातार प्रयास कर रही हैं।

भगत ने इंस्पेक्टर हत्याकांड में जीतू फौजी नामक सेनाकर्मी की संलिप्तता के बारे में पूछे जाने पर बताया कि वह इंस्पेक्टर हत्याकांड मामले में नामजद अभियुक्त है। प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक वह जम्मू कश्मीर में तैनात है। पुलिस की एक टीम वहां गई है और उम्मीद है कि जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।उन्होंने बताया कि घटना में जीतू की क्या भूमिका थी यह विशेष जांच दल (एसआईटी) की तफ्तीश में पता चलेगा।

भगत ने बताया कि अपर पुलिस महानिदेशक (अभिसूचना) एसबी शिरोडकर द्वारा इस मामले में की गई जांच की गोपनीय रिपोर्ट आज सक्षम अधिकारी को भेज दी गई है। उन्होंने एक अन्य सवाल पर बताया एसआईटी की जांच रिपोर्ट में अभी कुछ समय लग सकता है क्योंकि वह वारदात के एक-एक पहलू पर गौर करके छानबीन कर रही है।

बता दें कि 3 दिसंबर को बुलंदशहर के स्याना इलाके के चिंगरावटी क्षेत्र में गोकशी के मामले को लेकर उग्र भीड़ की हिंसा में थाना कोतवाली में तैनात इंस्पेक्टर सुबोध सिंह तथा सुमित नामक एक अन्य युवक की मृत्यु हो गई थी। इस मामले में 27 नामजद लोगों तथा 50-60 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।


Web Title: Bulandshahr: UP Police issued warrants against Army personnel in case of death of Inspector Subodh Singh
क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे