आर्यन ड्रग्स केस में एनसीबी गवाह किरण गोसावी पुणे में पकड़ा गया, कई दिनों से था फरार

By विनीत कुमार | Published: October 28, 2021 08:04 AM2021-10-28T08:04:31+5:302021-10-28T08:33:11+5:30

आर्यन ड्रग्स केस: किरण गोसावी को पुणे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आर्यन ड्रग्स केस का गवाह गोसावी कई दिनों से छुपा हुआ था। हाल में उसके यूपी में होने की बात सामने आई थी।

Aryan Khan drug case ncb witness Kiran Gosavi detained in Pune | आर्यन ड्रग्स केस में एनसीबी गवाह किरण गोसावी पुणे में पकड़ा गया, कई दिनों से था फरार

किरण गोसावी और आर्यन खान (फोटो- ट्विटर)

Next
Highlightsपुणे पुलिस ने आर्यन केस के गवाह किरण गोसावी को बुधवार देर रात गिरफ्तार किया।गोसावी कई दिनों से छुपा हुआ था और उसके खिलाफ लुकआउॉ नोटिस भी जारी किया गया था।गोसावी ने हाल में यूपी में होने का दावा किया था और कहा था कि वह लखनऊ में सरेंडर करेगा।

पुणे: आर्यन खान ड्रग्स केस में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) का अहम और विवादित गवाह किरण गोसावी पकड़ा गया है। पुणे पुलिस ने उसे बुधवार रात गिरफ्तार किया। गोसावी को 2018 के एक धोखाधड़ी के मामले में पुणे पुलिस ने गिरफ्तार किया है। साल 2019 में पुणे पुलिस ने उसे 'वॉन्टेड' घोषित कर दिया था। वह तब से ही गायब था और पहली बार क्रूज ड्रग्स केस में सामने आया था।

गोसावी हालांकि आर्यन केस के  चर्चा में आने के बाद भी अचानक गायब हो गया था। करीब तीन दिन पहले उसने टीवी चैनलों को फोन पर बताया था कि वह उत्तर प्रदेश में है और लखनऊ पुलिस के सामने सरेंडर करने वाला है।


गोसावी ने दावा किया था कि उसे धमकी मिल रही है और उसकी जान को खतरा है, इसलिए वह छुपा हुआ है। किरण गोसावी वही शख्स है जिसकी आर्यन के साथ सेल्फी सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। इस मामले में वह एनसीबी का गवाह भी है। गोसावी के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी था।

गोसावी पेशे से एक प्राइवेट जासूस है। हाल में गोसावी के बॉडीगार्ड रहे प्रभाकर सैल ने आरोप लगाया था कि आर्यन की रिहाई के लिए 25 करोड़ की डील की बात की जा रही थी और इसमें से 8 करोड़ एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े को दिए जाने थे।

दरअसल एनसीबी के अनुसार इसी महीने की शुरुआत में गोवा जा रहे क्रूज पर छापे में किरण गोसावी भी छापेमारी टीम के साथ था। आर्यन खान और अन्य को पकड़े जाने के बाद मुंबई के एनसीबी कार्यालय लाया गया था। 

इस दौरान गोसावी भी एनसीबी ऑफिस में आर्यन के साथ मौजूद था। आर्यन की हिरासत के बीच गोसावी की उनके साथ ली गई सेल्फी वायरल हो गई थी। बाद में कई लोगों ने सवाल उठाए थे कि एक स्वतंत्र गवाह क्या इस तरह के हाई प्रोफाइल केस में इस तरह सेल्फी ले सकता है। 

गोसावी ने बॉ़डीगार्ड के आरोपों को बताया है झूठा

गोसावी ने हाल में कई टीवी चैनलों को फोन पर इंटरव्यू दिया था और प्रभाकर सैल की ओर से 25 करोड़ और फिर 18 करोड़ तक की डील संबंधी आरोपों को गलत बताया था। गोसावी ने कहा था कि वह समीर वानखेड़े को पहले से नहीं जानता था और पहली बार उनसे दो अक्टूब को मिला।

इन तमाम आरोपों के बीच महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर कई गंभीर आरोप लगा दिए हैं। उन्होंने ये भी दावा किया है कि क्रूज पर ड्रग्स की बरामदगी की एनसीबी की बात झूठी है।

मलिक ने ये भी कहा कि क्रूज पर एक इंटनेशनल ड्रग डिलर भी मौजूद था लेकिन उसे वानखेडे ने नहीं पकड़ा। नवाब मलिक ने वानखेड़े के बर्थ सर्टिफिकेट सहित उनकी पहली शादी से जुड़े सर्टिफिकेट भी जारी करते हुए धोखाधड़ी के आरोप लगाए हैं।

Web Title: Aryan Khan drug case ncb witness Kiran Gosavi detained in Pune

क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे