after Vikas Dubey’s killing, 2 held for helping gang members from Gwalior | विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद अब मददगारों पर मार, बदमाशों को शरण देने के आरोप में 2 लोग ग्वालियर से गिरफ्तार
एनकाउंटर साइट जहां मारा गया गैंगस्टर विकास दुबे (Gangster Vikas Dubey)

Highlightsयूपी STF ने दोनों को ग्वालियर के गोला का मंदिर और सागर ताल इलाके से गिरफ्तार किया था। यूपी STF ने ग्वालियर से गिरफ्तार किए दोनों लोगों को पहले 7 जुलाई को हिरासत में लिया फिर 10 जुलाई को गिरफ्तार कर लिया।

ग्वालियर उत्तर प्रदेश की कानपुर पुलिस ने कथित मुठभेड़ (Kanpur Encounter) में मारे गये कुख्यात अपराधी विकास दुबे (Vikas Dubey) गिरोह के लोगों को शरण देने के आरोप में मध्य प्रदेश के ग्वालियर से दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार विकास दुबे गिरोह के दो सदस्यों शशिकांत पांडे और शिवम दुबे को ग्वालियर में शरण देने के मामले में ओमप्रकाश पांडे और अनिल पांडे को उत्तर प्रदेश विशेष कार्य बल (STF) ने सात जुलाई को ग्वालियर से हिरासत में लिया था और कानपुर ले गई थी। बाद में दोनों को 10 जुलाई को गिरफ्तार कर लिया गया।

उन्होंने कहा कि इन दोनों को हिरासत में लेने में उत्तर प्रदेश पुलिस ने मध्य प्रदेश पुलिस से कोई सहयोग नहीं लिया। ग्वालियर रेंज के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक राजाबाबू सिंह ने शनिवार को बताया, ‘‘उत्तर प्रदेश के कुख्यात अपराधी विकास दुबे के गिरोह के दो लोगों को ग्वालियर में शरण देने के मामले में एसटीएफ कानपुर की एक टीम ने सात जुलाई को दो लोगों ओमप्रकाश पांडे और अनिल पांडे को गिरफ्तार किया और उन्हें अपने साथ कानपुर लेकर चली गई।’’

Gangster Vikas Dubey गिरफ्तार कर ले जाती उज्जैन पुलिस
Gangster Vikas Dubey गिरफ्तार कर ले जाती उज्जैन पुलिस

उन्होंने कहा कि इस मामले में उत्तर प्रदेश एसटीएफ लगातार जांच कर रही थी और मध्य प्रदेश पुलिस सहयोग भी कर रही थी। लेकिन इन दोनों को हिरासत में लेने की स्थानीय पुलिस को कोई जानकारी नहीं दी गई थी। सिंह ने बताया कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने दोनों को ग्वालियर के गोला का मंदिर और सागर ताल इलाके से गिरफ्तार किया था।

उन्होंने स्पष्ट किया कि उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने केवल इन दोनों को ही गिरफ्तार किया था। सिंह ने बताया कि इन दोनों को भादंवि की धारा 216 के तहत गिरफ्तार किया गया है, जिसमें किसी अपराधी को आश्रय देना अपराध है। हालांकि, उन्होंने मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश पुलिस के बीच किसी तरह के टकराव से इनकार किया है।

Gangster Vikas Dubey (File Photo)
Gangster Vikas Dubey (File Photo)

 गत दो-तीन जुलाई की मध्यरात्रि को दुबे को पकड़ने गए पुलिस दल पर उसके गुर्गों ने गोलीबारी कर आठ पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी। बाद में विकास दुबे गुरुवार (9 जुलाई) को मध्य प्रदेश के उज्जैन के महाकाल मंदिर परिसर में पकड़ा गया था और कानपुर ले जाते वक्त पुलिस के साथ कथित मुठभेड़ में वह मारा गया था। 

Web Title: after Vikas Dubey’s killing, 2 held for helping gang members from Gwalior
क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे