ramesh Powar appointed coach of Indian women's cricket team | रमेश पोवार फिर बने भारतीय महिला क्रिकेट टीम के हेड कोच, मिताली राज से विवाद के कारण ढाई साल पहले ही हुई थी छुट्टी
पूर्व स्पिनर रमेश पोवार। (फाइल फोटो)

Highlightsरमेश पोवार ने भारत के लिए दो टेस्ट और 31 एकदिवसीय खेले है। वह जुलाई 2018 से नवंबर 2018 तक महिला टीम के कोच रहे है।पोवार के लिए न्यूजीलैंड में होने वाले वनडे विश्व कप के लिए टीम को तैयार करने की चुनौती होगी।

पूर्व स्पिनर रमेश पोवार को गुरुवार को डब्ल्यू वी रमन की जगह भारतीय महिला क्रिकेट टीम का मुख्य कोच नियुक्त किया गया। पोवार इससे पहले भी टीम के साथ यह भूमिका निभा चुके है। उन्हें हालांकि 2018 टी20 विश्व कप के बाद सीनियर खिलाड़ी मिताली राज के साथ विवाद के बाद निलंबित कर दिया गया था।

बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) से जारी बयान में कहा गया, ‘‘ बीसीसीआई रमेश पोवार को भारतीय टीम (वरिष्ठ महिला) के प्रमुख कोच के रूप में नियुक्त करने की घोषणा करता है। बीसीसीआई ने इस पद के लिए विज्ञापन दिया था और 35 से अधिक आवेदन प्राप्त किए थे।’’इस पद के लिए पोवार और रमन के अलावा भारत के पूर्व विकेटकीपर अजय रात्रा और पूर्व मुख्य चयनकर्ता हेमलता काला सहित पांच महिला उम्मीदवार दौड़ में थे।

टीम का कोच नियुक्त होने के बाद पोवार ने ट्वीट किया, ‘‘ भारतीय क्रिकेट टीम को आगे ले जाने के लिए तैयार हूं। इस मौके के लिए सीएसी और बीसीसीआई का शुक्रिया।’’
मदन लाल ने कहा कि सीएसी ने टीम के लिए स्पष्ट दृष्टिकोण के कारण पोवार को चुना।लाल ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘ वह कुछ समय से कोच की भूमिका निभा रहे है। टीम के लिए उनके दृष्टिकोण ने हमें सबसे ज्यादा प्रभावित किया। उनके पास टीम के लिए एक स्पष्ट योजना है, जिससे वह इसे अगले स्तर पर ले जाना चाहते है। खेल के सभी पहलुओं पर उनकी पूरी स्पष्टता है। अब उन्हें अपनी बातों पर अमल करने की जरूरत है।’’

यह देखना होगा पवार मिताली के साथ किस तरह से सामांजस्य बैठाते है। मिताली ने पोवार पर हरमनप्रीत कौर की अगुवाई वाली टी20 टीम से इंग्लैंड के खिलाफ विश्व कप (2018) सेमीफाइनल से बाहर करने का आरोप लगाया था।मिताली ने बीसीसीआई को पत्र लिख कर पोवार पर आरोप लगाया था कि पोवार ने ‘ मेरे करियर को खत्म करने और मुझे अपमानित करने के लिए ऐसा किया है।’

पोवार ने पलट वार करते हुए कहा था, ‘‘ मिताली काफी नखरे दिखाती है और टीम में विवाद पैदा करती है।’’महिला टीम की जिम्मेदारी से मुक्त किये जाने के बाद पोवार ने खुद को एक कोच के रूप में साबित किया और इस साल की शुरुआत में विजय हजारे ट्राफी में बुरी तरह से विफल रहने वाली मुंबई की टीम को सैयद मुश्ताक अली टी 20 प्रतियोगिता का चैम्पियन बनने में अहम भूमिका निभाई।

उन्होंने राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में भी गेंदबाजी कोच के तौर पर अपनी भूमिका अदा की।मदन लाल से जब पोवार के खराब रिश्ते और टीम से हटाये जाने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘ हमने उनसे इसके बारे में पूछा था और उन्होंने कहा कि इसमें उसकी कोई गलती नहीं थी। वह सभी खिलाड़ियों के साथ काम करने को लेकर तैयार है।’’

उन्होंने बताया, ‘‘साक्षात्कार के लिए चुनी गयी चार महिला उम्मीदवारों के विचारों से मैं भी बहुत प्रभावित हुआ। यह दिखाता है कि उनकी नजर खेल पर है। इन सभी का भविष्य उज्ज्वल है।’’उनकी देख-रेख में टीम टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंची थी और उसी साल टीम ने लगातार 14 टी20 मैच जीते थे।

पूर्व भारतीय बल्लेबाज रमन की देख-रेख में टीम पिछले साल टी20 विश्व कप के फाइनल में पहुंची थी। इस साल मार्च में दक्षिण अफ्रीका की टीम के खिलाफ घरेलू मैदान पर एकदिवसीय और टी20 श्रृंखला गंवाना का उन्हें खामियाजा भुगतना पड़ा।

कोविड-19 महामारी के कारण पिछले 12 महीने में हालांकि यह टीम का पहला मुकाबला था। रमन से जिम्मेदारी से मुक्त किये जाने के बाद कहा, ‘‘ भारतीय महिला टीम के साथ पोवार को मेरी शुभकामनाएं। उम्मीद है लड़कियां (खिलाड़ी) अपकी देखरेख में नयी ऊंचाइयां हासिल करेंगी।’’
इससे पहले उनकी देखरेख में टीम इंग्लैंड का दौरा करेगी जहां उसे 16 जून से सात साल के बाद पहला टेस्ट मैच खेलना है।विश्व कप से पहले टीम को ऑस्ट्रेलिया का दौरा भी करना है।

Web Title: ramesh Powar appointed coach of Indian women's cricket team

क्रिकेट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे