Rudi Koertzen Dies: 400 मैचों में अंपायरिंग, कार दुर्घटना में पूर्व अंपायर रूडी कर्टजन का निधन, सहवाग और युवराज सिंह ने याद किया

Rudi Koertzen Dies: दक्षिण अफ्रीका के पूर्व अंतरराष्ट्रीय अंपायर रूडी कर्टजन 1990 के दशक से 2010 तक क्रिकेट दुनिया के सबसे सम्मानित अंपायरों में से एक माने जाते हैं।

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: August 9, 2022 06:23 PM2022-08-09T18:23:11+5:302022-08-09T18:24:23+5:30

South African Cricket Umpire Rudi Koertzen Dies Car Crash 400 match 1981 officiated first game 128 Tests, a record 250 ODIs and 19 T20Is see video | Rudi Koertzen Dies: 400 मैचों में अंपायरिंग, कार दुर्घटना में पूर्व अंपायर रूडी कर्टजन का निधन, सहवाग और युवराज सिंह ने याद किया

रूडी कर्टजन का मंगलवार को यहां के निकट रिवरडेल शहर में एक कार दुर्घटना में निधन हो गया। (file photo)

Next
Highlightsटक्कर में विश्व प्रसिद्ध क्रिकेट अंपायर रूडी कर्टजन और तीन अन्य लोगों की मौत हो गई। गोल्फ खेलने के बाद केप टाउन से घर ‘नेल्सन मंडेला बे’ लौट रहे थे।पूर्व अंपायर के बेटे जूनियर रूडी कर्टजन ने इस खबर की पुष्टि की।

Rudi Koertzen Dies: दक्षिण अफ्रीका के पूर्व अंतरराष्ट्रीय अंपायर रूडी कर्टजन का मंगलवार को यहां के निकट रिवरडेल शहर में एक कार दुर्घटना में निधन हो गया। यह जानकारी एक स्थानीय वेबसाइट ने दी। वह 73 साल के थे। उनके परिवार में पत्नी और चार बच्चे हैं। टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग और युवराज सिंह ने याद किया।

कर्टजन 1990 के दशक से 2010 तक क्रिकेट दुनिया के सबसे सम्मानित अंपायरों में से एक माने जाते हैं। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर करीब 400 मैचों में अंपायरिंग की है। ‘एलगोवा एफएम न्यूज’ की खबर के मुताबिक, ‘‘मंगलवार की सुबह रिवरडेल के पास आमने-सामने की टक्कर में विश्व प्रसिद्ध क्रिकेट अंपायर रूडी कर्टजन और तीन अन्य लोगों की मौत हो गई।

73 साल के कर्टजन सप्ताहांत गोल्फ खेलने के बाद केप टाउन से घर ‘नेल्सन मंडेला बे’ लौट रहे थे।’ इस पूर्व अंपायर के बेटे जूनियर रूडी कर्टजन ने इस खबर की पुष्टि की। उन्होंने बताया, ‘‘ वह कुछ दोस्तों के साथ गोल्फ प्रतियोगिता में भाग लेने गये थे। उन्हें सोमवार को लौटना था लेकिन उन्होंने फिर एक और दौर का मैच खेलने का फैसला किया।’’

कर्टजन 2002 में आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) के एलीट पैनल के अंपायर बने थे और आठ वर्षों तक इसका हिस्सा रहे। उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान 397 मैचों में मैदानी और तीसरे अंपायर की भूमिका निभाई। उन्होंने 128 टेस्ट, रिकॉर्ड 250 एकदिवसीय और 19 टी20 अंतरराष्ट्रीय में अंपायरिंग की है।

वह इस दौरान विवादों में भी घिरे। उन्होंने नियमों की गलत व्याख्या कर ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच 2007 में खेले गए क्रिकेट विश्व कप के फाइनल मैच को कम रोशनी में भी जारी रखा। आईसीसी ने इसके बाद उन्हें टी20 विश्व कप के पहले सत्र में अंपायर नहीं रखा था। इस विश्व कप को उनके देश में ही खेला गया था। 

Open in app