IPL Team Auction: लखनऊ और अहमदाबाद IPL की दो नई टीम, BCCI मालामाल, 12690 करोड़ की कमाई

IPL Team Auction: अहमदाबाद के पास मोटेरा के नरेंद्र मोदी स्टेडियम की क्षमता 100,000 से अधिक है जबकि लखनऊ के इकाना स्टेडियम की क्षमता लगभग 70,000 है।

By सतीश कुमार सिंह | Published: October 25, 2021 07:59 PM2021-10-25T19:59:33+5:302021-10-25T20:36:36+5:30

IPL Team Auction Lucknow, Ahmedabad two new teams inducted RPSG, CVC Capital win bids | IPL Team Auction: लखनऊ और अहमदाबाद IPL की दो नई टीम, BCCI मालामाल, 12690 करोड़ की कमाई

नयी टीमों के लिए आधार मूल्य 2000 करोड़ रुपये रखा गया था।

Next
Highlightsअरबपति संजीव गोयनका के आरपीएसजी समूह ने लखनऊ टीम को खरीद लिया है। गोयनका दो साल के लिए पुणे फ्रेंचाइजी राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स (आरपीएस) के मालिक रहे हैं।आईएसएल (इंडियन सुपर लीग) फ्रेंचाइजी एटीके मोहन बागान के मालिक भी हैं।

IPL Team Auction: आईपीएल 2022 में 8 नहीं 10 टीमें होंगी। आईपीएल की नयी टीमें की घोषणा हो गई है। संजीव गोयनका के स्वामित्व वाले आरपीएसजी ग्रुप ने 7090 करोड़ रुपये की बोली लगाकर लखनऊ फ्रेंचाइजी खरीदी है। निजी इक्विटी फर्म सीवीसी कैपिटल ने 5600 करोड़ रुपये से अधिक की बोली लगाकर दूसरी आईपीएल फ्रेंचाइजी खरीदी है।

 आरपीएसजी समूह और सीवीसी कैपिटल ने आईपीएल फ्रेंचाइजी के स्वामित्व अधिकार हासिल कर लिए हैं। कोलकाता के दिग्गज उद्योगपति संजीव गोयनका के आरपी-एसजी समूह ने सोमवार को इंडियन प्रीमियर लीग की लखनऊ फ्रेंचाइजी 7090 करोड़ रुपये में खरीदी जबकि अंतरराष्ट्रीय इक्विटी निवेश फर्म सीवीसी कैपिटल ने अहमदाबाद फ्रेंचाइजी 5600 करोड़ रुपये की बोली लगाकर अपने नाम की।

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को 2022 से आईपीएल में हिस्सा लेने वाली दो नई टीमों से 10 हजार करोड़ रुपये के आसपास मिलने की उम्मीद थी लेकिन उसे 12,690 करोड़ रुपये की कमाई हुई। गोयनका फ्रेंचाइजी खरीदने के प्रबल दावेदारों में शामिल हैं।

इससे पहले आईपीएल में दो साल 2016 और 2017 में राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स का स्वामित्व उनके पास था। दुबई में मौजूद बीसीसीआई के एक वरिष्ठ सूत्र ने पीटीआई को नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया, ‘‘हां, आरपीएसजी ने 7090 करोड़ रुपये की सर्वाधिक बोली लगाई जबकि सीवीसी ने 5600 करोड़ रुपये की दूसरी सबसे बड़ी बोली लगाई।

बीसीसीआई को इस करार से लगभग एक अरब 70 करोड़ डॉलर की कमाई होगी। ’’ फ्रेंचाइजी को खरीदने की दौड़ में पिछड़ने वाली बड़ी कंपनियों में गौतम अडानी का अडानी समूह शामिल है जिसने लगभग पांच हजार करोड़ रुपये की बोली लगाई थी।

मैनचेस्टर यूनाईटेड का स्वामित्व रखने वाले ग्लेजर और टोरेंट समूह की बोली भी शीर्ष दो बोली में शामिल नहीं रही। बाइस कंपनियों ने 10 लाख रुपये का निविदा दस्तावेज खरीदा था लेकिन नई टीमों का आधार मूल्य दो हजार करोड़ रुपये होने के कारण सिर्फ पांच या छह गंभीर दावेदार ही दौड़ में थे।

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की दो नयी टीमों की नीलामी प्रक्रिया शुरू होने के बाद प्रत्येक फ्रेंचाइजी से 7000 करोड़ रुपये से 10,000 करोड़ रुपये तक मिलने की उम्मीद थी। 22 कंपनियां हैं, जिन्होंने 10 लाख रुपये के निविदा (टेंडर) दस्तावेज लिए थे। नयी टीमों के लिए आधार मूल्य 2000 करोड़ रुपये रखा गया था।

इस नीलामी में बोली लगाने वाले किसी व्यक्ति या कंपनी के मामले में, उस विशेष इकाई का वार्षिक कारोबार न्यूनतम 3,000 करोड़ रुपये होना चाहिए और कॉन्सॉर्टियम के मामले में तीनों संस्थाओं में प्रत्येक का वार्षिक कारोबार 2,500 करोड़ रुपये होना चाहिए था। अरबपति संजीव गोयनका के आरपीएसजी समूह ने लखनऊ टीम को खरीद लिया है। 

आईपीएल प्रसारण अधिकार से लगभग पांच बिलियन डॉलर (36,000 करोड़ रुपये) मिलने का अनुमान है। गोयनका दो साल के लिए पुणे फ्रेंचाइजी राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स (आरपीएस) के मालिक रहे हैं और वह आईएसएल (इंडियन सुपर लीग) फ्रेंचाइजी एटीके मोहन बागान के मालिक भी हैं। अहमदाबाद के पास मोटेरा के नरेंद्र मोदी स्टेडियम की क्षमता 100,000 से अधिक है जबकि लखनऊ के इकाना स्टेडियम की क्षमता लगभग 70,000 है। 

Open in app