आईपीएल नीलामी 2023ः सभी 10 फ्रेंचाइजी को 15 नवंबर तक खिलाड़ियों की सूची देंगे, 95 करोड़ रुपये किए जाने की संभावना, पांच संभावित स्थलों को नीलामी की मेजबानी

IPL Auction 2023: आयोजन स्थल पर अंतिम फैसला हालांकि आईपीएल संचालन परिषद की बैठक में किया जाएगा, जो नए अध्यक्ष अरुण सिंह धूमल की अध्यक्षता में जल्द ही पहली बार बैठक करेगी।

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: October 26, 2022 02:58 PM2022-10-26T14:58:15+5:302022-10-26T15:00:36+5:30

IPL Auction 2023 All 10 franchises given list players November 15 Rs 95 crore, five possible venues host Istanbul Bengaluru New Delhi, Mumbai and Hyderabad  | आईपीएल नीलामी 2023ः सभी 10 फ्रेंचाइजी को 15 नवंबर तक खिलाड़ियों की सूची देंगे, 95 करोड़ रुपये किए जाने की संभावना, पांच संभावित स्थलों को नीलामी की मेजबानी

वेतन की सीमा को भी बढ़ाकर 90 करोड़ से 95 करोड़ रुपये किए जाने की संभावना है। (file photo)

Next
Highlightsपिछले साल के विपरीत इस साल छोटी नीलामी होगी।सभी 10 फ्रेंचाइजी को 15 नवंबर तक खिलाड़ियों की सूची सौंपने को कहा गया है।वेतन की सीमा को भी बढ़ाकर 90 करोड़ से 95 करोड़ रुपये किए जाने की संभावना है।

IPL Auction 2023: भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के अधिकारी के अनुसार इस्तांबुल उन पांच संभावित स्थलों में शामिल है जो इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की नीलामी की मेजबानी की दावेदारी में शामिल हैं। तुर्की की राजधानी और आम तौर पर नीलामी की मेजबानी करने वाले बेंगलुरु के अलावा नयी दिल्ली, मुंबई और हैदराबाद भी दावेदारों में शामिल हैं।

आयोजन स्थल पर अंतिम फैसला हालांकि आईपीएल संचालन परिषद की बैठक में किया जाएगा, जो नए अध्यक्ष अरुण सिंह धूमल की अध्यक्षता में जल्द ही पहली बार बैठक करेगी। बीसीसीआई के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘अब तक कोई अंतिम फैसला नहीं किया गया है लेकिन हम इस्तांबुल पर गौर कर रहे हैं।

कोविड महामारी शुरू होने के बाद से हम टीम और उनके अधिकारियों से सामान्य माहौल में नहीं मिले हैं और इस तरह हम ऐसा कर सकते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अंतिम फैसला हालांकि सभी हितधारकों से बातचीत के बाद किया जाएगा।’’ पिछले साल के विपरीत इस साल छोटी नीलामी होगी।

सभी 10 फ्रेंचाइजी को 15 नवंबर तक उन खिलाड़ियों की सूची सौंपने को कहा गया है जिन्हें वे अपने साथ बरकरार रखेंगी। साथ ही अगले साल के लिए वेतन की सीमा को भी बढ़ाकर 90 करोड़ से 95 करोड़ रुपये किए जाने की संभावना है। 

Open in app