IPL 2022: लखनऊ सुपर जाइंट्स के कप्तान राहुल और हुड्डा ने छोड़े कैच, सिर पड़ककर बैठ गए मेंटर गंभीर, देखें वीडियो 

IPL 2022: रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ आईपीएल एलिमिनेटर में मिली हार के बाद लखनऊ सुपर जाइंट्स के कप्तान के एल राहुल ने स्वीकार किया कि उनकी टीम को बीच के ओवरों में दो बड़े शॉट्स की जरूरत थी।

By सतीश कुमार सिंह | Published: May 26, 2022 03:02 PM2022-05-26T15:02:05+5:302022-05-26T15:05:40+5:30

IPL 2022 Lucknow Super Giants captain kl Rahul and deepak Hooda dropp catch see reaction mentor Gautam Gambhir video viral | IPL 2022: लखनऊ सुपर जाइंट्स के कप्तान राहुल और हुड्डा ने छोड़े कैच, सिर पड़ककर बैठ गए मेंटर गंभीर, देखें वीडियो 

रजत पाटीदार को जीवनदान मिले।

Next
Highlightsहर्षल के दो ओवरों ने हम पर दबाव बना दिया। उसने दो ओवर में आठ ही रन दिये।लचर क्षेत्ररक्षण ने टीम की राह और मुश्किल कर दी।दिनेश कार्तिक का कैच छोड़ा जब वह दोहरे अंक तक नहीं पहुंचा था।

IPL 2022: रजत पाटीदार के करियर के पहले शतक से रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) ने इंडियन प्रीमियर लीग के एलिमिनेटर में लखनऊ सुपर जाइंट्स को 14 रन से हराकर बाहर का रास्ता दिखा दिया। इस बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है।

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ आईपीएल एलिमिनेटर में मिली हार के बाद लखनऊ सुपर जाइंट्स के कप्तान के एल राहुल ने स्वीकार किया कि उनकी टीम को बीच के ओवरों में दो बड़े शॉट्स की जरूरत थी। राहुल ने कहा ,‘बीच के ओवरों में दो बड़े शॉट खेलने से मैच की तस्वीर बदल सकती थी। अब देखने पर ऐसा ही लगता है।’

लखनऊ सुपर जाइंट्स के कप्तान के एल राहुल और दीपक हुड्डा ने कैच टपका दिए। रजत पाटीदार का छोड़ा गया, जिन्होंने 54 गेंद में 12 चौकों और सात छक्कों से नाबाद 112 रन की पारी खेली। दिनेश कार्तिक का छोड़ा गया। हुड्डा ने आसान सा जीवनदान दिया।

कैच छूटने के बाद मेंटर गौतम गंभीर का रिएक्शन देखने लायक था। सर पकड़कर बैठ गए। वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। पावरप्ले के बाद सात ओवरों के दौरान राहुल एक ही चौका लगा सके जबकि वह इतने काबिल बल्लेबाज हैं कि दुनिया के किसी भी गेंदबाजी आक्रमण की बखिया उधेड़ सकते हैं।

हर्षल के दो ओवरों ने हम पर दबाव बना दिया। उसने दो ओवर में आठ ही रन दिये। उन्होंने यह भी कहा कि लचर क्षेत्ररक्षण ने टीम की राह और मुश्किल कर दी। उन्होंने कहा ,‘हमने कई आसान कैच टपकाये। मैंने दिनेश कार्तिक का कैच छोड़ा जब वह दोहरे अंक तक नहीं पहुंचा था। रजत पाटीदार को जीवनदान मिले। इसके बावजूद हमने अपनी ओर से पूरी कोशिश की और 208 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए दो बड़े शॉट से चूक गए।’

इस सत्र में उन्होंने दो शतक और चार अर्धशतक लगाये हैं लेकिन लक्ष्य का पीछा करते हुए बल्लेबाजी पर उन्हें मेहनत करनी होगी । लखनऊ की टीम लक्ष्य का पीछा करते हुए सात में से पांच मैच हारी है । राहुल ने कहा ,‘‘ हमने कुछ मैच जीते लेकिन लक्ष्य का पीछा करते हुए उतने कामयाब नहीं रहे। हमें यह सीखना होगा। मेरे लिये बाकी सत्र की तरह यह सत्र भी अच्छा सबक रहा।

एक टीम के रूप में यह काफी चुनौतीपूर्ण था और हमने बहुत कुछ सीखा ।’’ दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आगामी श्रृंखला में भारतीय टीम की कमान संभालने जा रहे राहुल ने 15 मैचों में 616 रन बनाये । उन्होंने कहा ,‘‘ यह बड़ा मैच था और बड़े मैच में आप अपना फॉर्म और पिछले 14 मैचों के रन भूल जाते हैं ।इसे नये मैच की तरह ही खेलकर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करते हैं। मैंने भी एलिमिनेटर में वही किया लेकिन मुझे बहुत कुछ सीखने को मिला ।’ उन्होंने कहा ,‘‘ ऐसा नहीं है कि हमने चौके छक्के लगाने की कोशिश नहीं की लेकिन बीच के ओवरों में उन्होंने शानदार गेंदबाजी की।

Open in app