IPL 2022: 10 फ्रेंचाइजी टीम, कितने खिलाड़ी कर सकते हैं रिटेन, हर के पर्स में होंगे 90 करोड़, जानिए और कुछ

IPL 2022: भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की दो नयी टीमों सहित सभी 10 फ्रेंचाइजी टीमों के लिये 90 करोड़ रुपये की वेतन सीमा तय की है।

By सतीश कुमार सिंह | Published: November 25, 2021 09:45 PM2021-11-25T21:45:29+5:302021-11-25T21:48:01+5:30

IPL 2022 auction purse swells INR 90 crore, 10 teams Lucknow and Ahmedabad retain up four players  | IPL 2022: 10 फ्रेंचाइजी टीम, कितने खिलाड़ी कर सकते हैं रिटेन, हर के पर्स में होंगे 90 करोड़, जानिए और कुछ

आईपीएल 2022 की नीलामी जनवरी 2022 में होने की संभावना है।

Next
Highlightsविदेशी कंपनियों ने भी दिलचस्पी दिखायी थी।90 करोड़ रुपये में से 24 करोड़ रुपये कम होना।एक खिलाड़ी को बनाये रखने पर 14 करोड़ रुपये खर्च करने होंगे।

IPL 2022: आईपीएल 2022 में 8 नहीं 10 टीमों के बीच मुकाबला होगा। नीलामी के लिए वेतन पर्स 90 करोड़ रुपये प्रति टीम निर्धारित किया गया है, जो आईपीएल 2021 की नीलामी पर्स 85 करोड़ रुपये से अधिक है। आठ पुरानी फ्रेंचाइजी में से प्रत्येक को चार खिलाड़ियों को बनाए रखने की अनुमति होगी।

दो नई फ्रेंचाइजी लखनऊ और अहमदाबाद को खिलाड़ी पूल से तीन-तीन खिलाड़ियों को हासिल करने की अनुमति दी जाएगी। आठ पुरानी फ्रेंचाइजी के लिए रिटेंशन विंडो 1 नवंबर से 30 नवंबर तक है, जबकि दो नए के लिए विंडो 1 दिसंबर से 25 दिसंबर तक है। आईपीएल 2022 की नीलामी जनवरी 2022 में होने की संभावना है।

14 करोड़ रुपये खर्च करने होंगे

चार खिलाड़ियों को रिटेन करने पर एक टीम के 42 करोड़ रुपये खर्च होंगे, जबकि तीन खिलाड़ियों को टीम में बनाये रखने पर उसके 33 करोड़ रुपये खर्च होंगे। दो खिलाड़ियों को बनाये रखने का मतलब होगा कि 90 करोड़ रुपये में से 24 करोड़ रुपये कम होना जबकि एक खिलाड़ी को बनाये रखने पर 14 करोड़ रुपये खर्च करने होंगे।

दिल्ली कैपिटल्स ने अधिकतम चार खिलाड़ियों में से ऋषभ पंत को अपने 'पहले खिलाड़ी' के रूप में बरकरार रखा तो उनके खाते से 16 करोड़ रुपये कट जाएंगे लेकिन वास्तव में जरूरी नहीं है कि पंत को इतनी ही धनराशि मिलेगी। यह इससे काफी कम हो सकती है। मैं सिर्फ एक उदाहरण दे रहा हूं।

दो भारतीय और दो विदेशी खिलाड़ी होंगे

चार खिलाड़ियों को रखने की दशा में तीन भारतीय और एक विदेशी या दो भारतीय और दो विदेशी खिलाड़ी होंगे। नयी फ्रेंचाइजी बाकी बचे खिलाड़ियों में से दो भारतीयों और एक विदेशी खिलाड़ी को अपनी टीम में रख सकती है। पत्र में कहा गया है कि नवंबर में आठ पुरानी फ्रेंचाइजी टीमों को खिलाड़ियों को रिटेन करने का मौका दिया जा सकता है जबकि एक से 25 दिसंबर तक लखनऊ और अहमदाबाद के पास तीन खिलाड़ियों को चुनने का अवसर होगा।

फ्रेंचाइजी 48 करोड़ रुपये के साथ नीलामी में उतरेगी

नीलामी जनवरी के शुरू में होगी। यदि कोई टीम चार खिलाड़ियों को रखती है तो पहले खिलाड़ी की कीमत 16 करोड़, दूसरे खिलाड़ी की 12 करोड़, तीसरे खिलाड़ी की आठ करोड़ और चौथे खिलाड़ी की छह करोड़ रुपये होगी। इस तरह से 42 करोड़ रुपये कट जाएंगे और फ्रेंचाइजी 48 करोड़ रुपये के साथ नीलामी में उतरेगी।

तीन खिलाड़ियों को रखने पर यह राशि पहले से तीसरे खिलाड़ी तक क्रमश: 15 करोड़, 11 करोड़ और सात करोड़ रुपये, दो खिलाड़ियों को रखने पर 14 और 10 करोड़ रुपये और एक खिलाड़ी को रखने पर 14 करोड़ रुपये होगी। यदि ऐसे खिलाड़ी को रिटेन किया जाता है जिसने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेली तो केवल चार करोड़ रुपये काटे जाएंगे।

आईपीएल टीम को ‘ऑफ सीजन’ में विदेशों में खेलने की अनुमति दे बीसीसीआई : वाडिया

पंजाब किंग्स के सह मालिक नेस वाडिया का मानना है कि अब समय आ गया है जबकि भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) आईपीएल (इंडियन प्रीमियर लीग) टीम को ‘ऑफ सीजन’ (जब टूर्नामेंट न चल रहा हो) में विदेशों में प्रदर्शनी मैच खेलने की अनुमति दे क्योंकि इससे इस ब्रांड को ही मजबूती मिलेगी। पिछले महीने दो टीम के लिये बोली लगाने के दौरान आईपीएल वैश्विक ब्रांड के रूप में उभरकर सामने आया। इन टीम की बोली 1.5 अरब डॉलर में लगी और इसमें विदेशी कंपनियों ने भी दिलचस्पी दिखायी थी।

वाडिया ने कहा, ‘‘ बीसीसीआई को ऑफ सीजन में उन स्थानों पर मैच आयोजित करने पर विचार करना चाहिए जहां अधिक भारतीय प्रवासी हैं। इससे आईपीएल को आगे बढ़ाने में ही मदद मिलेगी। खिलाड़ियों की उपलब्धता को देखते हुए ऑफ सीजन में तीन से पांच मैच का आयोजन किया जा सकता है। उन्होंने कहा, ‘‘प्रत्येक साल शीर्ष चार फ्रेंचाइजी टीम को मियामी या टोरंटो या सिंगापुर में कुछ मैच खेलने की अनुमति मिलनी चाहिए। इससे इस ब्रांड को ही मजबूती मिलेगी।’’

Open in app