भारतीय शीर्ष क्रम लड़खड़ाया, नहीं चले पुजारा-रहाणे

By भाषा | Published: November 25, 2021 02:59 PM2021-11-25T14:59:13+5:302021-11-25T14:59:13+5:30

Indian top order faltered, Pujara-Rahane did not work | भारतीय शीर्ष क्रम लड़खड़ाया, नहीं चले पुजारा-रहाणे

भारतीय शीर्ष क्रम लड़खड़ाया, नहीं चले पुजारा-रहाणे

Next

कानपुर, 25 नवंबर चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे के फिर से लंबी पारियां खेलने में नाकाम रहने के कारण भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के शुरुआती दिन गुरुवार को यहां चाय के विश्राम तक चार विकेट पर 154 रन बनाये।

लंबे कद के तेज गेंदबाज काइल जैमीसन (38 रन देकर तीन) ने फिर से भारतीय बल्लेबाजों को परेशानी में डाला। उन्होंने पहले सत्र में प्रभावशाली बल्लेबाजी करने वाले सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल (93 गेंदों पर 52 रन) को लंच के बाद पहले ओवर में आउट करने के बाद अच्छी लय में दिख रहे कप्तान रहाणे (63 गेंदों पर 35 रन) को पवेलियन भेजा।

अनुभवी तेज गेंदबाज टिम साउदी (30 रन देकर एक) ने इस बीच चेतेश्वर पुजारा (88 गेंदों पर 26 रन) की एकाग्रता भंग की। भारत ने मयंक अग्रवाल (28 गेंदों पर 13) का विकेट पहले सत्र में गंवा दिया था।

चाय के विश्राम के समय अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे श्रेयस अय्यर 17 और रविंद्र जडेजा छह रन पर खेल रहे थे।

गिल ने अपने कट और ड्राइव का शानदार नमूना पेश करके पहले सत्र में न्यूजीलैंड के मुख्य स्पिनर अयाज पटेल को बैकफुट पर रखा था लेकिन उनके दूसरे सत्र के शुरू में पवेलियन लौटने से भारतीय पारी का प्रवाह प्रभावित हुआ।

जैमीसन की फुललेंथ गेंद को रक्षात्मक रूप से खेलने के लिये गिल आगे बढ़े लेकिन गेंद उनके बल्ले और पैड के बीच से निकलकर विकेटों में समा गयी। गिल ने अपनी पारी में पांच चौके और पटेल पर छक्का लगाया।

पुजारा के पास शतक का लंबा इंतजार समाप्त करने का यह बेहतरीन मौका था। उन्होंने जैमीसन और पटेल पर चौका लगाकर अभी हाथ खोलने का प्रयास किया था कि साउदी की पांचवें स्टंप की लाइन पर की गयी गेंद उनके बल्ले को चूमती हुई विकेटकीपर टॉम ब्लंडेल के दस्तानों में समा गयी।

पुजारा ने अपना आखिरी टेस्ट शतक जनवरी 2019 में लगाया था। वह पिछले 23 टेस्ट और 39 पारियों से तिहरे अंक में नहीं पहुंचे हैं और इस बीच उनका औसत 28.78 रहा है।

यही आलम रहाणे का रहा जिनके करियर के लिये न्यूजीलैंड के खिलाफ दो टेस्ट मैच अहम साबित हो सकते हैं। एकबारगी लग रहा था कि ग्रीन पार्क की पिच उन्हें रास आ रही है और वह बड़ी पारी खेलकर दक्षिण अफ्रीका जाने वाली टीम में अपनी जगह सुरक्षित कर लेंगे लेकिन जैमीसन ने जल्द ही यह भ्रम तोड़ दिया।

रहाणे ने जैमीसन की बाहर जाती गेंद को बैकफुट पर जाकर कट करने के प्रयास में अपने विकेटों पर खेला। इससे ठीक पहली गेंद पर वह डीआरएस लेने के कारण आउट होने से बचे थे। उन्होंने अपनी पारी में छह चौके लगाये।

इससे पहले रहाणे ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया लेकिन भारत ने आठवें ओवर में ही अग्रवाल का विकेट गंवा दिया। अग्रवाल के पास यह टीम में जगह पक्की करने का शानदार मौका था लेकिन जैमीसन की गेंद पर वह ब्लंडेल को कैच थमा दिया।

चोट के कारण इंग्लैंड के खिलाफ नहीं खेल पाने वाले गिल ने मैदान के चारों तक आकर्षक शॉट खेलकर अपने टेस्ट करियर का चौथा अर्धशतक पूरा किया उन्होंने साउदी के पहले स्पैल में सतर्कता बरतने के बाद अपने खूबसूरत कट और ड्राइव से बायें हाथ के स्पिनर पटेल की लेंथ बिगाड़ी। गिल और पुजारा ने दूसरे विकेट के लिये 61 रन जोड़े।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Open in app