England Women vs India Women 2022: भारतीय महिला टीम बल्लेबाजी और गेंदबाजी में फेल, इंग्लैंड ने नौ विकेट से हराया, कप्तान हरमनप्रीत कौर का बड़ा आरोप

England Women vs India Women 2022: इंग्लैंड की कप्तान एमी जोंस ने भारत को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया और लेग स्पिनर सराह ग्लेन की शानदार गेंदबाजी से उसे सात विकेट पर 132 रन पर ही रोक दिया।  

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: September 11, 2022 08:56 PM2022-09-11T20:56:44+5:302022-09-11T20:58:08+5:30

England Women vs India Women 2022 Eng won 9 wkts indian capt  Harmanpreet kaur says We were forced play in damp conditions | England Women vs India Women 2022: भारतीय महिला टीम बल्लेबाजी और गेंदबाजी में फेल, इंग्लैंड ने नौ विकेट से हराया, कप्तान हरमनप्रीत कौर का बड़ा आरोप

ग्लेन ने चार ओवर में 23 रन देकर चार विकेट लिए और शुरू से लेकर आखिर तक भारतीय बल्लेबाजों को परेशानी में रखा। (file photo)

Next
Highlights तीन मैचों की सीरीज में शुरुआती बढ़त बनाई। सोफिया डंकले के नाबाद 61 रन की मदद से 13 ओवर में एक विकेट पर 134 रन बनाकर आसान जीत दर्ज की।ग्लेन ने चार ओवर में 23 रन देकर चार विकेट लिए और शुरू से लेकर आखिर तक भारतीय बल्लेबाजों को परेशानी में रखा।

England Women vs India Women 2022: भारतीय महिला क्रिकेट टीम बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों विभागों में नाकाम रही जिसके कारण इंग्लैंड ने उससे पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में यहां नौ विकेट से करारी शिकस्त दी।

इंग्लैंड की कप्तान एमी जोंस ने भारत को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया और लेग स्पिनर सराह ग्लेन की शानदार गेंदबाजी से उसे सात विकेट पर 132 रन पर ही रोक दिया। इंग्लैंड ने सलामी बल्लेबाज सोफिया डंकले के नाबाद 61 रन की मदद से 13 ओवर में एक विकेट पर 134 रन बनाकर आसान जीत दर्ज की और तीन मैचों की सीरीज में शुरुआती बढ़त बनाई।

स्मृति मंधाना ने 23 रन बनाए

ग्लेन ने चार ओवर में 23 रन देकर चार विकेट लिए और शुरू से लेकर आखिर तक भारतीय बल्लेबाजों को परेशानी में रखा। भारत का कोई भी बल्लेबाज टिककर नहीं खेल पाया। उसकी तरफ से ऑलराउंडर दीप्ति शर्मा ने 29 गेंदों पर सर्वाधिक 24 रन बनाए। सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना ने 23 रन बनाए जबकि कप्तान हरमनप्रीत कौर 16 गेंदों पर 20 रन बनाने के बाद ग्लेन की गेंद पर बोल्ड हो गई।

विकेटकीपर बल्लेबाज ऋचा घोष ने अच्छी शुरुआत की और 12 गेंदों पर 16 रन बनाए लेकिन वह इसे बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर पाई और मध्यम गति के गेंदबाज फ्रेया डेविस की गेंद पर कैच दे बैठी। सलामी बल्लेबाज शेफाली वर्मा (14) और डी हेमलता (10) भी दोहरे अंक में पहुंची लेकिन अपनी अच्छी शुरुआत का फायदा नहीं उठा पाई।

इंग्लैंड ने धमाकेदार शुरुआत की

अपेक्षाकृत छोटे लक्ष्य का पीछा करने उतरे इंग्लैंड ने धमाकेदार शुरुआत की। डंकले ने डैनियली वाइट (16 गेंदों में 24 रन) के साथ केवल 6.2 ओवर में 60 रन की साझेदारी की। डंकले ने शुरू में ही विकेटकीपर को कैच दे दिया था लेकिन गेंदबाज रेणुका सिंह नोबॉल कर बैठी।

इसके बाद जब वह 15 रन पर थे तब शेफाली ने मिड ऑफ पर उनका आसान कैच छोड़ा। तब भी गेंदबाज रेणुका ही थी। डंकले ने इसका फायदा उठाकर इस प्रारूप में अपना सर्वोच्च स्कोर बनाया। उन्होंने एलाइस कैपले के साथ दूसरे विकेट के लिए 74 रन की अटूट साझेदारी की। कैपले ने 20 गेंदों पर 32 रन की तेजतर्रार पारी खेली। डंकले ने अपनी पारी में आठ चौके और एक छक्का लगाया।

हमें नम परिस्थितियों में खेलने के लिए मजबूर किया गया : हरमनप्रीत

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर ने कहा कि इंग्लैंड के खिलाफ पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में उनकी टीम को नमी वाली परिस्थितियों में खेलने के लिए मजबूर किया गया जिसके कारण उन्हें नौ विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा। भारत ने एक महीने पहले राष्ट्रमंडल खेलों के सेमीफाइनल में इंग्लैंड को हराया था लेकिन टी20 श्रृंखला की उसकी शुरुआत अच्छी नहीं रही।

हरमनप्रीत ने मैच के बाद कहा,‘‘ हम उतने रन नहीं बना पाए जितनी हमें उम्मीद थी। मुझे लगता है परिस्थितियां खेलने के लिए पूरी तरह से अनुकूल नहीं थी और हमें ऐसी परिस्थितियों में खेलने के लिए मजबूर किया गया।’’ भारतीय कप्तान ने हालांकि अपने साथी खिलाड़ियों की सराहना की और कहा कि नमी वाली परिस्थितियों के कारण वे किसी भी समय चोटिल हो सकती थी लेकिन इसके बावजूद टीम के प्रत्येक खिलाड़ी ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया।

हरमनप्रीत ने कहा,‘‘ जिस तरह से खिलाड़ियों ने अपनी तरफ से प्रयास किए उससे मैं खुश हूं क्योंकि चोटिल होने का खतरा था लेकिन तब भी वह खेलने के लिए तैयार थी।’’ उन्होंने कहा,‘‘ आप अपनी टीम में ऐसे ही खिलाड़ियों को चाहते हैं जो किसी भी तरह की परिस्थिति में रन बनाने के लिए तैयार हों और मुझे खुशी है कि हमने अपनी तरफ से सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया।’’

इंग्लैंड की पारी के दूसरे ओवर में स्पिनर राधा यादव चोटिल हो गई जिससे भारत को एक गेंदबाज की कमी खली। हरमनप्रीत ने कहा,‘‘ मैं जानती थी कि परिस्थितियां क्रिकेट खेलने के लिए शत प्रतिशत सही नहीं है लेकिन इसके बावजूद हमने प्रयास किए।

मैं जानती थी कि मैदान काफी गीला है और चोटिल होने की संभावना है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ हमारी एक खिलाड़ी चोटिल भी हो गई और वह हमारी मुख्य गेंदबाज थी जिसकी हमें कमी खली। हमारे पास एक गेंदबाज कम था, इसके बावजूद हमने चुनौती पेश की।’’ 

Open in app