टेस्ट क्रिकेट हमेशा शीर्ष स्थान पर रहेगा, स्टार्क ने कहा- वनडे और टी20 से संन्यास ले सकता हूं, व्यस्त कार्यक्रम के कारण तीनों प्रारूप में खेलना ‘असंभव’

मिशेल स्टार्क ने इंग्लैंड के खिलाफ एकदिवसीय सीरीज के दूसरे मैच में 47 रन देकर चार विकेट लिये जिससे ऑस्ट्रेलिया ने 2-0 की अजेय बढ़त कायम कर ली।

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: November 20, 2022 03:15 PM2022-11-20T15:15:21+5:302022-11-20T15:17:07+5:30

Australian fast bowler Mitchell Starc said Test cricket will always be top spot can retire ODIs and T20s 'Impossible' to play all three formats due busy schedule | टेस्ट क्रिकेट हमेशा शीर्ष स्थान पर रहेगा, स्टार्क ने कहा- वनडे और टी20 से संन्यास ले सकता हूं, व्यस्त कार्यक्रम के कारण तीनों प्रारूप में खेलना ‘असंभव’

टीम की 2023 विश्व कप योजनाओं में अहम भूमिका निभाने की उम्मीद है।

Next
Highlightsटीम की 2023 विश्व कप योजनाओं में अहम भूमिका निभाने की उम्मीद है। वेस्ट इंडीज और यूएसए में होने वाले 2024 टी20 विश्व कप में खेलने की इच्छा का भी संकेत दिया है।व्यस्त कार्यक्रम के कारण किसी खिलाड़ी के लिए तीनों प्रारूप में खेलना ‘असंभव’ की तरह है।

सिडनीः ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज मिशेल स्टार्क का मानना है कि टेस्ट करियर को आगे बढ़ाने के लिए उन्हें अपने करियर के अगले चरण में सीमित ओवरों के प्रारूप को अलविदा कहना होगा क्योंकि उनके लिए लाल गेंद के प्रारुप का करियर ‘सबसे पहले’ आता है।

 

यह 32 साल का वामहस्त गेंदबाज उन छह खिलाड़ियों में से है जो ऑस्ट्रेलिया के लिए सभी प्रारूप में खेलते है। स्टार्क ने शनिवार को इंग्लैंड के खिलाफ एकदिवसीय सीरीज के दूसरे मैच में 47 रन देकर चार विकेट लिये जिससे ऑस्ट्रेलिया ने 2-0 की अजेय बढ़त कायम कर ली। स्टार्क ने कहा, ‘‘टेस्ट (हमेशा) शीर्ष स्थान पर रहेगा। यह प्रारूप सीमित ओवरों के प्रारूप से काफी ऊपर है। ’’

स्टार्क के टीम की 2023 विश्व कप योजनाओं में अहम भूमिका निभाने की उम्मीद है। उन्होंने वेस्ट इंडीज और यूएसए में होने वाले 2024 टी20 विश्व कप में खेलने की इच्छा का भी संकेत दिया है। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं बाकी चीजों के बारे में बाद में फैसला करूंगा।

यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि मेरा शरीर कैसा महसूस करता है। खेलना मुझे पसंद है और अगर लय सही रही और टीम में चयन हुआ तो मैं टेस्ट क्रिकेट खेलना जारी रखूंगा।’’ इस अनुभवी गेंदबाज ने कहा कि आज के दौर की व्यस्त कार्यक्रम के कारण किसी खिलाड़ी के लिए तीनों प्रारूप में खेलना ‘असंभव’ की तरह है।

उन्होंने कहा, ‘‘तीनों प्रारूप के खिलाड़ी के रूप में हर मैच को खेलना इस समय लगभग असंभव है।’’ अपने कार्यभार को बनाए रखने के लिए, स्टार्क ने 2015 से आकर्षक इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में भाग लेना छोड़ दिया है।

Open in app