I was waiting for such a moment like that to prove myself: Dinesh Karthik on Nidahas Trophy final | दिनेश कार्तिक ने निदाहास ट्रॉफी फाइनल पर खोला राज, क्यों 12 गेंदों पर 34 रन बनाने की चुनौती भी लगी थी 'आसान'
दिनेश कार्तिक ने निदाहास ट्रॉफी के फाइनल में आखिरी गेंद पर छक्का जड़कर दिलाई थी जीत (File Photo)

Highlightsमैं खुद को साबित करने के लिए ऐसे ही मौके की तलाश कर रहा था: निदाहास ट्रॉफी फाइनल पर कार्तिक2 ओवर में जीत के लिए 34 रन बनाने थे, और मैंने तब भी सोचा कि मैं टीम के लिए ये मैच जीत सकता हूं: कार्तिक

निदाहास ट्रॉफी फाइनल को भारतीय क्रिकेट फैंस द्वारा हमेशा याद किया जाएगा। बांग्लादेश के खिलाफ फाइनल मैच में दिनेश कार्तिक के पिच पर आने से पहले तक टीम इंडिया हार की ओर बढ़ती दिख रही थी, लेकिन दिनेश कार्तिक ने 8 गेंदों में 29 रन की तूफानी पारी खेली और आखिरी गेंद पर छक्का जड़ते हुए बांग्लादेश की भारत पर पहली टी20 जीत का सपना तोड़ दिया।

दिनेश कार्तिक और उनकी पत्नी और स्क्वैश खिलाड़ी दीपिका पल्लीकल ने स्टार स्पोर्ट्स के तमिल शो माइंड मास्टर्स में अपने करियर और मुश्किल क्षणों में विजेता बनकर उभरने की दास्तां साझा की। 

कार्तिक ने बताया, निदाहास ट्रॉफी में कैसे दिलाई थी टीम इंडिया को जीत

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, निदाहास ट्रॉफी की सफलता के बारे में कार्तिक ने कहा, 'मैं खुद को साबित करने के लिए ऐसे ही मौके की तलाश कर रहा था। मैं ऐसे मौके का सामना करने के लिए खूब अभ्यास कर रहा था। जब असली मौका आया तो उससे गुजरना, मेरे ख्याल से उस समय मजेदार था। उनमें से काफी कुछ ऑटो मोड में हुआ।'

कार्तिक ने कहा, 'जब आप बहुत प्रैक्टिस करते हैं और जब आप उस स्थिति में होते हैं तो आपको पता होता है कि आपको क्या करना है। मुझे उम्मीद थी कि हम वह मैच जीत सकते हैं, 2 ओवर में जीत के लिए 34 रन बनाने थे, और मैंने तब भी सोचा कि मैं टीम के लिए ये मैच जीत सकता हूं।'

दिनेश कार्तिक ने आखिरी गेंद पर छक्का जड़ दिलाई थी निदाहास ट्रॉफी के फाइनल में जीत

18 मार्च 2018 को कोलंबो में खेले गए निदाहास ट्रॉफी फाइनल में बांग्लादेश ने पहले खेलते हुए सब्बीर रहमान की 77 रन की मदद से 20 ओवर में 166/8 का स्कोर बनाया, जिसके जवाब में कप्तान रोहित शर्मा की 42 गेंदों में 56 रन की पारी की मदद से भारत ने जोरदार जवाब दिया। लेकिन उनके आउट होने से बांग्लादेश ने वापसी कर ली और फिर मनी। पांडेय (24) के रूप में पांचवां विकेट गिरने से 133/5 के स्कोर के साथ भारत मुश्किल में फंस गया।

भारत को आखिरी 2 ओवरों में 34 रन चाहिए थे और तब दिनेश कार्तिक बैटिंग के लिए उतरे। कार्तिक ने रूबेल हुसैन के खिलाफ दो चौके और दो छक्के जड़े, जिससे 19वें ओवर में 22 रन बन गए। 

आखिरी ओवर में भारत को 12 रन चाहिए थे और पांचवीं गेंद पर विजय शंकर का विकेट खोने के बावजूद जब आखिरी गेंद पर जीत के लिए 5 रन की जरूरत थी तो दिनेश कार्तिक ने छक्का जड़ते हुए टीम इंडिया को 4 विकेट से रोमांचक जीत दिला दी। कार्तिक 8 गेंदों में 2 चौकों और 3 छक्कों की मदद से 29 रन बनाकर नाबाद रहे।

Web Title: I was waiting for such a moment like that to prove myself: Dinesh Karthik on Nidahas Trophy final
क्रिकेट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे