Asia Cup 2018: Defending champion India eye to win title, Rohit to lead in Virat Kohli absence | एशिया कप: टीम इंडिया की नजरें सातवें खिताब पर, विराट कोहली की गैरमौजूदगी में आसान नहीं राह
शिखर धवन और रोहित शर्मा

नई दिल्ली, 13 सितंबर: गत चैंपियन भारत 15 सितंबर से शुरू हो रहे 14वें एशिया कप टूर्नामेंट में एक और खिताबी जीत के इरादे से उतरेगा। 1984 में शारजाह में शुरू हुए इस टूर्नामेंट का पहला खिताब जीतने के बाद से ही भारत ने इसमें अपना दबदबा बनाए रखा है। भारत अब तक हुए 13 एशिया कप में से सर्वाधिक 6 बार खिताब जीत चुका है। इस लिस्ट में श्रीलंका 5 खिताब जीतकर दूसरे और पाकिस्तान दो खिताब जीतकर तीसरे स्थान पर है। 

2015 में आईसीसी ने इस टूर्नामेंट को रोटेशनल आधार पर टी20 और 50 ओवर के फॉर्मेट में कराने का निर्णय लिया था। एशिया कप का टी20 फॉर्मेट में पहली बार आयोजन 2016 में हुआ था, जिसमें फाइनल में भारत ने मेजबान बांग्लादेश को हराते हुए खिताब जीता था।  

कोहली के बिना भारत के सामने खिताब बचाने की मुश्किल चुनौती

भारत की नजरें एक बार फिर से एशिया कप जीतने पर होंगी। लेकिन स्टार बल्लेबाज विराट कोहली की गैरमौजूदगी में टीम इंडिया के लिए ये आसान नहीं होगा। इस टूर्नामेंट के लिए रोहित शर्मा को भारतीय टीम का कप्तान बनाया गया है। भारतीय टीम की नजरें इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में मिली करारी शिकस्त को पीछे छोड़ते हुए एशिया कप में खिताबी जीत हासिल करने पर होगी। 

एशिया कप के लिए भारतीय टीम में ऐसे कई खिलाड़ियों की वापसी हो रही है जो अलग-अलग कारणों से इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज का हिस्सा नहीं थे। इनमें एमएस धोनी, युजवेंद्र चहल, भुवनेश्वर कुमार, अक्षर पटेल, अंबाती रायुडू, मनीष पाण्डेय और पहली बार शामिल किए गए युवा तेज गेंदबाज खलील अहमद शामिल हैं।

एशिया कप में हाल के सालों में कैसा खेली है टीम इंडिया

भारत ने भले ही एशिया कप में सर्वाधिक छह खिताब जीते हों लेकिन हाल से वर्षों में उसका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है। भारत ने 1984 में शारजाह आयोजित हुए एशिया कप का उद्घाटन संस्करण जीता। लेकिन 1986 के अगले टूर्नामेंट उसने भाग नहीं लिया और खिताब श्रीलंका के नाम रहा। इसके बाद भारत ने दमदार प्रदर्शन करते हुए 1988, 1990 और 1995 में लगातार तीन बार एशिया कप खिताब जीता। लेकिन उसके बाद भारत को ये खिताब जीतने के लिए 15 साल लंबा इंतजार करना पड़ा। 1997 में श्रीलंका, 2000 में पाकिस्तान, 2004 और 2008 में श्रीलंका ने एशिया कप जीता। 

भारत ने 2010 में धोनी की कप्तानी में मेजबान श्रीलंका को उसके घर में 81 रन से मात देते हुए पांचवीं बार एशिया कप पर कब्जा जमाया। हालांकि 2012 में इसे श्रीलंका और 2014 में पाकिस्तान ने जीता। लेकिन 2016 में पहली बार टी20 फॉर्मेट में आयोजित हुए इस टूर्नामेंट को भारत ने फाइनल में बांग्लादेश को 8 विकेट से हराते हुए जीत लिया।

एशिया कप 2018 में भारत को ग्रुप ए में पाकिस्तान और हॉन्ग कॉन्ग के साथ रखा गया है। भारत अपने अभियान की शुरुआत 18 सितंबर को हॉन्ग कॉन्ग के खिलाफ मैच से करेगा और उसके बाद दूसरा मैच 19 सितंबर को चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगा।

एशिया कप: किस टीम ने कितनी बार जीता खिताब

भारत: 6 बार (1984, 1988, 1990, 1995, 2010, 2016)
श्रीलंका: 5 बार (1986, 1997, 2004, 2008, 2012)
पाकिस्तान: 2 बार (2000, 2014)

एशिया कप के लिए भारतीय टीम

रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन (उप-कप्तान), केएल राहुल, अंबाती रायुडू, मनीष पांडे, केदार जाधव, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), दिनेश कार्तिक, हार्दिक पंड्या, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, अक्षर पटेल, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, शार्दुल ठाकुर, खलील अहमद।


Web Title: Asia Cup 2018: Defending champion India eye to win title, Rohit to lead in Virat Kohli absence
क्रिकेट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे