80 year old Mujibullah helps the migrants, mohammad kaif tweet- Humanity knows no age! | प्रवासी मजदूरों का मुफ्त में बोझा ढो रहा 80 वर्षीय कुली, मोहम्मद कैफ बोले- मानवता किसी उम्र की मोहताज नहीं
मुजीबुल्लाह और मोहम्मद कैफ। (दाएं से बाएं)

Highlightsकोरोना वायरस के चलते घर वापसी को मजबूर हुए मजदूर।चारबाग रेलने स्टेशन पर मदद कर रहे मुजीबुल्लाह।

मुजीबुल्लाह लखनऊ स्थित चारबाग रेलने स्टेशन पर कुली का काम करते हैं। वह इस संकट के दौर में प्रवासी मजदूरों का बोझा बगैर पैसे लिए उठा रहे हैं। इतना ही नहीं, जरूरतमंदों को वह खाना भी खिला रहे हैं।

कोरोना के चलते आम लोग इन दिनों काफी परेशानी में हैं, लेकिन 80 वर्षीय मुजीबुल्लाह खुद आम हुए एक खास काम कर रहे हैं, जिसकी तारीफ खुद पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने भी की है।

कैफ ने मुजीबुल्लाह की तारीफ करते हुए लिखा, "मानवता किसी उम्र की मोहताज नहीं होती। मुजीबुल्लाह की उम्र 80 वर्ष है। वह लखनऊ के चारबाग स्टेशन पर कुली का काम करते हैं। उन्होंने बिना कोई पैसा लिए प्रवासी मजदूरों के सामानों को ढोया और उनके लिए खाना भी उपलब्ध कराया। मुश्किल वक्त में उनकी निस्सवार्थता प्रेरणा दायक है।"

देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे अधिक 8,909 नये मामले सामने आए हैं जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बुधवार को 2,07,615 हो गयी, वहीं 217 लोगों की मौत के बाद मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 5,815 हो गया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय और भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के विशेषज्ञों ने मंगलवार को एक संयुक्त बैठक में कहा कि भारत में कोरोना वायरस रोगियों की रिकवरी रेट में सुधार हो रहा है। हालांकि मामलों की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया है कि देश में रिकवरी रेट अब 48.07% है।  

Web Title: 80 year old Mujibullah helps the migrants, mohammad kaif tweet- Humanity knows no age!
क्रिकेट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे