Highlightsबाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) 2,23,012.44 करोड़ रुपये घटकर 1,95,43,560.22 करोड़ रुपये रह गया।कारोबार के दौरान यह एक समय 788.37 अंक के नुकसान से 48,795.79 अंक के निचले स्तर तक गया था। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 549.49 अंक या 1.11 प्रतिशत के नुकसान से 49,034.67 अंक पर आ गया।

मुंबईः शेयर बाजारों में जोरदार गिरावट से शुक्रवार को निवेशकों की 2.23 लाख करोड़ रुपये की पूंजी ‘डूब’ गई। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 549.49 अंक या 1.11 प्रतिशत के नुकसान से 49,034.67 अंक पर आ गया।

दिन में कारोबार के दौरान यह एक समय 788.37 अंक के नुकसान से 48,795.79 अंक के निचले स्तर तक गया था। सेंसेक्स में जबर्दस्त गिरावट से बीएसई की सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) 2,23,012.44 करोड़ रुपये घटकर 1,95,43,560.22 करोड़ रुपये रह गया।

रेलिगेयर ब्रोकिंग के उपाध्यक्ष (शोध) अजित मिश्रा ने कहा कि बाजार में उतार-चढ़ाव रहा और यह एक प्रतिशत से अधिक की गिरावट के साथ बंद हुआ। बाजार के भागीदार मुनाफावसूली के ‘मूड’ में थे। उन्होंने कहा कि वैश्विक बाजारों का रुख भी बाजार को समर्थन देने वाला नहीं था। 

सोने में 286 रुपये,  चांदी में 558 रुपये की तेजी

रुपये की विनिमय दर में गिरावट तथा बहुमूल्य धातुओं के अंतरराष्ट्रीय कीमतों में सुधार आने के बाद शुक्रवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 286 रुपये बढ़कर 48,690 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। एचडीएफसी सिक्योरिटीज ने इसकी जानकारी दी। इससे पहले बृहस्पतिवार को सोना 48,404 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था।

चांदी भी 558 रुपये बढ़कर 65,157 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गयी। यह बृहस्पतिवार को 64,599 रुपये प्रति किलोग्राम पर बंद हुई थी। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (जिंस) तपन पटेल ने कहा, ‘‘दो दिनों की गिरावट के बाद सोने के मूल्य में तेजी और रुपये के मूल्य में गिरावट आने से दिल्ली में 24 कैरेट सोने के भाव में 286 रुपये की तेजी आई।’’ अन्तरबैंक विदेशीमुद्रा विनिमय बाजार में डॉलर के मुकाबले रुपया तीन पैसे की गिरावट दर्शाता 73.07 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना लाभ के साथ 1,852 डॉलर प्रति औंस हो गया। जबकि चांदी 25.40 डॉलर प्रति औंस पर अपरिवर्तित रहा। मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के उपाध्यक्ष(जींस अनुसंधा) नवनीत दमानी ने कहा कि अमेरिका में निर्वाचित राष्ट्रपति जे बाइडेन द्वारा 1900 अरब डालर का प्रोत्साह पैकेज घोषित किए जाने और फेडरल रिजर्व के प्रमुख जे. पावेल द्वारा मौद्रिक नीति में नरमी बरकार रखने के संकेतों के बाद निवेशकों की निगाह अमेरिका में खुदरा बिक्री और औद्योगिक उत्पादन के आने वाले आंकड़ों पर होगी।

दमानी की राय में यदि ये आंकड़े उम्मीद से कम रहे तो सोने को बल मिलेगा। उनका कहना है कि आने वाले दिनों में अंतरराष्ट्रीय बाजार में पीली धातु 1830- 1900 डालर प्रति औंस और स्थानीय बाजार में 48,950- 49,750 प्रति दस ग्राम के बीच रह सकती है।

Web Title: share bajar stock market 788 down investors lose 2-23 lakh crore rupees gold silver rate

कारोबार से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे