गौतम अडानी को झटका, सेबी और DRI कर रहे कंपनियों की जांच, शेयर गिरे

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: July 19, 2021 05:29 PM2021-07-19T17:29:57+5:302021-07-19T17:33:58+5:30

वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी ने टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा के एक सवाल के जवाब में यह जानकारी दी। संसद में मामला उठते ही अडानी ग्रुप की सभी कंपनियों के शेयरों में भारी गिरावट देखने मिली।

SEBI, DRI investigating against Adani, Minister tells in Parliament | गौतम अडानी को झटका, सेबी और DRI कर रहे कंपनियों की जांच, शेयर गिरे

गौतम अडानी को झटका, सेबी और DRI कर रहे कंपनियों की जांच, शेयर गिरे

Next
Highlightsअडानी समूह की 5 सूचीबद्ध कंपनियों में बड़ी गिरावटनियमों के उल्लंघन के आरोप में कंपनियों की जांच जारी: वित्त राज्यमंत्रीअभी यह नहीं पता चल पाया है कि सेबी ने जांच कब शुरू की

गौतम अडानी के अडानी ग्रुप को आज एक बड़ा झटका लगा. वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी ने संसद में दिए एक लिखित जवाब में बताया कि डायरेक्टोरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (DRI) और SEBI अडानी ग्रुप की कुछ कंपनियों की जांच कर रही है. यह जांच SEBI के नियमन संबंधी है. वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी ने सदन में बताया कि फिलहाल अडानी ग्रुप की कुछ कंपनियों की जांच SEBI और DRI मिलकर कर रही है। एनफोर्समेंट डायरेक्टोरेट की तरफ से किसी तरह की जांच नहीं की जा रही है. पंकज चौधरी ने टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा के एक सवाल के जवाब में यह जानकारी दी। 

मंत्री ने स्पष्ट किया कि जून में SEBI द्वारा तीन फंड, अल्बुला इन्वेस्टमेंट फंड लिमिटेड, क्रेस्टा फंड लिमिटेड और एपीएमएस इन्वेस्टमेंट फंड लिमिटेड को फ्रीज कर दिया गया था। बाद में NSDL ने एक स्पष्टीकरण जारी किया था जिसमें कहा गया था कि ये खाते अदानी ग्रुप ऑफ कंपनियों से जुड़े मामले में नहीं फ्रीज किए गए हैं।

मंत्री ने संसद को बताया कि, 'कुछ भारतीय सूचीबद्ध कंपनियों द्वारा ग्लोबल डिपॉजिटरी रसीद (जीडीआर) जारी करने से संबंधित मामले में, सेबी ने 16 जून 2016 के आदेश के माध्यम से NSDL को अल्बुला इन्वेस्टमेंट फंड लिमिटेड, क्रेस्टा फंड लिमिटेड और APMS इन्वेस्टमेंट फंड लिमिटेड समेत कुछ एफपीआई के खाते फ्रीज करने का आदेश दिया था।' पिछले महीने जून में नेशनल सिक्योरिटीज़ डिपोज़िटरी लिमिटेड (NSDL) ने 3 विदेशी फंड्स के अकाउंट फ्रीज कर दिए थे, जिनकी अडानी ग्रुप की कंपनियों में बड़ी हिस्सेदारी है। अडानी ग्रुप की 5 कंपनियों में इन फंड्स का निवेश है और शेयर्स की कुल कीमत 43,500 करोड़ रुपए है। 

संसद में मामला उठते ही अडानी ग्रुप की सभी कंपनियों के शेयरों में भारी गिरावट देखने मिली। अडानी पोर्ट में 2.45 फीसदी की गिरावट, अडानी ग्रीन एनर्जी में 3.53 फीसदी की गिरावट, अडानी एंटरप्राइजेज में 3 फीसदी की गिरावट, अडानी ट्रांसमिशन में 1.75 फीसदी की गिरावट, अडानी टोटल गैस में 5 फीसदी की गिरावट और अडानी पावर में 3.55 फीसदी की गिरावट देखने को मिली।

Web Title: SEBI, DRI investigating against Adani, Minister tells in Parliament

कारोबार से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे