गणतंत्र दिवस परेडः आनंद महिंद्रा ने इस झांकी की तारीफ की, ट्वीट कर कहा- 'गेम चेंजर' 

By सतीश कुमार सिंह | Published: January 26, 2022 06:55 PM2022-01-26T18:55:12+5:302022-01-26T18:56:58+5:30

Republic Day 2022: देश भर में 73वां गणतंत्र दिवस बहुत ही धूमधाम और हर्षोल्लास से मनाया गया।

Republic Day 2022 Anand Mahindra Jal Jeevan mission game-changer 14K ft high in Ladakh Indo China border -20°C temperature | गणतंत्र दिवस परेडः आनंद महिंद्रा ने इस झांकी की तारीफ की, ट्वीट कर कहा- 'गेम चेंजर' 

सभी से मनपसंद झांकी के बारे में पूछा।

Next
Highlightsदेश अपना 73वां गणतंत्र दिवस मना रहा है।गणतंत्र दिवस समारोह शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुआ।इस साल आप किस झांकी को बेस्ट मानते हैं। 

Republic Day 2022: बिजनेसमैन आनंद महिंद्रा सोशल मीडिया पर एक्टिव रहते हैं। ट्विटर पर वीडियो के साथ फोटो भी शेयर करते रहते हैं। इस बीच आनंद महिंद्रा ने आज गणतंत्र दिवस परेड में शामिल झांकियों को शेयर किया। सभी से मनपसंद झांकी के बारे में पूछा।

महिंद्रा एंड महिंद्रा समूह के प्रमुख आनंद महिंद्रा ने ट्वीट कर लिखा कि बचपन में जब भी गणतंत्र दिवस परेड देखते थे, तो आपस में बातकर सबसे बेहतर झांकी के लिए वोट और बात करते थे। आप लोगों से जानने को इस्छुक है कि इस साल आप किस झांकी को बेस्ट मानते हैं। 

आनंद महिंद्रा ने ट्वीट कर कहा कि मेरी वाली अभी निकली। पोस्ट के कई घंटों के बाद आनंद महिंद्रा ने पसंदीदा झांकी की वीडियो शेयर की। कहा कि जल शक्ति मंत्रालय की झांकी सबसे बेहतर लगी। साथ में लिखा, मेरा वोट इस झांकी को जाएगा। जल जीवन मिशन सभी के लिए जीवन की गुणवत्ता में गेम-चेंजर है।

लद्दाख में 14K फीट की ऊंचाई पर, भारत-चीन सीमा के पास, -20°C तापमान, घरों के लिए 24X7 नल का पानी! गणतंत्र दिवस परेड के दौरान जल शक्ति मंत्रालय की झांकी में दर्शाया गया कि कड़ाके की ठंड में भी 13,000 फुट से अधिक ऊंचाई पर स्थित लद्दाख के घरों में जल जीवन मिशन के तहत किस प्रकार नलों से स्वच्छ पानी पहुंचाया जाता है।

झांकी में आगे की ओर ‘हर घर जल’ योजना की उपलब्धि और ग्रामीण जलापूर्ति की सामूहिक साझेदारी के रूप में पानी की एक बूंद को दर्शाया गया। झांकी के बीच के हिस्से में अपने घरों, स्कूलों और आंगनवाड़ियों में नल का स्वच्छ जल मिलने के कारण सुखी समुदाय को दिखाया गया है।

इसमें दिखाया गया कि कैसे प्रशिक्षित स्थानीय महिलाएं ‘फील्ड टेस्ट किट’ का उपयोग करके पानी की गुणवत्ता का परीक्षण करती हैं। झांकी के सबसे पिछले हिस्से में दिखाया गया कि जब तापमान शून्य से 20 डिग्री सेल्सियस नीचे चला जाता है, जलाशय जम जाते हैं, जलापूर्ति लाइन काम करना बंद कर देती हैं, पाइप फट जाते हैं और सामग्रियों की आपूर्ति बुरी तरह प्रभावित होती है और पशुओं और हेलीकॉप्टरों की मदद से निर्माण सामग्री को पहुंचाया जाता है। इस हिस्से में जमे हुए जलाशयों से पानी लाने में पेश होने वाली तकनीकी चुनौतियों को भी दिखाया गया है।

 

Web Title: Republic Day 2022 Anand Mahindra Jal Jeevan mission game-changer 14K ft high in Ladakh Indo China border -20°C temperature

कारोबार से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे