Parliamentary committee asked Central Coalfields questions about not having a single woman on the board | निदेशक मंडल में एक भी महिला नहीं होने को लेकर संसदीय समिति ने सेंट्रल कोलफील्ड्स से पूछे सवाल
निदेशक मंडल में एक भी महिला नहीं होने को लेकर संसदीय समिति ने सेंट्रल कोलफील्ड्स से पूछे सवाल

नयी दिल्ली, 21 फरवरी सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड (सीसीएल) के निदेशक मंडल में एक भी महिला निदेशक नहीं होने को लेकर एक संसदीय समिति ने नाराजगी व्यक्त की है। समिति ने कंपनी से इसका स्पष्ट कारण पूछा है और बिना किसी देरी के निदेशक मंडल में एक महिला सदस्य शामिल करने को कहा है।

भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी की अध्यक्षता वाली 22 सदस्यीय समिति ने सार्वजनिक उपक्रमों पर अपनी नवीनतम रिपोर्ट पेश करते हुए सीसीएल को अपने निदेशक मंडल के सभी रिक्त पदों को तुरंत भरने के लिये कहा है।

समिति ने पाया कि कंपनी के निदेशक मंडल में 12 स्वीकृत पदों में से एक गैर-अधिकारी निदेशक का पद और एक निदेशक (कार्मिक) का पद रिक्त है।

सार्वजनिक उपक्रमों पर संसद की समिति ने सीसीएल पर अपनी रिपोर्ट में कहा कि कंपनी के निदेशक मंडल में एक भी महिला सदस्य नहीं है, जो कंपनी अधिनियम 2013 के प्रावधानों के अनुरूप नहीं है।

समिति ने कहा, ‘‘यह स्थिति इस तथ्य के बावजूद है कि कंपनी के सचिवीय लेखा परीक्षक पिछले कई वर्षों से लगातार अपनी रिपोर्ट में इसका जिक्र कर रहे हैं।’’

उसने कहा कि समिति ने सीसीएल के निदेशक मंडल में महिला निदेशक की नियुक्ति नहीं करने का कोई तार्किक कारण नहीं पाया।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Parliamentary committee asked Central Coalfields questions about not having a single woman on the board

कारोबार से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे