आर्थिक समीक्षा एक खंड में आने की संभावना, 9 प्रतिशत रह सकता है वृद्धि दर का अनुमान

By आजाद खान | Published: January 23, 2022 03:58 PM2022-01-23T15:58:08+5:302022-01-23T16:01:00+5:30

रिजर्व बैंक के मुताबिक, अर्थव्यवस्था के चालू वित्त वर्ष में 9.5 प्रतिशत वृद्धि दर का अनुमान जताया जा रहा है।

news Indian Economic review likely to come in one sector growth rate may remain at nine percent | आर्थिक समीक्षा एक खंड में आने की संभावना, 9 प्रतिशत रह सकता है वृद्धि दर का अनुमान

आर्थिक समीक्षा एक खंड में आने की संभावना, 9 प्रतिशत रह सकता है वृद्धि दर का अनुमान

Next
Highlightsअगले वित्त वर्ष के लिए लगभग नौ प्रतिशत की वृद्धि दर का अनुमान जताया जा सकता है। सीईए का पद रघुराम राजन की नियुक्ति के बाद से ही खाली था। 2014 में अरविंद सुब्रमण्यम अक्टूबर सीईए नियुक्त हुए थे।

नई दिल्ली: वित्त मंत्रालय वर्ष 2021-22 की आर्थिक समीक्षा (इकनॉमिक सर्वे) को एक खंड में जारी कर सकता है और इसमें अगले वित्त वर्ष के लिए लगभग नौ प्रतिशत की वृद्धि दर का अनुमान जताया जा सकता है। आम बजट से पहले वित्त मंत्री द्वारा संसद में पेश किए जाने वाली समीक्षा को मुख्य आर्थिक सलाहकार (सीईए) की अनुपस्थिति में प्रधान आर्थिक सलाहकार और अन्य अधिकारी तैयार कर रहे हैं। 

सीईए की अगुवाई में दस्तावेज को किया जाएगा तैयार

परंपरागत रूप से इस दस्तावेज को सीईए की अगुवाई में तैयार किया जाता है। हालांकि, जुलाई 2014 में नरेंद्र मोदी सरकार की पहली आर्थिक समीक्षा को वरिष्ठ आर्थिक सलाहकार इला पटनायक ने तैयार किया था और इसे तत्कालीन वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संसद में पेश किया था। 

सीईए को नियुक्त करने की प्रक्रिया पहले ही हो गई थी शुरू

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर के रूप में रघुराम राजन की नियुक्ति के बाद उस समय सीईए का पद खाली था। बाद में अरविंद सुब्रमण्यम अक्टूबर, 2014 में सीईए नियुक्त हुए। के वी सुब्रमण्यम ने पिछले साल छह दिसंबर को सीईए के रूप में अपना तीन साल का कार्यकाल पूरा किया। सरकार ने सीईए को नियुक्त करने की प्रक्रिया पहले ही शुरू कर दी है। 

रिजर्व बैंक ने क्या अनुमान जताया

राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) के अनुमानों के मुताबिक, अर्थव्यवस्था के चालू वित्त वर्ष के दौरान 9.2 प्रतिशत की दर से बढ़ने की उम्मीद है। रिजर्व बैंक ने 9.5 प्रतिशत वृद्धि दर का अनुमान जताया है। विशेषज्ञों ने आधार प्रभाव का हवाला देते हुए कहा कि अगले वित्त वर्ष के लिए समीक्षा में लगभग नौ प्रतिशत की वृद्धि दर का अनुमान जताया जा सकता है।
 

Web Title: news Indian Economic review likely to come in one sector growth rate may remain at nine percent

कारोबार से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे