New tourism policy of Gujarat, focus on investment in high priority areas | गुजरात की नयी पर्यटन नीति, उच्च प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में निवेश पर ध्यान
गुजरात की नयी पर्यटन नीति, उच्च प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में निवेश पर ध्यान

गांधीनगर, 12 जनवरी गुजरात सरकार ने मंगलवार को एक नयी पर्यटन नीति घोषित की जो 2020-25 के लिए है। इसमें उच्च प्राथमिकता वाले पर्यटन केंद्रों पर निवेश आकर्षित करने पर बल दिया गया है।

नीति में होटल, मनोरंजन पार्क, सम्मेलन कक्ष आदि के निर्माण पर निवेशकों को निवेश सब्सिडी जैसे प्रोत्साहनों के प्रावधान हैं।

मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने नीति की घोषणा करते हुए कहा कि ऐसी जगहों पर निर्मित की जाने वाली होटल और रिजॉर्ट जैसी परियोजनाओं के लिए निवेश पर सब्सिडी और अन्य प्रोत्साहनों के प्रावधान होंगे।

कच्छ, देवभूमि-द्वारका, नर्मदा, गीर-सोमनाथ, पोरबंदर, जूनागढ़ और दांग जिले जैसे कुछ स्थानों को पर्यटन सुविधाओं के विकास की दृष्टि से प्राथमिकता वाले इलाकों में रखा गया है।

रुपाणी ने कहा कि पूरे प्रदेश में पर्यटन के लिए बुनियादी सुविधाओं के विकास की बजाय हमारा ध्यान पहले उच्च प्राथमिकता वाले क्षेत्रों पर है। प्रोत्साहन वहां दिया जाएगा जहां इसकी सबसे अधिक आवश्यकता है।

इसमें होटल निर्माण पर 20 प्रतिशत तक निवेश सब्सिडी का प्रावधान करने की घोषणा है। इसके लिए जमीन की लागत छोड़ कर कम से कम एक करोड़ निवेश करना होगा। उपीसी निवेश की सीमा नहीं है। इसी तरह थीम पार्क या मनोरंजन पार्क पर 50 करोड़ से 500 करोड़ रुपये के निवेश पर 15 प्रतिशत सब्सिडी का प्रावधान होगा।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: New tourism policy of Gujarat, focus on investment in high priority areas

कारोबार से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे