Moody's cuts India 2020 growth forecast to 2-5 percent due to coronavirus | कोरोना वायरस के चलते वैश्विक मंदी की आशंका, मूडीज ने भारत की वृद्धि दर घटाकर 2.5 फीसदी किया
कोरोना वायरस के चलते पूरी दुनिया के अर्थव्यवस्थाओं पर असर पड़ा है.

Highlightsमू़डीज के अनुसार भारत में बैंकों और गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों के पास नकद धन की भारी कमी के चलते कर्ज हासिल करने को लेकर बाधा चल रही हैवहीं आरबीआई गर्वनर ने रेपो रेट, रिवर्स रेपो रेट, सीआरआर में भारी कटौती करते हुए कहा है कि आर्थिक बुनियाद 2008 में वित्तीय बाजार संकट के मुकाबले मजबूत हैRBI गर्वनर शक्तिकांत दास ने कहा कि सीआरआर में कटौती से बैंकों के पास कर्ज देने के लिए 3.74 लाख करोड़ रुपये के बराबर अतिरिक्त नकद धन उपलब्ध होगा.

मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विसेज ने भारत की वर्ष 2020 की आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान घटा कर 2.5 प्रतिशत किया। इससे पहले 17 मार्च 2020 को मूडीज ने भारतीय की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान घटाकर 5.3 फीसदी किया था। शुक्रवार (27 मार्च) को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के गर्वनर शक्तिकांत दास ने कहा कि आर्थिक माहौल को देखते हुए अगले साल के लिए आर्थिक वृद्धि और मुद्रास्फीति के बारे में अनुमान नहीं लगाया है। साथ ही आरबीआई गर्वनर ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के कारण अर्थव्यवस्था पर असर होगा और वैश्विक मंदी की आंशका है

जी-20 देशों में मंदी आने का अनुमान

इससे पहले 25 मार्च को वैश्विक रेटिंग एजेंसी मूडीज ने कोरोना वायरस संकट के चलते जी-20 समूह देशों में इस साल मंदी आने का अनुमान जताया है। मूडीज ने अनुमान जताया है कि जी-20 समूह देशों का सब मिलाकर सकल घरेलू उत्पाद 2020 में 0.5 प्रतिशत घटेगी। इसमें अमेरिकी अर्थव्यवस्था में दो प्रतिशत और यूरोजोन (यूरो को मुद्रा के तौर पर अपनाने वाले देश) की अर्थव्यवस्था में 2.2 प्रतिशत का सिकुड़न होगा। हालांकि कोरोना वायरस का प्रमुख केंद्र होने के बावजूद उसकी अर्थव्यवस्था का 3.3 प्रतिशत विस्तार होने की संभावना है। 

कोरोना वायरस के चलते हो रहा है असर

मूडीज के अनुसार कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैलने का ठीक-ठाक आर्थिक असर होगा। प्रभावित देशों में इससे घरेलू मांग पर असर हो रहा है, आपूर्ति श्रृंखला बाधित हो रही है और एक देश से दूसरे देश में होने वाला व्यापार घट रहा है। मूडीज ने कहा, ‘‘ये व्यवधान जितना लंबा खीचेंगे, वैश्विक आर्थिक मंदी का जोखिम उतना अधिक होगा।’’ इसके अलावा एविएशन, टूरिज्म, होटल व्यवसाय, क्रूज लाइनर और रेस्तरां व्यापार पर सबसे ज्यादा जोखिम मंडरा रहा है।

Web Title: Moody's cuts India 2020 growth forecast to 2-5 percent due to coronavirus
कारोबार से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे