इन 11 तरीकों से अपने पैसे का करें प्रबंधन, नहीं आएगी कभी आर्थिक मुश्किलें

By अनिल शर्मा | Published: September 19, 2021 12:37 PM2021-09-19T12:37:02+5:302021-09-19T13:09:32+5:30

अपने सरप्लस को मैनेज करेंः अच्छे कैश फ्लो मैनेजमेंट का मतलब है कि आपकी अगली सैलरी क्रेडिट होने से पहले ही आपके पास सरप्लस पैसा बचा है।

manage your cash money in these 11 golden ways there will never be financial | इन 11 तरीकों से अपने पैसे का करें प्रबंधन, नहीं आएगी कभी आर्थिक मुश्किलें

इन 11 तरीकों से अपने पैसे का करें प्रबंधन, नहीं आएगी कभी आर्थिक मुश्किलें

Next
Highlightsआपके कैश फ्लो को मैनेज करने की दिशा में पहला कदम है बजटिंग यानी कैश फ्लो प्लानजब हमारे पास पैसे खत्म हो जाते हैं तो हम आसानी से क्रेडिट कार्ड पर स्विच कर लेते हैं, ऐसा ना करें अपने पैसे का बुद्धिमानी से उपयोग करने का प्रयास करें

वेतनभोगी इंसान को महीने के अंत में सिर्फ एक ही चीज का इंतजार होता है, वह है सैलरी। एक वेतनभोगी व्यक्ति अपनी दैनिक गतिविधियों को चलाने के लिए अपने मासिक वेतन पर निर्भर रहता है। वह सैलरी के आधार पर ही अपने घर का बजट तैयार करता है लेकिन कुछ ऐसे भी होते हैं जो इसका प्रबंधन ठीक से नहीं करते हैं, और उन्हें फिर अफसोस के सिवा कुछ हासिल नहीं होता है। आज हम इस लेख में बताएंगे कि अगर आप वेतनभोगी हैं तो कैसे इन नियमों के जरिए अच्छे से अपने पैसा का प्रबंधन कर पाएंगे। जिससे आपके सामने कभी भी आर्थिक मुश्किलें नहीं आएंगी-

 #1) बजट बनानाः आपके कैश फ्लो को मैनेज करने की दिशा में पहला कदम है बजटिंग यानी कैश फ्लो प्लान। आपको अपनी वर्तमान वित्तीय स्थिति पर विचार करना चाहिए और फिर अपने सभी खर्चों को अलग-अलग चीजों में बांटना करना चाहिए। जैसे मनोरंजन, शिक्षा और अन्य जरूरी चीजें। इससे आपको अपने खर्च की प्राथमिकता तय करने में मदद मिलेगी। एक बजट अक्सर रोड मैप के रूप में कार्य करता है जो स्वस्थ नकदी प्रवाह प्रबंधन के लिए महत्वपूर्ण है।

#2) अपने पैसे के प्रवाह की जाँच करेंः क्रेडिट बनाम डेबिटः यह इस बात का माप है कि आपके पास क्या है बनाम क्या बकाया है। यह आपको अपनी आय और व्यय के बीच एक संबंध विकसित करने में मदद करेगा, जिसमें परिसंपत्तियों के निर्माण और देनदारियों को कम करने की आवश्यकतों पर बल दें।

#3) महत्वाकांक्षी लेकिन यथार्थवादी लक्ष्य निर्धारित करेंः अपने नकदी प्रवाह की योजना बनाते समय सबसे महत्वपूर्ण बात जो आपको करनी चाहिए वह है लक्ष्य निर्धारित करना। लक्ष्य निर्धारित करने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप जहां होना चाहते हैं उसे लिख लें। हमेशा ऐसे लक्ष्य निर्धारित करें जो निरंतर प्रदर्शन की मांग करें। लक्ष्य निर्धारित करने से पहले आपको निम्नलिखित कारकों पर विचार करना चाहिए।
• उम्र
• स्वास्थ्य
• आय
• अल्पकालिक दायित्व
• दीर्घकालिक दायित्व
• कोई अन्य वित्तीय प्रतिबद्धताएं।

#4) अपने सरप्लस को मैनेज करेंः अच्छे कैश फ्लो मैनेजमेंट का मतलब है कि आपकी अगली सैलरी क्रेडिट होने से पहले ही आपके पास सरप्लस पैसा बचा है। आपको न केवल नकदी प्रवाह का प्रबंधन करना चाहिए बल्कि यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि आप इस अधिशेष को कहीं निवेश कर रहे हैं। 

#5) वेतन मिलने के आसपास अपने मासिक खर्चों की संरचना करेंः आपको अपना वेतन प्राप्त करने के बाद दूसरे दिन किराए, नौकरानी, ​​​​मासिक किराने का सामान जैसे प्रकृति में तय किए गए खर्चों की संरचना करनी चाहिए। यह आपको उस पैसे से योजना बनाने में मदद करेगा

#6) अपने खर्चों को ट्रैक करेंः कितना पैसा बचाया गया और कितना पैसा कमाया गया है। आपको अपने खर्चों पर नजर रखने की जरूरत है। कभी-कभी छोटी खरीदारी जल्दी जुड़ जाती है जिससे यह बड़ी रकम बन जाती है। अगर ट्रैक नहीं करेंगे तो आप अक्सर अपने बजट से अधिक खर्च करते रहेंगे। 

#7) नए खर्चों के लिए प्रतिबद्धताः आपको कोई भी नया और अनावश्यक खर्च नहीं करना चाहिए, भले ही आपका वेतन आपको इसके लिए योग्य बनाता हो। कुछ लोग वास्तविक आवश्यकता के बिना अनावश्यक ऋण ले लेते हैं। जब तक आवश्यक न हो आपको किसी भी मासिक खर्च के लिए कदम नहीं उठाना चाहिए।

#8) क्रेडिट कार्ड के उपयोग को सीमित करेंः जब हमारे पास पैसे खत्म हो जाते हैं तो हम आसानी से क्रेडिट कार्ड पर स्विच कर लेते हैं। यह समझना आवश्यक है कि क्या हमें वास्तव में क्रेडिट कार्ड और सेवा से जुड़े ब्याज का भुगतान करने की आवश्यकता है? उन चीजों को खरीदने की आवश्यकता का मूल्यांकन करें जो अगले वेतन के मिलने तक मुश्किलें पैदा ना करें।

#9) यह एक प्रक्रिया हैः जैसे रोम एक दिन में नहीं बना था, और अच्छी चीजें इसके साथ जुड़ी हुई कीमत के साथ आती हैं, आपके नकदी प्रवाह का प्रबंधन एक प्रक्रिया है और यह धीरे-धीरे ट्रैक पर आ जाएगा। स्वस्थ वित्तीय आदतों का विकास करें। ये आदतें आपको अपने नकदी प्रवाह को बेहतर ढंग से प्रबंधित करने में मदद करेंगी।

#10) अपने पैसे का अधिकतम लाभ उठाएंः अपने पैसे का बुद्धिमानी से उपयोग करने का प्रयास करें। आप छूट, कूपन, बिक्री और ऑफ़र जैसे विकल्पों का पता लगा सकते हैं जिनका उपयोग खरीदारी करते समय किया जाना चाहिए। आपके पैसे पर अधिकतम रिटर्न आपका आदर्श वाक्य होना चाहिए।

#11) सलाह लेंः यदि आप किसी कारणवश अपने नकदी प्रवाह और निवेश का प्रबंधन करने में सक्षम नहीं हैं तो हमेशा यह सुझाव दिया जाता है कि आप एक वित्तीय सलाहकार से परामर्श लें। एक वित्तीय सलाहकार आपके लक्ष्यों को समझने और एक अच्छी वित्तीय योजना की रणनीति बनाने में मदद करेगा। किसी विशेषज्ञ से सलाह लेने से आपको अपने वित्तीय लक्ष्यों को आसानी से हासिल करने में मदद मिलेगी।

Web Title: manage your cash money in these 11 golden ways there will never be financial

कारोबार से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे