Industry exposes loopholes in Pesticide Management Bill, calls for greater security | उद्योग ने कीटनाशक प्रबंधन विधेयक में खामियों को उजागर किया, अधिक सुरक्षा मांगी
उद्योग ने कीटनाशक प्रबंधन विधेयक में खामियों को उजागर किया, अधिक सुरक्षा मांगी

नयी दिल्ली, 29 नवंबर कीटनाशक उद्योग के संगठन क्रॉप केयर फेडरेशन ऑफ इंडिया (सीसीएफआई) ने दावा किया कि कीटनाशक प्रबंधन विधेयक (पीएमबी) 2020 में एक दर्जन से अधिक कमियां हैं और प्रस्तावित कानून को संसद की चयन समिति के पास भेजना चाहिए।

सीसीएफआई ने कहा कि यदि 23 मार्च 2020 को राज्यसभा में पेश किए गए इस विधेयक को वर्तमान रूप में पारित किया गया, तो इसका भारतीय खेती और किसानों पर दूरगामी असर पड़ेगा।

यह विशेयक कीटनाशक अधिनियम, 1968 की जगह लेगा। नया विधेयक संसद के अगले सत्र में चर्चा के लिए आ सकता है।

सीसीएफआई के अध्यक्ष (तकनीकी समिति) अजीत कुमार ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘अपने वर्तमान रूप में पीएसबी एक बड़ी निराशा है, क्योंकि यह उद्योग की किसी भी अपेक्षा को पूरा नहीं करता है। बल्कि, इससे इंस्पेक्टर राज की वापसी होगी।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Industry exposes loopholes in Pesticide Management Bill, calls for greater security

कारोबार से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे