India and Britain agree to create three new bilateral work groups to overcome trade bottlenecks | भारत और ब्रिटेन व्यापार अड़चनों को दूर करने के लिये तीन नये द्विपक्षीय कार्य समूह बनाने पर सहमत
भारत और ब्रिटेन व्यापार अड़चनों को दूर करने के लिये तीन नये द्विपक्षीय कार्य समूह बनाने पर सहमत

Highlightsकारोबार बढ़ाने को लेकर बनाये गये इन तीन नये व्यावसायिक कार्य समूहों को ब्रिटेन-भारत व्यावसायिक परिषद द्वारा चलाया जायेगा। संयुक्त आर्थिक और व्यापार समिति का काम व्यापार में आड़े आने वाले गैर- शुल्कीय प्रतिबंधों की पहचान करना और उनका निदान तलाशना है।

लंदन, 15 जुलाईः भारत और ब्रिटेन ने खाद्य और पेय पदार्थों, स्वास्थ्य देखभाल और डेटा सेवाओं जैसे कुछ खास क्षेत्रों में व्यापार के रास्ते में आने वाली अड़चनों को दूर करने के लिये तीन नये द्विपक्षीय कार्य समूह बनाने पर सहमति जताई है। दोनों देशों की सोमवार को यहां हुई संयुक्त आर्थिक एवं व्यापार समिति की बैठक में यह सहमति बनी है। कारोबार बढ़ाने को लेकर बनाये गये इन तीन नये व्यावसायिक कार्य समूहों को ब्रिटेन-भारत व्यावसायिक परिषद द्वारा चलाया जायेगा।

इसके साथ भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) और भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग मंडल महासंघ (फिक्की) भी इस काम में उनके साथ होंगे। ब्रिटेन भारत व्यावसायिक परिषद के मुख्य परिचालन अधिकारी केविन मैक्कोले ने पीटीआई-भाषा के साथ बातचीत में कहा, ‘‘संयुक्त आर्थिक और व्यापार समिति इतनी महत्वपूर्ण क्यों है क्योंकि यह सरकार से सरकार के बीच द्विपक्षीय से आगे बढ़कर है और इसमें उद्योग जगत की सीधी संलिप्तता है।’’ उन्होंने कहा कि आज तीन नये द्विपक्षीय व्यावसायिक नेतृत्व वाले समूह बनाये गये हैं।

इनका मकसद क्षेत्र विशेष से जुड़े मुद्दों को गहराई से समझना है। उन्हें कारोबारी की नजर से देखना और फिर मंत्रियों को इस बारे में जरूरी सुझाव देना है। खाद्य और पेय पदार्थों, जीव विज्ञान और स्वास्थ्य देखभाल तथा डिजिटल और आंकड़े सेवाओं के क्षेत्र में किस प्रकार शेष रुकावटों को दूर किया जा सकता है इस बारे में सिफारिशें दी जायेंगीं। संयुक्त आर्थिक और व्यापार समिति का काम व्यापार में आड़े आने वाले गैर- शुल्कीय प्रतिबंधों की पहचान करना और उनका निदान तलाशना है।

Web Title: India and Britain agree to create three new bilateral work groups to overcome trade bottlenecks
कारोबार से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे