विदेशी मुद्रा भंडार वैश्विक झटकों से बचाएगा नहीं, प्रबंधन में मदद करेगा : सुब्बाराव

By भाषा | Published: October 13, 2021 10:03 PM2021-10-13T22:03:22+5:302021-10-13T22:03:22+5:30

Forex reserves will not protect against global shocks, will help in management: Subbarao | विदेशी मुद्रा भंडार वैश्विक झटकों से बचाएगा नहीं, प्रबंधन में मदद करेगा : सुब्बाराव

विदेशी मुद्रा भंडार वैश्विक झटकों से बचाएगा नहीं, प्रबंधन में मदद करेगा : सुब्बाराव

Next

मुंबई, 13 अक्टूबर भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर डी सुब्बाराव ने कहा है कि भारत का मजबूत विदेशी मुद्रा भंडार उसे किसी वैश्विक झटके से बचा नहीं सकेगा, लेकिन यह उसके बेहतर प्रबंधन में मदद करेगा।

क्रिसिल रेटिंग्स द्वारा आयोजित एक वेबिनार को संबोधित करते हुए सुब्बाराव ने बुधवार को कहा कि देश में यह गलत धारणा है कि मजबूत विदेशी मुद्रा भंडार से भारत वैश्विक झटकों से सुरक्षित रहेगा।

उन्होंने कहा, ‘‘हम वैश्विक झटकों से बचे नहीं रहेंगे। उनका असर यहां भी दिखेगा। हमारा विदेशी मुद्रा भंडार इन झटकों के प्रबंधन में मदद करेगा। विदेशी मुद्रा भंडार दबाव से बचाता नहीं है, यह दबाव के प्रबंधन में मदद करता है।’’

एक अक्टूबर, 2021 को देश का विदेशी मुद्रा भंडार 637.47 अरब डॉलर था।

उन्होंने कहा कि आधुनिक अर्थव्यवस्थाओं में जब भी मौद्रिक नीत को सामान्य किया जाएगा, यहां से पूंजी का प्रवाह होगा। रिजर्व बैंक उस समय विदेशी मुद्रा बाजार में हस्तक्षेप कर विनिमय दरों का प्रबंधन कर सकेगा।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Forex reserves will not protect against global shocks, will help in management: Subbarao

कारोबार से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे