Cochin Shipyard bid lowest for the Indian Navy for a contract of Rs 10,000 crore | कोचीन शिपयार्ड भारतीय नौसेना के लिये 10,000 करोड़ रुपये के अनुबंध के लिये सबसे कम की बोली लगायी
कोचीन शिपयार्ड भारतीय नौसेना के लिये 10,000 करोड़ रुपये के अनुबंध के लिये सबसे कम की बोली लगायी

नयी दिल्ली, 23 फरवरी कोचीन शिपयार्ड ने मंगलवार को कहा कि वह भारतीय नौसेना के 10,000 करोड़ रुपये के अनुबंध में सबसे कम की बोली लगाने वाली बोलीदाता रही है। यह अनुबंध अगली पीढ़ी के मिसाइल जहाज बनाने के लिये है।

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी भारतीय जहाज निर्माण और जहाज मरम्मत उद्योग में प्रमुख कंपनी के रूप में उभरी है जो भारत में बड़े से बड़े जहाजों का निर्माण और मरम्मत कर सकती है।

कोचीन शिपयार्ड लि. (सीएसएल) ने बीएसई को दी सूचना में कहा, ‘‘रक्षा मंत्रालय ने 23 फरवरी को हुई बैठक में सीएसएल को भारतीय नौसेना की निविदा में सबसे कम बोली लगाने वाली कंपनी के रूप में घोषित की है। यह निविदा अगली पीढ़ी के छह मिसाइल जहाज के निर्माण के लिये है।’’

कंपनी ने कहा कि इसका अनुमानित आर्डर मूल्य करीब 10,000 करोड़ रुपये है।

सीएसएल ने कहा कि अनुबंध की अंतिम घोषणा इस संदर्भ में जरूरी औपचारिकताएं पूरी करने पर निर्भर है। इसके बारे में उपयुक्त समय पर जानकारी दी जाएगी।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Cochin Shipyard bid lowest for the Indian Navy for a contract of Rs 10,000 crore

कारोबार से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे