Cabinet Committee clears strategic sale of govt equity in Dredging Corp | ड्रेजिंग कॉर्पोरेशन को बेचेगी मोदी सरकार, 100 फीसदी विनिवेश का कैबिनेट ने लिया फैसला
ड्रेजिंग कॉर्पोरेशन को बेचेगी मोदी सरकार, 100 फीसदी विनिवेश का कैबिनेट ने लिया फैसला

नरेन्द्र मोदी कैबिनेट ने  सरकार ने ड्रेजिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया के शत प्रतिशत शेयर किसी चुनिंदा कंपनी को बेचने के प्रस्ताव को मंजूरी दी। सरकार ने 100 प्रतिशत विनिवेश का फैसला लिया है। 

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारत और मोरक्को के बीच प्रत्यर्पण समझौते पर हस्ताक्षर करने और अनुमोदन को भी मंजूरी दे दी है, यह समझौता आर्थिक अपराधों, आतंकवाद और अन्य गंभीर अपराधों के आरोप में भगोड़ा अपराधियों के प्रत्यर्पण के लिए कानूनी आधार प्रदान करेगा।


वर्तमान में सरकार के ड्रेजिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (डीसीआईएल) में 73.44 प्रतिशत हिस्सेदारी है।

एक आधिकारिक ने ट्वीट में बताया है कि, "सीसीईए(CCEA) ने डीसीआईएल(DCIL) में भारत सरकार के 100 प्रतिशत सरकार के रणनीतिक विनिवेश के लिए 4 बंदरगाहों, अर्थात् विशाखापत्तनम पोर्ट ट्रस्ट, परदीप पोर्ट ट्रस्ट, जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट और कंदला पोर्ट ट्रस्ट के कंसोर्टियम के लिए सामरिक विनिवेश के लिए सिद्धांत रूप से मंजूरी दे दी है।"

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने इसके साथ ही आंध्र प्रदेश में केंद्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए केंद्रीय विश्वविद्यालय अधिनियम, 2009 में संशोधन को मंजूरी दे दी है।



 


Web Title: Cabinet Committee clears strategic sale of govt equity in Dredging Corp
कारोबार से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे