जावेद अख्तर ने हिंदुओं को बताया सबसे सहिष्णु बहुसंख्यक, बोले- भारत कभी अफगानिस्तान नहीं बन सकता

By वैशाली कुमारी | Published: September 15, 2021 12:12 PM2021-09-15T12:12:24+5:302021-09-15T12:36:47+5:30

अख्तर ने अपने लेख में कहा, 'हिंदू दुनिया में सबसे सभ्य और सहिष्णु बहुसंख्यक हैं । अख्तर ने कहा कि भारत कभी अफगानिस्तान नहीं बन सकता क्योंकि यह स्वाभाविक रूप से कट्टरपंथी नहीं है।

mumbai mumbai city Javed Akhtar clarified his statement, said Hinduism is the most tolerant | जावेद अख्तर ने हिंदुओं को बताया सबसे सहिष्णु बहुसंख्यक, बोले- भारत कभी अफगानिस्तान नहीं बन सकता

गीतकार जावेद अख्तर

Next
Highlightsहालांकि अख्तर ने सीएम उद्धव ठाकरे की जमकर तारीफ कीअख्तर ने नारा दिया और कहा "हिंदुत्व को तालिबान से जोड़ना हिंदू संस्कृति का अपमान है"

मुंबई: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की तालिबान के साथ कथित रूप से तुलना करने वाले गीतकार जावेद अख्तर की टिप्पणियों के लिए शिवसेना की उन्हें आलोचना का शिकार होना पड़ा था। अभी हाल ही में जावेद अख्तर ने शिवसेना के सामने एक बयान दिया है।

अख्तर ने अपने लेख में कहा, 'हिंदू दुनिया में सबसे सभ्य और सहिष्णु बहुसंख्यक हैं । अख्तर ने कहा कि भारत कभी अफगानिस्तान नहीं बन सकता क्योंकि यह स्वाभाविक रूप से कट्टरपंथी नहीं है। पिछले हफ्ते, शिवसेना ने 'सामना' में अपने संपादकीय में शीर्षक लिखा, "संघ के संबंध में मतभेद होंगे ... फिर भी ..."।

अख्तर ने नारा दिया और कहा "हिंदुत्व को तालिबान से जोड़ना हिंदू संस्कृति का अपमान है।" अख्तर ने लिखा कि “मेरे हाल के साक्षात्कार में, मैंने कहा था कि हिंदू दुनिया में सबसे सभ्य और सहिष्णु बहुसंख्यक हैं।  मैंने इस बात पर भी जोर दिया है कि भारत कभी भी अफगानिस्तान जैसा नहीं बन सकता क्योंकि भारतीय स्वभाव से चरमपंथी नहीं हैं। 

अख्तर ने कहा कि जो लोग उन पर निशाना साध रहे थे, वे गुस्से में थे क्योंकि उन्हें तालिबान की मानसिकता और हिंदू दक्षिणपंथी के बीच समानताएं मिलीं।  “जब तालिबान धर्म के आधार पर एक इस्लामी सरकार बना रहा है, हिंदू दक्षिणपंथी एक हिंदू राष्ट्र चाहता है।  तालिबान महिलाओं के अधिकारों पर अंकुश लगाना चाहता है।  यहां दक्षिणपंथियों ने भी स्पष्ट कर दिया है कि उन्हें महिलाओं की आजादी पसंद नहीं है।

हालांकि अख्तर ने सीएम उद्धव ठाकरे की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा, 'सबसे बुरे आलोचक भी उन पर (उद्धव ठाकरे) किसी भेदभाव या अन्याय का आरोप नहीं लगा सकते।  अख्तर ने कहा, यह मेरी समझ से परे है कि कोई कैसे और क्यों उद्धव ठाकरे की सरकार को 'तालिबानी' कह सकता है।

Web Title: mumbai mumbai city Javed Akhtar clarified his statement, said Hinduism is the most tolerant

बॉलीवुड चुस्की से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे