दिल्ली विधानसभा की शांति एवं सद्भाव समिति ने कंगना रनौत को भेजा समन, जानिए क्या है मामला

By अनिल शर्मा | Published: November 25, 2021 12:51 PM2021-11-25T12:51:22+5:302021-11-25T12:55:57+5:30

समिति की ओर से जारी एक बयान में बताया गया है कि कंगना द्वारा ‘इंस्टाग्राम’ पर की गई टिप्पणियों को कथित तौर पर आपत्तिजनक तथा अपमानजनक बताने वाली शिकायतों के आधार पर अभिनेत्री को नोटिस जारी कर छह दिसंबर को पेश होने को कहा गया है।

delhi assembly peace and harmony committee summons kangana ranaut | दिल्ली विधानसभा की शांति एवं सद्भाव समिति ने कंगना रनौत को भेजा समन, जानिए क्या है मामला

दिल्ली विधानसभा की शांति एवं सद्भाव समिति ने कंगना रनौत को भेजा समन, जानिए क्या है मामला

Next
Highlightsदिल्ली विधानसभा के पैनल ने घृणा फैलाने वाले पोस्ट के मामले में अभिनेत्री कंगना रनौत को तलब किया हैकंगना रनौत ने इंस्टाग्राम पर सिख समुदाय को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी

नयी दिल्लीः दिल्ली विधानसभा की शांति एवं सद्भाव समिति ने सोशल मीडिया पर कथित तौर पर घृणा फैलाने वाले पोस्ट के मामले में अभिनेत्री कंगना रनौत को तलब किया है। समिति के अध्यक्ष राघव चड्ढा ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

समिति की ओर से जारी एक बयान में बताया गया है कि कंगना द्वारा ‘इंस्टाग्राम’ पर की गई टिप्पणियों को कथित तौर पर आपत्तिजनक तथा अपमानजनक बताने वाली शिकायतों के आधार पर अभिनेत्री को नोटिस जारी कर छह दिसंबर को पेश होने को कहा गया है। शिकायतों में दावा किया गया है कि कंगना ने अपने कथित पोस्ट में सिख समुदाय को ‘‘खालिस्तानी आतंकवादी’’ बताया था।

मंगलवार को अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ मुंबई में सोशल मीडिया पर सिख समुदाय के खिलाफ कथित रूप से अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल करने के लिए प्राथमिकी दर्ज की गई थी।  बुधवार को कंगना ने एफआईआर पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर साझा की थी।

प्राथमिकी दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (DSGMC) के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा, दादर के श्री गुरु सिंह सभा गुरुद्वारा के अमरजीत सिंह संधू और सुप्रीम काउंसिल नवी मुंबई गुरुद्वारा के अध्यक्ष जसपाल सिंह सिद्धू ने दर्ज कराई थी। अमरजीत सिंह संधू ने अभिनेत्री पर अपने समुदाय के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने का आरोप लगाया।

पिछले हफ्ते, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा तीन विवादास्पद कृषि कानूनों को रद्द करने की घोषणा के बाद कंगना ने प्रतिक्रिया व्यक्त की थी। अभिनेत्री ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरीज पर एक इमेज-टेक्स्ट पोस्ट किया जिसमें उसने लिखा, "खालिस्तानी आतंकवादी आज सरकार को घुमा सकते हैं ... लेकिन एकमात्र महिला पीएम ने उन्हें अपने जूतों के नीचे कुचल दिया। ...उन्होंने अपनी जान की कीमत पर उन्हें मच्छरों की तरह कुचल दिया... लेकिन देश के टुकड़े नहीं होने दिया।

कंगना के खिलाफ दर्ज शिकायत में, DSGMC ने उल्लेख किया कि उन्होंने जानबूझकर किसानों के विरोध को "खालिस्तानी" आंदोलन के रूप में चित्रित किया और सिख समुदाय को "खालिस्तानी आतंकवादी" के रूप में भी लेबल किया। अभिनेत्री पर भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 295A (जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कार्य, किसी भी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को उसके धर्म या धार्मिक विश्वासों का अपमान करने का इरादा) के तहत मामला दर्ज किया गया था।

Web Title: delhi assembly peace and harmony committee summons kangana ranaut

बॉलीवुड चुस्की से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे