Pakistan enhances nuclear weapons | परमाणु हथियार बढ़ाता पाकिस्तान
इमरान खान की फाइल फोटो

-प्रमोद भार्गव
पाकिस्तान के परमाणु हथियारों पर नजर रखने वाले लेखकों के दल की हालिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के पास इस समय 140 से 150 परमाणु हथियार हैं। परमाणु अस्त्र-शस्त्र निर्माण की उसकी यही गति जारी रही तो 2025 तक इनकी संख्या बढ़कर 220 से 250 तक हो जाएगी। ऐसा होता है तो पाक दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा परमाणु हथियार संपन्न देश बन जाएगा।

अमेरिकी गुप्तचर संस्था सीआईए के पूर्व वरिष्ठ खुफिया अधिकारी केविन हलबर्ट की बात मानें तो पाकिस्तान दुनिया के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक देशों में से एक है। पाकिस्तान की यह खूंखार और डरावनी सूरत इसलिए बन गई है, क्योंकि तीन तरह के जोखिम इस देश में खतरनाक ढंग से बढ़ रहे हैं। एक आतंकवाद, दूसरे ढह रही अर्थव्यवस्था और तीसरे परमाणु हथियारों का जरूरत से ज्यादा भंडारण। आर्थिक संकट के ऐसे ही बदतर हालात से उत्तर कोरिया जूझ रहा है। दुनिया में ये दोनों देश ऐसे हैं, जो भारत और अमेरिका पर परमाणु हमले की धमकी दोहराते रहते हैं। 

पाकिस्तान दुनिया के लिए खतरनाक देश हो अथवा न हो, लेकिन भारत के लिए वह खतरनाक है, इसमें किसी को कोई संदेह नहीं है। दशकों से वह भारत पर हमला करने के लिए आतंकियों के इस्तेमाल को सही ठहराता रहा है। पाक भारत के खिलाफ छद्म युद्ध के लिए कट्टरपंथी अतिवादियों को खुला समर्थन दे रहा है। मुंबई और संसद पर हमले के दिमागी कौशल रखने वाले योजनाकार दाऊद और हाफिज सईद को पाक ने शरण दे रखी है। इसके अलावा वह सीमा पर युद्घ जारी रखे हुए है और कश्मीर में आतंकियों की घुसपैठ कराकर भारत की नाक में दम किए हुए है। यही नहीं भारत के खिलाफ आतंकी रणनीतियों को प्रोत्साहन व संरक्षण देने का काम पाक की गुप्तचर संस्था  और सेना भी कर रही है।  

दुनिया में परमाणु हमलों का खतरा केवल पाकिस्तान और उत्तर कोरिया की ही तरफ से नहीं है, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरून भी कह चुके हैं कि युद्ध की स्थिति में परमाणु विकल्प का बेखौफ इस्तेमाल करेंगे। भारत को आंख दिखाते हुए पाकिस्तान के पूर्व रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ भी कह चुके हैं कि उनके परमाणु हथियार महज  शोपीस नहीं हैं। पाकिस्तान के पास वास्तव में परमाणु हथियारों का जखीरा बढ़ रहा है तो यह भारत ही नहीं, दुनिया के लिए भी खतरनाक है।


Web Title: Pakistan enhances nuclear weapons
विश्व से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे