Ayaz Memon column: Sports activities intensified again amid coronavirus outbreak | अयाज मेमन का कॉलम: तेज हुईं खेल जगत की गतिविधियां
अयाज मेमन का कॉलम: तेज हुईं खेल जगत की गतिविधियां

तेज हुईं खेल जगत की गतिविधियां कोविड-19 महामारी के चलते पिछले मार्च माह से ठप पड़ी खेल गतिविधियों में हल्की-हल्की हलचल दिखाई देने लगी है. जर्मन फुटबॉल लीग 'बुंदेसलिगा' का आगाज शनिवार से हो चुका है. इसी तरह ऑस्ट्रेलियाई राष्ट्रीय रग्बी लीग 28 मई से प्रारंभ हो रही है. इसी के साथ अमेरिकी बास्केटबॉल (एनबीए) और बेसबॉल (एमएलबी) लीग को भी जल्द ही शुरू करने की कोशिशें जारी हैं. ये सारी खेल गतिविधियां बगैर दर्शकों की मौजूदगी में आयोजित होंगी. हां, इनका लुत्फ टीवी और डिजिटल मीडिया के जरिए जरूर उठा पाएंगे. 

जब तक कोविड-19 की वैक्सीन नहीं बनाई जाती, तब तक इसी तरह के मुकाबले आयोजित किए जाएंगे. मेडिकल क्षेत्र के दिग्गजों के अनुसार इसके लिए कम से कम एक साल तक इंतजार करना पड़ेगा. दर्शकों की स्टेडियम में मौजूदगी खिलाडि़यों के लिए प्रेरणस्रोत होती है. लेकिन अब बगैर दर्शकों के खिलाडि़यों को अपना सौ फीसद देना होगा. खाली स्टेडियम में खिलाडि़यों को खेलते देखना दर्शकों के लिए नया अनुभव होगा. अब देखना है कि यह उन्हें कितना पसंद आता है. 

हालांकि रोज नई-नई तकनीक विकसित हो रही है. ऐसे में स्टेडियम में दर्शकों की मौजूदगी को दिखाना भी संभव हो जाएगा. इससे खिलाडि़यों को दर्शकों की मौजूदगी में खेलते देखने का अनुभव मिलेगा. इसे कोविड-19 के उपरांत बनने वाली तस्वीर का ट्रेलर जरूर माना जा सकता है.

मैंने अपने ट्विटर एकाउंट पर इस संदर्भ में एक ट्रायल लिया. इसमें मैंने खाली स्टेडियम में मुकाबले कराए जाने को लेकर सवाल किए. इसके लिए चार ऑप्शन्स दिए. इनमें 1. हां, हम दोबारा मुकाबले देखना चाहते हैं. 2. माफ कीजिए, मैं ऐसा नहीं कर सकता. 3. किसी भी तरह मुकाबले खेले जाने चाहिए. 4. मैं इंतजार के बाद तय करूंगा.

खास बात यह रही कि 648 में से 58 प्रतिशत लोगों ने पहले विकल्प को पसंद किया. इससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि लोग किस बेसब्री से मुकाबलों का इंतजार कर रहे हैं. मेरे बचपन में बुंदेसालिग का आयोजन नहीं हुआ था. अब देखना है कि आगामी सप्ताहों में होने वाली खेल स्पर्धाओं को दर्शकों से कैसा रिस्पांस मिलता है. इस बीच, भारतीय क्रिकेट प्रेमियों के साथ दुनिया के क्रिकेट के दर्दी आईपीएल को लेकर जानकारी चाहते हैं. उनके दिमाग में तरह-तरह के सवाल पैदा हो रहे हैं. क्या इस साल यह संभव हो पाएगा? या इसके बजाय टी-20 विश्व कप का आयोजन किया जाएगा? 

हालांकि मेरे पास इसका कोई जवाब नहीं है. लेकिन रवि शास्त्री ने एक खास मुलाकात में कहा है कि आगामी सत्र में किसी बड़ी अतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्पर्धा के बजाय स्थानीय अथवा द्विपक्षीय सीरीज पर ज्यादा बल दिया जाएगा. चूंकि आईपीएल स्थानीय स्पर्धा होने के कारण इस पर सभी की निगाहें टिकी हुई हैं.

आईसीसी ने दो मई को आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंस में आगामी चार महत्वपूर्ण स्पर्धा के आयोजन पर चर्चा की. इनमें कोविड-19 के प्रभाव में टी-20 विश्व कप के आयोजन पर चर्चा हुई. लेकिन सभी का मानना था कि इसे 2022 तक इसे स्थगित करने की बात कही. इसमें क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने भी सहमति जताए जाने की चर्चा है. अगले दस दिन क्रीड़ा प्रशिक्षकों के लिए बड़ी परेशानी वाले हो सकते हैं.

Web Title: Ayaz Memon column: Sports activities intensified again amid coronavirus outbreak
अन्य खेल से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे