Hurry Up Yogi ji! You have to change these 12 names before lok sabha elections | रफ्तार बढ़ाइए योगी जी! 6 महीने के अंदर बदलने हैं यूपी के इन 12 जिलों के नाम
योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

करीब पांच साल पहले बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने विकास का वादा किया था और गुजरात मॉडल के सपने दिखाए थे। पिछले साढ़े चार साल के कार्यकाल में वो विकास करने में कितना सफल रहे ये तो समीक्षा का विषय हो सकता है लेकिन इस बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विकास का गोरखपुर मॉडल लॉन्च कर दिया है। उनके मॉडल पर चलकर विकास होना शर्तिया है। 

इलाहाबाद और फैजाबाद  प्रयागराज और अयोध्या बनकर पूरी तरह विकसित हो गए हैं। दरअसल, सीएम योगी का तर्क है कि मुगलों ने अतिक्रमण करके भारत की तमाम जगहों के नाम बदल दिए। उन्हें वापस पुराना गौरव दिलाने के लिए शहरों के नाम की 'घरवापसी' जरूरी है।

योगी आदित्यनाथ मुगलों से जुड़े नाम बदलने को लेकर भले ही जल्दबाजी दिखा रहे हों लेकिन उनकी रफ्तार अपेक्षा के अनुरूप नहीं है। आगामी लोकसभा चुनाव में 6 महीने से कम वक्त बचा है और उत्तर प्रदेश के 71 जिलों में इलाहाबाद-फैजाबाद के अलावा भी 12 जिले बचे हैं जिनके नाम मुगलिया सत्ता की महक आती है।

'आपत्तिजनक' नामों वाले जिले

हमने यूपी के ऐसे जिलों की सूची निकाली है जिनके नामों से योगी सरकार को आपत्ति हो सकती है। इनके नाम हैं- इलाहाबाद, मुरादाबाद, गाजियाबाद, आजमगढ़, मुजफ्फरनगर, सुल्तानपुर, अलीगढ़, गाज़ीपुर, शाहजहांपुर, फिरोजाबाद, मिर्जापुर, फैजाबाद, फर्रुखाबाद और हमीरपुर।

इनमें इलाहाबाद को प्रयागराज और फैजाबाद को अयोध्या किया जा चुका है। अभी भी 12 जिलों के नाम बदलने शेष हैं। इसके अलावा भी मुगलिया खुशबू समेटे कई शहर, कस्बे और गांव भी हैं। यूपी के अगले विधानसभा चुनावों तक उनका भी नंबर लग ही जाएगा!


Web Title: Hurry Up Yogi ji! You have to change these 12 names before lok sabha elections
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे