Uttar Pradeshs Unnao three men molest women, video went viral | देश की डरी हुई लड़की बोल रही हूं, ये 'वायरल' शब्द मुझे हजम नहीं हो रहा

15 अगस्त, 1995... भारत में पहली बार इंटरनेट सेवा को लॉन्च किया गया। उस समय भारतीय सरकार से लेकर देशभर के सभी नौजवानों को कितना फक्र महसूस हुआ होगा। 9 सालों के बाद वर्ष 2004 में भारत में फेसबुक और अगले साल यानी 2005 में यूट्यूब भी आ गया। धीरे-धीरे इंटरनेट और उसपर मौजूद इतनी सेवाओं को पाकर हमारा देश तरक्की की रेस में विदेशी देशों को टक्कर देने में सक्षम हो रहा है। लेकिन इन बातों पर गर्व होने की बजाय आज मुझे दुःख हो रहा है। और शायद ये दुःख देश की हर लड़की को महसूस करना चाहिए। इंटरनेट की इतने सालों से बढ़ती हुई मांग ने 'वायरल' शब्द को जन्म दिया है। 
इंटरनेट पर कोई फोटो या विडियो आती है और अलग-अलग सोशल मीडिया प्लेटफार्म से ये चीजें मिनटों में वायरल हो जाती हैं। अब ये चीजें किसके लिए अच्छी हैं और किसके लिए नहीं, इससे इन्हें वायरल करने वाले को कोई मतलब नहीं होता है। वो तो बस इस विराल नाम के शैतानी शब्द से कुछ ना कुछ पाना चाहता है। उसका मकसद कुछ भी हो, वह तो बस वायरल होना चाहता है। लेकिन इस वायरल एक शब्द ने आज देश की महिलाओं के लिए असुरक्षा और भी बढ़ा दी है।

बीते शुक्रवार यानी 6 जुलाई की बात है, इंटरनेट पर अचानक एक विडियो वायरल हो गई। विडियो शर्मनाक थी। विडियो में कुछ दरिंदे एक महिला को घसीटते हुए ले जंगल की ओर ले जा रहे थे और उसके साथ दुष्कर्म करने की कोशिश करते हुए दिखे। विडियो उत्तर प्रदेश के उन्नाव इलाके का बताया गया है। इस सुनसान जंगल में उस महिला की 'भैया, भैया' की चीखें गूँज रहीं थी। वो बार-बार उन्हें बस इतना ही कह रही थी कि 'भैया, ये सब मत कीजिये', लेकिन वो दरिंदे कहां उसकी सुनने वाले थे। 

महिला बार-बार उन लड़कों से अपनी इज्जत की मांग कर रही थी, लेकिन उन तीनों हैवानों ने उसकी एक ना सुनी। लड़के विडियो में महिला की इज्जत के साथ खिलवाड़ करते हुए और जुसे अपशब्द बोलते हुए दिख रहे हैं। इतना भी कह रहे हैं कि हम विडियो बनाकर इसे वायरल करेंगे। 

कहा जा रहा है कि ये विडियो 2 महीने पुराना है लेकिन हाल ही में इसे इंटरनेट पर डालकर वायरल करें की कोशिश की गई। पुलिस ने इस मामले में आकाश नाम के एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। और बाकी दो आरोपियों की तलाश जारी है। विडियो के सामने आने और एक आरोपी के गिरफ्तार होने के बाद से इलाके में हड़कंप मच गया है। जिस वजह से आसपास की महिलाएं खुद को असुरक्षित महसूस कर रही हैं। 

इस तरह की विडियो और खबरें सुनने के बाद हैरानी तो होती ही है, साथ ही दुःख भी होता है। आखिर क्यों महिलाएं ही हर बात का शिकार होती हैं? ना वे घर पर सुरक्षित हैं और ना ही बाहर। विडियो में जिस महिला के साथ लड़कों ने बेशर्मी की वह अपने घर पर थी। उसे घर से घसीटकर जंगल तक लाया गया। उसके घर के आसपास के पड़ोसियों ने उसकी मदद तक नहीं की। लेकिन इन तीन लड़कों की मदद बहुत लोगों नी की। इस विडियो को धड़ल्ले से इंटरनेट पर शेयर किया गया। लोग तरह-तरह की बातें तो कर रहे हैं लेकिन उन तीन लड़कों का वायरल होने का मकसद भी पूरा हुआ इस शब्द के नाम पर आज देश की महिलाएं अपनी इज्जत को बलि पर भी चढ़ा रही हैं।