Ayaz Memon Column: IPL has been in constant limelight | अयाज मेमन का कॉलम: लगातार सुर्खियों में बना हुआ है आईपीएल
अयाज मेमन का कॉलम: लगातार सुर्खियों में बना हुआ है आईपीएल

सत्र में आईपीएल होगा और आईसीसी का अगला चेयमैन कौन होगा? इस सप्ताह ये दोनों मुद्दे चर्चा में रहे। मजे की बात ये है कि ये दोनो चीजें भारतीय क्रिकेट से जुड़ी हुई हैं। कोविड-19 के चलते आईपीएल अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो चुके हैं। लेकिन फिर भी इसके आयोजन को लेकर चर्चा जारी है।

अप्रैल और मई में होने वाली इस क्रिकेट लीग का आयोजन मुश्किल ही है। लेकिन खिलाड़ी, प्रबंधन और जानकार इसके आयोजन को लेकर सकारात्मक हैं। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन और माइकल आथर्टन ने अपने कॉलम में आईपीएल की चर्चा की।

आईपीएल के आयोजन के लिए बीसीसीआई ने पर्दे के पीछे की गतिविधियां जारी रखी हैं। हाल के दिनों में इसको लेकर काफी सकारात्कम खबरें भी बाहर आईं। भारत में ही इसे कराए जाने की कोशिश है। लेकिन मामला अगर-मगर में अटका है। स्थितियां बेहतर नहीं होने पर वर्ष 2009 और 2014 की तरह इसे बाहर कराए जाने का प्रयास भी हो सकता है। 

कुछ लोग तो  टी20 विश्व कर से ज्यादा तरजीह आईपीएल को दे रहे हैं। यदि आईपीएल रद्द होता है तो करीबन तीन से साढ़े तीन हजार करोड़ रुपये का नुकसान होने का अंदाज है। बीसीसीआई के लिए यह बड़ा झटका होगा। साथ ही इसका खामियाजा अन्य देशों को भी भुगतना पड़ सकता है।

हालांकि कुछ लोग इसके खिलाफ भी हैं, जैसे पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान एलन बॉर्डर। बॉर्डर ने इसे धन कमाने का धंधा करार दिया है। हालांकि साढ़े तीन हजार करोड़ का झटका छोट नहीं है। टी20 विश्व कप को स्थगित करने पर नुकसान कम होगा। ऑस्ट्रेलिया में दर्शकों के स्टेडियम में प्रवेश करने की संभावना नहीं के बराबर है। इस वर्ष टी20 विश्व कप होने पर रिस्पांस कम ही मिलेगा। इससे बेहतर तो इसे वर्ष 2022 तक स्थगित करने का फैसला योग्य होगा। ऐसा यदि होने पर आईपीएल के आयोजन की संभावना बढ़ जाएगी। 

दूसरी बात क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका के क्रिकेट निदेशक और पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ ने सौरव गांगुली को आईसीसी चेयरमैन बनाने की वकालत की है। शशांक मनोहर का कार्यकाल जुलाई में समाप्त हो रहा है। हालांकि स्मिथ के बयान को क्रिकेट द. अफ्रीका के अध्यक्ष क्रिस नेजानी ने व्यक्तिगत करार दिया है। लेकिन साथ ही उन्होंने भारत के साथ मजबूत संबंध बनाने पर बल दिया है। हालांकि सचाई यह है कि गांगुली आईसीसी में काम करने को लेकर इच्छुक नहीं बताए जाते हैं। बीसीसीआई ने गांगुली के चेयरमैन के रूप में कार्यकाल बढ़ाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है. जाहिर है कि सभी की निगाहें इसी मामले पर होंगी।

Web Title: Ayaz Memon Column: IPL has been in constant limelight
क्रिकेट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे