22 BWF tournaments in five months, Leave Saina, Kashyap, praneeth and other players shocked | BWF की पांच महीने में 22 टूर्नामेंट कराने की योजना, साइना नेहवाल समेत स्टार खिलाड़ियों ने करार दिया 'मूखर्तापूर्ण'
साइना ने नेहवाल ने 5 महीने में 22 टूर्नामेंट आयोजित करने के फैसले की आलोचना की (File Photo)

Highlightsअगस्त से दिसंबर तक पांच महने में 22 टूर्नामेंट, लगातार पांच महीने की यात्रा: साइना नेहवालकिसी भी खिलाड़ी के लिए पांच महीने में 22 प्रतियोगिताओं में खेलना काफी मुश्किल चुनौती है: पी कश्यप

नई दिल्ली: ओलंपिक पदक विजेता साइना नेहवाल सहित भारत के कई खिलाड़ियों बीडब्ल्यूएफ (विश्व बैडमिंटन संघ) के संशोधित कैलेंडर में पांच महीनों में 22 टूर्नामेंट करने के फैसले को शुक्रवार को ‘मूर्खतापूर्ण’ करार देते हुए कहा कि इससे उनके चोटिल होने की संभावना बढ़ जाएगी। कोविड-19 महामारी के कारण बैमिंटन की कई टूर्नामेंटों को स्थगित करना पड़ा जिसके बाद बीडब्ल्यूएफ ने नया कैलेंडर जारी किया।

बैडमिंटन खिलाड़ी पारूपल्ली कश्यप ने कहा, ‘‘किसी भी खिलाड़ी के लिए पांच महीने में 22 प्रतियोगिताओं में खेलना काफी मुश्किल चुनौती है। अभी इस बात पर भी संशय बरकरार है कि पृथकवास का नियम कैसा होगा। अभी अंतरराष्ट्रीय यात्रा पर प्रतिबंध है ऐसे में उन्होंने यह कैलेंडर कैसे तैयार किया यह समझ से परे है। हम सभी खेल शुरू करना चाहते हैं लेकिन अभी कई सवाल है जिसके जवाब नहीं मिले है। हमने अभी अभ्यास भी शुरु नहीं किया है।’’

साइना ने 5 महीने में 22 टूर्नामेंट के आयोजन पर उठाया सवाल

लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना नेहवाल ने भी ट्विटर के जरिये इस पर संदेह व्यक्त किया।  उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘अगस्त से दिसंबर तक पांच महने में 22 टूर्नामेंट। लगातार पांच महीने की यात्रा। सबसे बड़ा सवाल यह है कि कोरोना वायरस महामारी के समय अंतरराष्ट्रीय यात्रा के लिए क्या दिशा-निर्देश होंगे।’’

उन्होंने इस बात पर आश्चर्य जताया कि इस वैश्विक संकट के कारण जब टेनिस और दूसरे खेलों ने अपने कैलेंडर घोषित नहीं किये तो बीडब्ल्यूएफ ने इसे कैसे तैयार किया। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘अक्टूबर तक के लिए टेनिस के किसी प्रतियोगिता की घोषणा नहीं हुई है।’’

टोक्यो ओलंपिक के लिए टिकट हासिल करने के करीब पहुंच चुके बी. साई प्रणीत भी नये कार्यक्रम से खुश नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘खिलाड़ियों से पांच महीनों में 22 टूर्नामेंट खेलने की उम्मीद करना बेवकूफी है। वे खिलाड़ियों के बारे में नहीं सोच रहे हैं। बीडब्ल्यूएफ अध्यक्ष एक ओलंपिक चैंपियन है, इसलिए उन्हें सोचना चाहिए था कि खिलाड़ी सप्ताह दर सप्ताह कैसे खेलेंगे।’’

विश्व चैम्पियनशिप के कांस्य पदक विजेता ने कहा, ‘‘ फिट खिलाड़ी भी इतने सारे टूर्नामेंट नहीं खेल सकते। वे निश्चित तौर पर चोटिल होंगे। मुझे बीडब्ल्यूएफ से यह उम्मीद नहीं थी।’’

युगल खिलाड़ी चिराग सेट्टी ने भी इसकी आलोचना की। उन्होने कहा, ‘‘ सैयद मोदी और इंडोनेशिया सुपर 1000 दोनो एक ही सप्ताह में है। ऐसे में हम अपने घर में खेलने से चूक सकते है क्योंकि हमारे लिए सुपर 1000 टूर्नामेंट का ज्यादा महत्व है।’’ 

Web Title: 22 BWF tournaments in five months, Leave Saina, Kashyap, praneeth and other players shocked
बैडमिंटन से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे